अतिथि शिक्षकों के लिए जरूरी है अनुभव प्रमाण पत्र, ऐसे होगी कार्रवाई

अतिथि शिक्षकों के लिए जरूरी है अनुभव प्रमाण पत्र, ऐसे होगी कार्रवाई

Sunil Vandewar | Publish: May, 28 2019 12:42:28 PM (IST) Seoni, Seoni, Madhya Pradesh, India

अतिथि शिक्षक संघ के जिला अध्यक्ष ने लगाए आरोप

सिवनी. मध्य प्रदेश शासन स्कूल शिक्षा विभाग भोपाल के दिनांक 15 मई 2019 के आदेश अनुसार अतिथि शिक्षकों के अनुभव प्रमाण पत्र सत्र 2008-०9 से सत्र 2017-18 तक जीएफएमएस पोर्टल पर उपलब्ध कराए गए हैं। जिन्हें अतिथि शिक्षक अपनी ऑनलाइन यूजर आईडी एवं पासवर्ड के माध्यम से अपने अनुभव प्रमाण पत्र को क्लेम कर सकते हैं। जिन वर्षों का अनुभव क्लेम नहीं हो पा रहा है उसके लिए स्कूल शिक्षा विभाग ने परिशिष्ट 1 उन्हीं अनुभव प्रमाण पत्र के साथ जमा करने के निर्देश दिए हैं।
अतिथि शिक्षक संघ के जिला अध्यक्ष लीलाधर जैन ने जारी विज्ञप्ति में कहा है कि ने कहा कि ऑनलाइन अनुभव प्रमाण पत्र एवं परिशिष्ट 1 को तीन-तीन प्रतियों में अपने अपने संस्था प्रमुख से प्रमाणीकरण उपरांत संकुल प्राचार्य को फाइल बनाकर प्रेषित करने का आदेश स्कूल शिक्षा विभाग के पत्र में स्पष्ट उल्लेखित है उस पत्र में यह भी उल्लेखित है कि आवेदक संकुल प्राचार्या एवं जिला शिक्षा अधिकारी के क्या-क्या दायित्व होंगे। कहा कि खेद का विषय है कि सिवनी जिले के संकुल प्राचार्य इस ओर बिल्कुल भी ध्यान नहीं दे रहे हैं जबकि इसकी नियत तिथि 31 मई 2019 है। आवेदक अतिथि शिक्षक जब उन तीन-तीन प्रतियों की फाइल बनाकर संकुल प्राचार्य के पास उपस्थित हो रहे हैं तो वे या तो इन फाइलों को लेने से मना कर रहे हैं या यह कह रहे हैं कि हमारे पास ऐसा कोई आदेश नहीं है इसके साथ-साथ जिन अतिथि शिक्षकों ने प्रायमरी, माध्यमिक, हाइस्कूल में पढ़ाया है जो संकुल नही हंै उनको अपने अपने संस्था प्रमुख से प्रमाणीकरण के उपरांत संकुल प्राचार्य के पास जमा करना है लेकिन उन स्कूलों के संस्था प्रमुख छुट्टी का बहाना बताकर उनका प्रमाणीकरण नहीं कर रहे हैं और किसी प्रकार की जमा पावती नही दी जा रही है। इससे अतिथि शिक्षकों को चिन्ता बनी है और उन्हेें परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।
इसके साथ साथ ऑनलाइन जीएफएमएस पोर्टल पर उपलब्ध अनुभव प्रमाण पत्र की फीडिंग भी शुरू हो गई है लेकिन जिले के अभी तक एक भी स्कूलों से ऑनलाइन फीडिंग नहीं हुई है। कहा कि यदि उक्त प्रक्रिया में किसी अतिथि शिक्षक का अहित होता है तो इसकी जिम्मेदारी कौन लेगा। नियत तिथि 31 मई 2019 के बाद यदि पोर्टल बंद हो जाता है तो अतिथि शिक्षकों के अनुभव प्रमाण पत्र प्राप्त नहीं हो सकेंगे, क्योंकि संकुल प्रचार के ऑनलाइन करने के पश्चात वे जिला शिक्षा अधिकारी की आईडी में पहुंच जाएंगे और जिला शिक्षा अधिकारी के सत्यापन के पश्चात अतिथि शिक्षक अपना डिजिटल अनुभव प्रमाण पत्र प्राप्त कर सकेंगे, परंतु सिवनी जिले के संकुल प्राचार्य इस ओर बिल्कुल भी ध्यान नहीं दे रहे हैं जो स्कूल शिक्षा विभाग के उच्च अधिकारियों की सीधे-सीधे अवहेलना है।
अतिथि शिक्षक संघ जिला इकाई द्वारा जिला प्रशासन एवं जिला शिक्षा अधिकारी से यह आग्रह किया है कि उक्त प्रक्रिया के लिए जिले के समस्त संकुल प्राचार्यों को आदेशित करें जिससे कि नियत समय पर अतिथि शिक्षकों के अनुभव प्रमाण पत्र का सत्यापन पूर्ण हो सके।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned