मोदी के आने पर मांस का निर्यात बढ़ा : शंकराचार्य

Santosh Dubey

Publish: May, 17 2019 07:50:44 PM (IST) | Updated: May, 17 2019 07:50:45 PM (IST)

Seoni, Seoni, Madhya Pradesh, India

 

सिवनी. भारतीय जीवन में गाय का बड़ा महत्व है। पहले हर गांव में गौशाला रहती थी। लेकिन आज भारत गौ मांस का सबसे बड़ा निर्यातक बन गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पहले चुनाव में कहा था कि यूपीए के जमाने में भारत गौ मांस का निर्यात करता है जिससे मेरा हृदय जल रहा है। आपका जलता है कि नहीं यह नहीं जानता हूं। लोगों ने यह उम्मीद लगाई थी कि जब मोदी प्रधानमंत्री बनेंगे तो गौ मांस का निर्यात बंद हो जाएगा। लेकिन मांस का निर्यात और बढ़ गया। यहां तक कि गाय को काटने के लिए जो मशीनें विदेशों से आती हैं उसकी सब्सिडी बढ़ा दी गई। यह बात स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती महाराज ने कही। वे शुक्रवार को पृतधाम दिघौरी में प्रेसवार्ता को संबोधित कर रहे थे।
उन्होंने कहा कि हर व्यक्ति, किसान, ग्रामीण के घर गाय पालता था। अब गाय देखने को नहीं मिलती है। जिसका परिणाम यह है कि गोबर की खाद की जगह अब हम जो भोजन कर रहे हैं वह रासायनिक खाद की देन है। हर चीज में मिलावट है। ईमानदारी खत्म हो चुकी है। इस पर किसी ने कोई चर्चा नहीं की है। जबकि यह सबसे ज्यादा आवश्यक था। हमारे शरीर में 70 प्रतिशत पानी है आज पानी भी ठीक नहीं है। गांव-गांव में शौचालय तो बना दिए गए, लेकिन पानी नहीं है। इससे गंदगी और फैल रही है। शौचालय का गंदा पानी तालाब, नदियों में जा रहा है। दूषित पानी बोरिंग में पहुंच रहा है। वहीं विकास की बात जो करते हैं लेकिन विकास जिनके लिए है उसकी बात नहीं करते हैं।
आयोध्या में राम मंदिर के मुद्दे पर कहा कि राम मंदिर मुद्दा अदालत में अटका है। हम लोग इस मामले को लेकर कोर्ट भी गए और हमने भाजपा के लोगों से शिलान्यास की बात की लेकिन इस मामले को लेकर वह मौन हो गए। क्योंकि वह चाहते है कि श्रीराम मंदिर मामले को लेकर अध्यक्ष आरएसएस का बनाया जाए और इस मामले को लेकर वह अपने अनुसार काम करें। जबकि हमारा उद्देश्य है कि हम सभी को लेकर इस मामले में अपनी बात रखें। जिससे विवाद खत्म हो सके।
राजनीति में धर्म और राष्ट्रवाद को लेकर हो रही राजनीति के प्रश्न के जवाब में उन्होंने कहा कि हमने जो कुछ किया वह राष्ट्र के लिए किया है और इसमें किसी प्रकार से मतभेद नही है लेकिन लोग राष्ट्रवाद के नाम पर राजनीति करते है। गुरुधाम के विकास को लेकर अगर शासन कुछ नही करता तो हम यहां पर अच्छे संस्कृत महाविद्यालय एवं अनेक ऐसी कार्ययोजना बनाना चाहते हैं, जिससे जिले के लोग संस्कारवान हों और जिले का विकास कर सके।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned