शिक्षा विद्यार्थियों को राष्ट्र के साथ जोड़ती है : चेतस सुखाडिय़ा

Santosh Dubey

Updated: 14 Jul 2019, 11:48:43 AM (IST)

Seoni, Seoni, Madhya Pradesh, India

सिवनी. अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद द्वारा मेधावी छात्र-छात्राओं का सम्मान समारोह का आयोजन बुधवार को सरस्वती शिशु मंदिर में संपन्न हुआ। साथ ही अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद सिवनी नगर की नगर कार्यकारिणी की घोषणा की गई। जिसमें अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के क्षेत्रीय संगठन मंत्री चेतन भाई सुखाडिय़ा उपस्थित रहे।
अतिथि के तौर पर महर्षि विद्या मंदिर के प्राचार्य अशोक डेहरिया विभाग संयोजक अंकित ठाकुर जिला संयोजक मयूर सोनी प्रमुख शैली प्रजापति भाग संयोजक आदित्य बरमैया उपस्थित रहे। क्षेत्रीय संगठन मंत्री चेतस सुखाडिय़ा ने कहा कि शिक्षा वह है जो विद्यार्थी को राष्ट्र के साथ जोड़ती है शिक्षा वह है जो विद्यार्थी को मिट्टी के साथ जोड़ती है शिक्षा वह है जो विद्यार्थी को परिवार के साथ जोड़ती है। हम सभी भारत माता की जय के लिए जीने वाले लोग और एक राष्ट्रवादी राष्ट्रवादी विचारधारा को साथ में लेकर चलने वाले लोग हैं।
अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने लगातार विद्यार्थियों को शिक्षा कैसी दी जाए यह बात देश के समाज के एवं शासन-प्रशासन के समक्ष रखी इस देश में भारतीयता के आधार पर भारत की मूल शिक्षा विद्यार्थियों को पढ़ाई जाए एवं भारत का सच्चा इतिहास विद्यार्थियों को पढ़ाया जाए यह बात विद्यार्थी परिषद ने समय-समय पर लोगों के समक्ष रखी है और मुख्य अतिथि के तौर पर अशोक डेहरिया ने विद्यार्थियों को मार्गदर्शन दिया कार्यक्रम के अंतिम क्षणों में मेधावी छात्र-छात्राओं का सम्मान किया गया। विद्यार्थी परिषद के 71 वें स्थापना दिवस के इस कार्यक्रम के शुरुआत में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की सिवनी नगर की नगर कार्यकारिणी की घोषणा की गई जिसमें नगर अध्यक्ष आकाश डेहरिया, नगर उपाध्यक्ष तपन मिश्रा, अजय चतुर्वेदी, लीना शुक्ला, पारुल सनोडिया, नितेश ठाकुर, निशु सोनी, श्वेता राय, वेदांत विश्वकर्मा, अनिकेत जैन, हिमांशु डेहरिया, अमन दुबे, शिवानी दुबे, पवन यादव, अभिजीत करोसिया, निखलेश कुल्हाड़े आदि कार्यकर्ता नगर कार्यकारिणी में रखे गए।
पुरस्कार वितरण में हुई लापरवाही से विद्यार्थी हुए परेशान
पुरस्कार वितरण कार्यक्रम के दौरान अनेक होनहार छात्रों को सम्मान किए जाने के नाम पर बुलाया गया और जब उनका नाम नहीं पुकारा गया तब ऐसे विद्यार्थियों को काफी निराशा हुई। जिस स्कूल में उक्त कार्यक्रम आयोजित था वहीं के होनहार छात्र सम्मान से वंचित हुए। इस बीच कुछ छात्रों व अभिभावकों ने इस पर आपत्ति जताई तब आनन-फानन में सम्मान से वंचित विद्यार्थियों का नाम, प्रतिशत उन्हीं से पूछकर प्रमाण-पत्र में लिखकर उन्हें मंच से सम्मानित किया।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned