चौथे दिन भी अस्पताल के सामने हड़ताल पर डटी रहीं नर्सें

कांग्रेस, नागरिक मोर्चा ने आंदोलन को किया समर्थन

By: sunil vanderwar

Published: 03 Jul 2021, 09:31 PM IST

सिवनी. कोरोना जैसी महामारी का संक्रमण जब लोगों की जिंदगी के लिए खतरा बना हुआ था, तब भी हमने हर मरीज की जिंदगी बचाने के लिए अपनी जान की परवाह नहीं की और अब भी अपने कर्तव्य को बेहतर ढंग से निभा रहे हैं, लेकिन प्रदेश सरकार हमारी मांगों पर लगातार अनदेखी कर रही है, ऐसे में आंदोलन ही एक रास्ता था। यह कहना है जिला अस्पताल के सामने लगातार चौथे दिन धरना-आंदोलन पर बैठीं नर्सों का।
नर्सेस एसोसिएशन जिला इकाई की पदाधिकारी व सदस्य नर्सों ने कहा कि स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर रखने में नर्सिंग स्टाफ की अहम भूमिका रहती है। इस बात का उदाहरण हमने कोरोना महामारी में देखा जहां नर्सेस ने फ्रंट लाइन वर्कर (कोरोना योद्धा) के रूप में काम किया और लोगों की जान बचाई वो भी अपनी जान की चिंता किए बिना। किन्तु इतना सब करने के बाद भी आज स्वास्थ विभाग की नर्सों को मूलभूत मांगों के लिए संघर्ष करना पड़ रहा है।
पिछले कई वर्षों से नर्सेस एसोसिऐशन मध्य प्रदेश अपनी 12 सूत्रीय मांगों को पूरा करने के लिए शासन-प्रशासन तक ज्ञापन व अन्य तरीकों से उन तक पहुंची है। इन मांगों में उच्च स्तरीय वेतनमान सेकंड ग्रेड अन्य राज्यों की तरह मध्य प्रदेश की सभी नर्सों को दिया जाए। पुरानी पेंशन योजना लागू की जाए। कोरोना काल में शहीद हुए नर्सिंग स्टाफ के परिजनों को अनुकंपा तथा 15 अगस्त को राष्ट्रीय कोरोना योद्धा के रूप में सम्मानित किया जाए। इस प्रकार कुछ अन्य मांगे शामिल हैं।
कहा कि सरकार ने अभी तक इन मांगो पर कोई ध्यान नहीं दिया है। जिसके बाद नर्सेस एसोसिऐशन मध्य प्रदेश के आव्हान पर 28 जून को सभी नर्से सामूहिक अवकाश पर रहीं और 30 जून से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर बैठी हुई हैं।
जिसमे सिवनी में जिला अस्पताल का नर्सिंग स्टॉफ भी अस्पताल परिसर में हड़ताल पर बैठा हुआ है। शनिवार को नागरिक मोर्चा के सदस्यों का समूह इन सभी नर्सेस के सम्मान में और उन्हें समर्थन देने के लिए आंदोलन स्थल पर पहुंचा। साथ ही उन्हें हर संभव सहयोग करने का आश्वासन दिया। नागरिक मोर्चा के नवेंदु मिश्रा, मीना जायसवाल, आनंद मिश्रा, शिरीष कुमार शमिल हुए।
अध्यक्ष ने कहा विधानसभा में उठवाएंगे मामला
इंदिरा गांधी जिला चिकित्सालय में पिछले कुछ दिनों से अपनी मांगों को लेकर धरने पर बैठे नर्सेस एसोसिएशन की मांगों को समर्थन देने जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राजकुमार खुराना धरना स्थल पर पहुंचे। खुराना ने कहा कि कोरोना संक्रमण के दौरान सबसे अधिक सेवा आप नर्स बहनों ने दी है। सरकार पर आरोप लगाए कि भाजपा सरकारें बुलट टे्रन और हवाई यात्रा के सपने देश के लोगों को दिखा रही है, जबकि आज आवश्यकता है मूलभूत आवश्यकताओं की जिसमें प्रमुख चिकित्सा स्टाफ व सामग्री है। प्रदेश में कांग्रेस की सरकार के समय जिला चिकित्सालय का जो कायाकल्प किया गया था, प्रदेश में जिला चिकित्सालय सिवनी ने प्रथम स्थन प्राप्त किया था, उस समय कायाकल्प से कोरोना संक्रमण के दौरान कोरोना मरीजों का जिले में बेहतर इलाज सम्भव हो सका। जिला कांग्रेस द्वारा जिले के कांग्रेस विधायकों एवं प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री, नेता प्रतिपक्ष कमलनाथ के माध्यम से विधान सभा में मध्यप्रदेश नर्सेस एसोसिएशन की सभी मांगो को रखने का भरोसा नर्सेस को दिया। इस मौके पर अशोक चौबे, राजिक अकील, राजेश मानाठाकुर, आनंद पंजवानी, देवधर सक्सेना, सुमित मिश्रा व अन्य मौजूद रहे।

Show More
sunil vanderwar Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned