समय पर नहीं पहुंच रहे चिकित्सक, कई कर्मी नदारद

समय पर नहीं पहुंच रहे चिकित्सक, कई कर्मी नदारद

Santosh Dubey | Updated: 16 Jul 2019, 01:00:12 PM (IST) Seoni, Seoni, Madhya Pradesh, India

सिटी अस्पताल में अव्यवस्था का आलम, मरीज हो रहे परेशान

सिवनी. जिलेवासियों को जिला चिकित्सालय में बेहतर उपचार की सुविधा मिले इसके लिए कलेक्टर प्रवीण सिंह कोई कमी कसर नहीं छोड़ रहे हैं। 'मैं हूं अस्पताल मित्रÓ योजना चलाकर लोगों को भावनात्मक रूप से जोड़कर राशि एकत्रित कर अस्पताल के कायाकल्प में रात-दिन लगे हैं। वहीं नगर के छिंदवाड़ा चौक स्थित सिटी अस्पताल में पदस्थ डॉक्टर, स्वास्थ्य कर्मी को मरीज और इन सब से कोई सरोकार नजर नहीं आता है।
सोमवार को समय पर अस्पताल के नहीं खुलने, चिकित्सकों के समय पर नहीं आने, अनेक कर्मी के स्थानांतरण होने के बाद भी रजिस्टर में उनके नाम दर्ज होने जैसे अनेक अनियमितताएं देखने को मिली।
जिला चिकित्सालय में मरीजों की बढ़ती संख्या और मरीजों का दबाव कम हो तथा छिंदवाड़ा चौक के आसपास के रहवासियों व समीपस्थ ग्राम के मरीजों को पास में ही उपचार की सुविधा मिले इसके लिए कुछ साल पहले छिंदवाड़ा चौक के पास सिटी अस्पताल खोला गया। यहां प्रतिदिन औसत एक सैकड़ा से अधिक मरीज आते हैं। अस्पताल के खुलने का समय दोपहर 12 बजे से शाम पांच बजे तक रखा गया है। लेकिन सोमवार को आधा दर्जन मरीज दोपहर 12.10 बजे तक अस्पताल खुलने के इंतजार में बाहर खड़े रहे।
सिटी अस्पताल में 12.10 बजे सपोर्ट स्टाफ दिलीप ने अस्पताल का ताला खोला। इसके 10 मिनट बाद स्टाफ नर्स नैनसी मसीह, सीमा काकोडिया ड्यूटी, आयुष फीमेल हेल्थ वर्कर सीमा पटेल पहुंची। अस्पताल खुलते ही मरीज उपचार कराने अंदर तो पहुंचे लेकिन यहां दोपहर 12.35 बजे तक एक भी डॉक्टर के नहीं पहुंचने से बुखार, सिरदर्द, ब्लड प्रेसर, पेट दर्द समेत अन्य बीमारी से ग्रसित मरीज दर्द से कराहते हुए चिकित्सक के आने की राह देखते रहे। दोपहर 12.40 बजे आयुष महिला चिकित्सक डॉ. वर्षा झारिया पहुंची।
अस्पताल में कम्पाउण्डर नहीं
मरीज, घायलों के उपचार के लिए वर्तमान में एक भी कम्पाउंडर नहीं है। स्वास्थ्य कर्मी ने बताया कि यहां पदस्थ कम्पाउंडर राकेश पटेल का तीन दिन पहले ही स्थानांतरण हुआ है। ऐसे में मरीजों को मलहम, पट्टी कौन करेगा इस मामले में सभी ने चुप्पी साध ली। स्वास्थ्य कर्मी ने बताया कि यहां आयुष विभाग की ओर से एक भृत्य समेत अनेक कर्मी पदस्थ हैं लेकिन वे कई-कई दिन यहां नहीं आते हैं। इसकी वजह है कि उनकी ड्यूटी अन्य जगह लगी है। सप्ताह-पंद्रह दिन में आकर उपस्थिति रजिस्टर में हस्ताक्षर करके चले जाते हैं।
अपूर्ण रजिस्टर देख भड़के प्रभारी सीएमएचओ
टीएल बैठक में कलेक्टर को जैसे ही सिटी अस्पताल में व्याप्त अनियमितताओं की सूचना लगी तत्काल उन्होंने प्रभारी सीएमएचओ डॉ. मधुसुदन धर्डे और आयुष अधिकारी डॉ. यशवंत माथुर को भेजा। डॉ. मधुसुदन ने अस्पताल में उपस्थिति रजिस्टर मंगवाया। अपूर्ण रजिस्टर देखकर खासी नाराजगी व्यक्त की। साथ ही रजिस्टर में जिनके स्थानांतरण हो चुके हैं और जो अवकाश में चल रहे हैं या फिर बाहर ड्यूटी दे कर यहां सिर्फ हस्ताक्षर करने आते हैं उक्त कर्मी के नाम के सामने उन्होंने लाइन खींचकर जिनके स्थानांतरण हुए वहां स्थानांतरण, छुट्टी आदि लिखा। कार्यरत स्टाफ को सख्त निर्देश दिए कि दोबारा इस प्रकार की लापरवाही न होने पाए।
मरीजों ने बयां किया दर्द
यहां पहुंचे मरीजों में सीडब्ल्यूएसएन छात्रावास में रह रही छात्रा रश्मि पिता सुरेन्द्र इनवाती ने बताया कि पुत्री को तेज बुखार है। यह बोलती भी नहीं है उपचार के लिए यहां दोपहर 12 बजे से खड़े हैं। वहीं 70 वर्षीय वृद्ध मरीज रघुवीर सिंह ठाकुर निवासी द्वारकानगर गली नम्बर एक निवासी ने बताया कि 12.30 बजे तक डॉक्टर के नहीं आने और तबीयत ज्यादा खराब होने से काफी परेशानी हो रही है। ग्राम मरझोर निवासी संतोष सनोडिया ने बताया कि उसकी तीन साल की पुत्री शिवन्या को बुखार के साथ सर्दी, खासी चल रही है उसके उपचार के लिए लाए थे। ग्राम बम्होड़ी निवासी मरीज दशरथ सनोडिया ने बताया कि यहां अक्सर डॉक्टर समय पर नहीं पहुंचते हैं और कई बार पूरी दवाएं भी नहीं मिलती है।
इनका कहना है
यहां एलोपैथिक के डॉक्टर की ड्यूटी रूटिन में लगी रहती है, किसी कारणवश नहीं पहुंचे होंगे लेकिन आयुष विभाग की महिला चिकित्सक मरीजों का उपचार करती हैं। कुछ के स्थानांतरण होने के कारण शीघ्र ही व्यवस्था बनाई जाएगी।

डॉ. यशवंत माथुर

आयुष अधिकारी, सिवनी
----
इनका कहना है
सिटी अस्पताल की व्यवस्थाएं शीघ्र ही बनाई जाएगी। इससे आसपास के मरीजों का यहीं उपचार होने से जिला अस्पताल में लोड भी कम होगा।
डॉ. मधुसुदन धर्डे,
प्रभारी सीएमएचओ, सिवनी।
---
इनका कहना है
मरीजों का उपचार पहले है। अस्पताल विलम्ब से खुला है और डॉक्टर नहीं पहुंच रहे हैं तो संबंधित अधिकारियों से दिखवाता हूं। जांच में दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
प्रवीण सिंह, कलेक्टर, सिवनी।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned