भूख हड़ताल पर बैठे किसान, लोकसभा चुनाव में मतदान बहिष्कार की चेतावनी

भूख हड़ताल पर बैठे किसान, लोकसभा चुनाव में मतदान बहिष्कार की चेतावनी

Santosh Dubey | Publish: Apr, 17 2019 12:27:18 PM (IST) Seoni, Seoni, Madhya Pradesh, India

खरीदी केंद्र खरसारू की मांग पर किसान

सिवनी. विकासखण्ड केवलारी अंतर्गत ग्राम खरसारू में पिछले 10 वर्षों से गेहूं खरीदी सोसायटी में होती थीं जिससे अन्नदाताओं को खासी सुविधाएं मिलती थी लेकिन हाल ही में खरसारू खरीदी केंद्र को बंद करके बगलई केंद्र को सौंप दिया गया है जिससे क्षेत्र के किसानों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। इससे नाराज किसान मंगलवार से धरने व भूख हड़ताल पर बैठ गए हैं।
किसानों ने बताया कि खरसारू में पूर्व से ही गेहूं खरीदी केंद्र संचालित था जहां पर आनाज रखने के लिए पर्याप्त जगह है और अन्य सुविधाएं मिल रही थीं। वहीं वर्तमान समय पर खरसाहू गेहूं खरीदी केंद्र को उसी नाम से परिवर्तित कर, ग्राम खरसाहू/मोहगांव से लगभग 15 किलोमीटर दूर तहसील केवलारी मुख्यालय के बीटीआई स्थित एक निजी वेयर हाउस में खरसाहू का गेंहू खरीदी केंद्र बना दिया गया है। अत्याधिक दूरी होने पर किसानों को अतिरिक्त राशि का भार आएगा। इसके साथ ही 15 किलोमीटर दूर से अपने केवलारी खरीदी केंद्र में अनाज के ढेरों को दिन-रात सुरक्षा करने में परेशानी होगी। वहीं किसानों ने बताया कि ग्राम खरसाहू, मलारा से केवलारी तक की सड़क में अत्याधिक गड्ढे व रास्ता जीर्णक्षीण हो गया है।
किसानों ने बताया कि पूर्व में भी क्षेत्र के किसानों ने खरसारू गेहूं खरीदी केंद्र को यथावत रखे जाने के लिए लिखित आवेदन दिया था।
आक्रोषित क्षेत्र के किसानों में राम दयाल डेहरिया, शिवराज बघेल, अखिलेश, सोन सिंह कुमरे आदि ने बताया कि अगर उनकी मांगें नहीं मानी गई तो परेशान किसान लोकसभा चुनाव में मतदान का बहिष्कार करने मजबूर होंगे। फिलहाल क्षेत्र के किसान अपनी मांगों को लेकर मंगलवार से शांतिपूर्वक अनशन, भूख हड़ताल पर बैठ गए हैं।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned