सिवनी से २५६७ ने सीएम हेल्पलाइन में दर्ज कराई शिकायत, १२६२ मामले पहुंचे एल-४ में

लोगों को सबसे अधिक बैंक से शिकायत

By: Akhilesh Tripathi

Published: 10 Nov 2017, 11:36 AM IST

अखिलेश ठाकुर सिवनी. मुख्यमंत्री हेल्पलाइन में जिले के २५६७ लोगों ने शिकायत दर्ज कराई है। करीब ५० फीसदी शिकायतकर्ताओं का मामला एल-४ में पहुंंच गया है। कलेक्टर गोपालचंद्र डाड के लगातार निर्देशों के बावजूद शिकायतों का जिलास्तर पर निकाराण नहीं हो पाना अच्छे संकेत नहीं हैं। उक्त आकड़े मंगलवार को दोपहर २.१० बजे तक के हैं।
जिले के लोगों को सबसे अधिक शिकायत बैंक से है। शिकायत करने वाले ४८७ लोगों में सबसे अधिक किसान है। उनकी शिकायत फसल बीमा से संबंधित है। ३७९ मामले एल-४ में है। ऊर्जा विभाग में २९१ लोगों ने शिकायत दर्ज कराई है। ७३ लोगों के मामले एल-४ तक पहुंच गए हैं। इसमें बिल में गड़बड़ी, बिजली गुल होने, कनेक्शन देने में लापरवाही आदि के मामले अधिक है।

पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग में शौचालय बनने के बाद राशि नहीं मिलने सहित अन्य १८४ शिकायत हुई है। इसमें १०४ एल-४ में पहुंच गए हैं। मनरेगा में हुई १६२ शिकायतों में १२४ मामले एल-४ में पहुंचे हैं। इनमें सबसे अधिक मजदूरी भुगातन से संबंधित है।

पुलिस के ९६ मामलों में केवल एक एल-४ में पहुंचा है। अनुसूचित जाति कल्याण विभाग व आदिम जाति कल्याण विभाग में ६३ लोगों ने शिकायत दर्ज कराई है। २५ का मामला एल-४ में पहुंचा है। इसमें अतिथि शिक्षक भर्ती, छात्रावास, अनुकम्पा नियुक्ति आदि का मामला है। जिले के करीब ३३ विभाग ऐसे हैं, जिनमें शिकायतकर्ता दहाई की संख्या पार नहीं कर पाएं हैं।

 

संस्था का नाम - शिकायत की संख्या
- लीड बैंक व संस्थागत वित्त - ४८७ (एल-४ में ३७९)
- ऊर्जा विभाग - २९१ (एल-४ में ७३)
- राजस्व विभाग - २३८ (एल-४ में ८७)
- स्वच्छ भारत मिशन (पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग) - १८४ (एल-४ में १०४)
- मनरेगा - १६२ (एल-४ में १२४)
- पंचायतीराज - ११८ (एल-४ में ११)
- राज्य शिक्षा केन्द्र - १०२ (एल-४ में ७६)
- पुलिस - ९६ - (एल-४ में १)
- वन विभाग - ८० (एल-४ में ४५)
- सामाजिक न्याय एवं निशक्त कल्याण विभाग - ७५ (एल-४ में ४६)
- लोक शिक्षण - ६८ (एल-४ में ३८)
- नगर पालिका - ६८ (एल-४ में ४०)
- अनुसूचित जाति कल्याण विभाग व आदिम जाति कल्याण विभाग - ६३ - (एल-४ में २५)
- खाद्य आपूर्ति विभाग - ५१ (एल-४ में १)
(नोट - यह आकड़ा सात नवंबर को दोपहर २.१० बजे तक के हैं।)

Akhilesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned