स्कूल बसों के मापदण्ड तय करेगी कमेटी, जारी हुए निर्देश

स्कूल बसों के मापदण्ड तय करेगी कमेटी, जारी हुए निर्देश

Sunil Vandewar | Publish: Apr, 05 2018 12:50:12 PM (IST) Seoni, Madhya Pradesh, India

संस्था स्तर पर कमेटी बनाने कलेक्टर को निर्देश जारी

सिवनी. स्कूली बच्चों के परिवहन में लगे स्कूल बस व अन्य वाहन में सुरक्षा और संसाधनों की उपलब्धता के साथ ही नियमों से संचालन के लिए कमेटी गठित की जाएगी। स्कूल शिक्षा विभाग ने स्कूली बच्चों के परिवहन में उपयोग में आने वाले वाहनों के मापदण्ड के अनुरूप संचालन में पालकों की सहभागिता सुनिश्चित करने के लिए संस्था स्तर पर समिति गठित करने के निर्देश दिए हैं। इस संबंध में कलेक्टर को पत्र जारी कर विस्तृत निर्देश दिए गए हैं।

शैक्षणिक संस्था में स्कूल वाहन के संचालन के लिए गठित समिति के संयोजक संस्था के प्राचार्य होंगे। समिति में जिला शिक्षाधिकारी अथवा उनके नामांकित प्रतिनिधि को सदस्य बनाया गया है। यह नामांकित व्यक्ति व्याख्याता स्तर से नीचे का नहीं होगा। समिति में क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी अथवा उनके द्वारा परिवहन निरीक्षक स्तर का नामांकित प्रतिनिधि सदस्य के रूप में मनोनीत किया जाएगा। इसके अलावा, समिति में अनुविभागीय अधिकारी पुलिस और प्रत्येक कक्षा के प्रत्येक सेक्शन से न्यूनतम एक पालक को भी सदस्य के रूप में शामिल किया गया है।
समिति की बैठक कम से कम 3 माह में एक बार अनिवार्य रूप से आयोजित करने के निर्देश दिए गए हैं। स्कूल शिक्षा विभाग ने स्पष्ट किया है कि स्कूल बसों के संचालन के सम्बंध में मान्यता नियम का पालन न करने पर शालाओं की मान्यता निरस्त करने की कार्रवाई तत्काल की जाए। इसके साथ ही सीबीएसई, आईसीएसई अथवा अन्य बोर्ड से संबंधित शालाओं की संबद्धता के लिए राज्य शासन द्वारा जारी किए गए अनापत्ति प्रमाण-पत्र को भी निरस्त करने की कार्रवाई की जाएगी।
निर्देशों में कहा गया है कि यह समिति स्कूली बसों की जानकारी भी संधारित करेगी। जो वाहन बच्चों के परिवहन के लिए लगे हैं, उनके मानकों और गुणवत्ता के बारे में भी समिति जानकारी रखेगी। इसके अलावा, वाहनों में बच्चों की अधिकतम संख्या, स्कूल वाहन के परिसर के अंदर तक आने की व्यवस्था और सीट बेल्ट सहित अन्य सुरक्षा मानकों आदि की व्यवस्था के बारे में भी समिति जानकारी देगी।
स्कूल शिक्षा विभाग ने निर्देशों में कहा है कि वाहन चालकों के ड्रायविंग टेस्ट और प्रशिक्षण के संबंध में भी जिले में अभियान चलाया जाए। पुलिस अधीक्षक से अपेक्षा की गई है कि वे जिले में स्कूल वाहनों के निरीक्षण के संबंध में नियमित रूप से प्रभावी कार्रवाई करते रहें।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned