नदी-नालों पर जिला प्रशासन की टीम अलर्ट

नदी-नालों पर जिला प्रशासन की टीम अलर्ट
नदी-नालों पर जिला प्रशासन की टीम अलर्ट

Santosh Dubey | Updated: 13 Sep 2019, 12:47:32 PM (IST) Seoni, Seoni, Madhya Pradesh, India

भोपाल नाव हादसे के बाद सभी जगहों पर बढ़ी चौकसी

सिवनी. जिले भर में गुरुवार से गणेश प्रतिमाओं का विसर्जन लगातार जारी है। वहीं लगातार हो रही बारिश के चलते नदी-नाले उफान पर हैं। वहीं विसर्जन करने पहुंच रहे लोगों की सुरक्षा के मद्देनजर जगह-जगह पुलिस और प्रशासन के लोग मुस्तैदी से नदी तट पर मौजूद हैं। गोताखोर की टीम को भी विशेष रूप से सजग रहने निर्देश दिए गए हैं।
भोपाल में हुए नाव हादसे में नाव पलटने से लगभग एक दर्जन लोगों के पानी से डूबने की खबर मिलने के बाद से जिला प्रशासन अलर्ट हो गया है। भोपाल के छोटे तालाब स्थित खटलापुर मंदिर घाट पर शुक्रवार की सुबह गणेश विसर्जन करने में गए लोगों नाव पलट गई। हादसे में लगभग एक दर्जन लोगों के मरने की खबर है। वहीं जिले के वैनगंगा नदी, सागर नदी, नर्मदा नदी समेत अनेक मुख्य नदियों व अन्य नदी-नालों पर विसर्जन करने पहुंच रहे लोगों की सुरक्षा के लिए जिला प्रशासन ने पुलिस बल तैनात कर दी है। सभी थाने और चौकियों से पुलिस कर्मी विसर्जन स्थानों पर मौजूद है।
कार सवार दो युवकों के डूबने से हुई थी मौत
गणेश उत्सव पर्व के चलते तथा जिले भर में हो रही मूसलाधार बारिश के दौरान 8 सितम्बर की रात्रि मुंगवानी से सिवनी कार से आते समय युवकों की कार वैनगंगा नदी के पुल के ऊपर से पानी के बहाव में बह गई। जहां 9 सितम्बर को दोनों युवकों के शव नदी किनारे मक्के के खेत में मिले थे। मृतकों में एक भाजयुमो का जिलाध्यक्ष शामिल था।
नर्मदा नदी में नाव पलटने से पांच की हुई थी जलसमाधी
विकासखण्ड घंसौर के किंदरई थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम पंचायत धूमामाल के ग्राम बखारी में आयोजित शादी समारोह के सम्पन्न होने के बाद वापस घर नर्मदा नदी पार कर नाव में सवार होकर लौट रहे लोगों की नाव 20 जून को पलट गई थी। नाव में क्षमता से अधिक 14 लोग सवार थे। नाव डूबने से नौ लोगों की जान तो बच गई थी लेकिन अन्य चार महिलाएं व एक सात साल के बालक डूबने से सभी पांचों की मौत हो गई थी। मृतकों में बुद्धोबाई पति महेन्द्र सिंह मरावी (40) निवासी ग्राम घोटखेड़ा थाना टिकरिया मंडला, धनियाबाई पति कल्लू सिंह मरावी निवासी घोटखेड़ा (45), कलावती पति जयसिंह (35) निवासी ग्राम दगला थाना बीजाडांडी (मंडला), लालती पति नरेश गोंड निवासी दगला, देवराज पिता नरेश गोंड (7) निवासी दगला शामिल थे।
कलेक्टर प्रवीण सिंह एवं पुलिस अधीक्षक कुमार प्रतीक द्वारा लगातार नदी-नालों के तट समेत जलभराव ग्रामों का निरीक्षण किया जा रहा है। त्वरित राहत व्यवस्था के लिए होमगार्ड विभाग के राहत दल की नियुक्ति आवश्यक सामग्री जैसे वाटर वोट, टॉर्च, बैटरी आदि के साथ की गई है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned