किसानों से धोखा नहीं करेंगे बर्दाश्त, अफसरों को अल्टीमेटम

-जिले के किसानों को मिला पेंच के पानी का भरोसा

By: sunil vanderwar

Published: 11 Sep 2017, 08:59 PM IST

 सिवनी. आने वाले दिनों में रबी फसल के लिए किसानों को पेंच नहर से प्रदाय होने वाले पानी में कोई कमी नहीं होगी। किसानों में इसको लेकर चिंता करने की आवश्यकता नहीं है। यह बात पूर्व विधायक व महाकौशल विकास प्राधिकरण के पूर्व अध्यक्ष नरेश दिवाकर द्वारा कही गई है। उन्होंने बताया कि सिंचाई विभाग के उच्च अधिकारियों से उनकी चर्चा हुई है। अधिकारियों ने पेंच का पानी किसानों को दिए जाने के लिए आश्वस्त किया है। वहीं अधिकारियों को दो-टूक कहा गया है कि किसानों से धोखा न किया जाए। अन्यथा किसान सड़क पर आने को मजबूर होंगे।
दिवाकर ने बताया कि पिछले दिनों पेंच सिंचाई परियोजना से लाभान्वित होने वाले किसानों के एक प्रतिनिधिमंडल ने उन्हें अवगत कराया था कि पेंच नहरों के माध्यम से इन दिनों भीमगढ़ बांध में पानी भरा जा रहा है। साथ ही यह चर्चा है कि यह पूरा पानी बालाघाट जिले को भेजा जाएगा। किसानों की इन चिंताओं पर दिवाकर ने सिंचाई विभाग के उच्च अधिकारियों से चर्चा कर इसके बारे में जानकारी मांगी।
इस पर संबंधित अधिकारियों द्वारा बताया गया कि वर्तमान में माचागोरा डैम से पेंच डायवर्सन नहर के माध्यम से छोड़ा जा रहा है। यह पानी सिवनी जिले में वर्षा से प्रभावित गिरते जलस्तर को बढ़ाने एवं भीमगढ़ जलाशय में अपर्याप्त जलभराव को पूरा करेगा। यह पानी भी माचागोरा डैम के अतिरिक्त जल भराव में से ही छोड़ा जा रहा है। इसलिए रवि फसल के लिए किसानों को मिलने वाले पानी की मात्रा में कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा। साथ ही इस पानी को भीमगढ़ जलाशय में भरकर बालाघाट जिले को दिए जाने की बात गलत है। जिले के किसानो को इस से चिंतित होने की आवश्यकता नहीं है।
दिवाकर ने किसानों को बताया कि उनके द्वारा अधिकारियों से चर्चा में चेतावनी देते कहा जा चुका है कि उनकी बात पर भरोसा कर रहे हैं, किंतु यदि सिवनी जिले के किसानों के हक का पानी बालाघाट को दिया गया तो इसके परिणाम घातक होंगे। किसान संघर्ष और आंदोलन करने में पीछे नहीं रहेंगे। इसमें वे भी स्वयं शामिल होंगे।

sunil vanderwar Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned