डेढ़ हजार क्विंटल नष्ट किए जाएंगे खरीदे गए चना

akhilesh thakur

Publish: Jun, 14 2018 01:30:15 PM (IST)

Seoni, Madhya Pradesh, India
डेढ़ हजार क्विंटल नष्ट किए जाएंगे खरीदे गए चना

पानी में भीगकर हुए हैं खराब

सिवनी. जिले के खरीदी केन्द्रों पर व्याप्त अनियमितता की वजह से अब भीगकर खराब हुए चना को नष्ट करने का फरमान जिला प्रशासन जारी कर रहा है। जारी फरमान पर गौर करें तो करीब 1500 क्विंटल चना नष्ट किया जाएगा। इस संबंध में नागरिक आपूर्ति निगम ने संबंधित निर्देश संबंधित समितियों को जारी किया है।
प्री मानसून की पहली बारिश से कृषि उपज मंडी सिमरिया व लखनादौन में पानी से भीगकर करीब डेढ़ हजार क्विंटल चना खराब हो गए हैं। खराब चने को नष्ट करने के अलावा प्रशासन के पास कोई चारा नहीं है। लखनादौन कृषि उपज मंडी में पानी लगने के कारण खराब हुए करीब 400 क्विंटल चने को नष्ट करने के आदेश नागरिक आपूर्ति निगम के प्रभारी डीएम डीएस कटारे ने दिए हैं। बताया कि कृषि उपज मंडी सिवनी में करीब एक हजार क्विंटल चना पानी में भीगने के कारण खराब हुआ है। इसकी जांच कर ली गई है। इसको भी नष्ट करने का निर्देश दिया जाएगा। बारिश का पानी मंडी में रखी बोरियों के निचले हिस्से में लगने के कारण बड़ी मात्रा में चना अंकुरित होने के बाद खराब हुआ है।

सूखा वाले क्षेत्र में भी हुई बंपर खरीदी
लखनादौन व घंसौर क्षेत्र के किसान सिंचाई के पानी के लिए आंदोलनरत थे। इसबीच उस क्षेत्र में की समितियों पर चना की उपज अधिक आने से सवाल खड़े हो रहे हैं। व्यापारियों के चने खरीदी केन्द्रों पर बेचे जा रहे हैं। डीएमओ एमएल कुसरे ने बताया कि विगत दिनों इसकी शिकायत मिली थी, जिसकी जांच की गई, लेकिन व्यापारियों का माल होने संबंधित अभी तक कोई प्रमाण नहीं मिला है।

परिवहन की समस्या बरकरार
जिले में खरीदे गए चना के परिवहन की समस्या बनी हुई है। यह वजह भी समितियों पर रखे हुए माल के खराब होने की है। परिवहन के लिए ट्रकों में जो माल रखे जा रहे हैं, वे ओवरलोड भरे जा रहे हैं। इससे सड़क खराब हो रही है। हादसे की संभावना बन रही है। इस संबंध में परिवहन ठेकेदार ने गोलू अग्रवाल का कहना है कि जितना आनलाइन खरीदी हुर्ई है। उतना परिवहन हो गया है। ओवरलोड की बात को भी उसने स्वीकार किया है।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned