मृदा परीक्षण के लिए भटक रहे किसान

मृदा परीक्षण के लिए भटक रहे किसान

Santosh Dubey | Publish: Jun, 04 2019 09:41:43 PM (IST) Seoni, Seoni, Madhya Pradesh, India

भवन में लटका ताला, किसान परेशान

सिवनी. लाखों रुपए की लागत से खूंट बरघाट मेन रोड पर स्थित नर्सरी प्रांगण में मृदा परीक्षण प्रयोगशाला का भवन बनाया गया है। जिसका उद्देश्य आधुनिक उपकरणों, मशीनों के माध्यम से किसानों की खेत की मिट्टी में किन-किन तत्वों की कमी है और किन-किन तत्वों की आवश्यकता है। यह पता लगाकर उनकी पूर्ति कर अपनी उपज की पैदावार बढ़ाने की है।
किसानों ने कृषि विभाग के उच्च अधिकारियों पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए बताया कि भवन निर्माण के बाद भी प्रयोगशाला चालू करने में विभाग के अधिकारी हीलाहवाली कर रहे हैं। जिसके चलते किसान मृदा परीक्षण के लिए भटक रहे हैं।
किसानों में रघुवीर प्रसाद पारधी, महेश, गौतम, रमेश ठाकरे आदि ने बताया कि यदि मृदा परीक्षण केंद्र में शीर्ष मिट्टी की जांच शुरू हो गई तो वे कुछ नया कर सकते हैं। मिट्टी की उर्वरा शक्ति का सही तरीके से मापन न होने के कारण वे अपनी उपज कम पा रहे हैं। जबकि बरघाट क्षेत्र धान की पैदावार में प्रदेश और देश में जाना जाता है अभी कुछ दिनों बाद ही धान की रोपाई का काम किसानों द्वारा प्रारम्भ किया जाना है। वैज्ञानिक तकनीकी से खेती की बात तो कृषि विभाग द्वारा की जाती है पर जब भी जरूरत होती है तो किसानों को सुविधा उपलब्ध नहीं हो पाती है।
इनका कहना है
अधिकारियों ने स्टाफ की कमी का हवाला दिया है। सभी आवश्यकताएं पूर्ण कर शीघ्र ही प्रयोगशाला चालू किए जाने की बात अधिकारियों से की है।
अर्जुनसिंह काकोडिया
विधायक, बरघाट

---
इनका कहना है
सरकारी लैब में कर्मचारियों की भर्ती नहीं होने के कारण वहां कार्य बंद है। फिलहाल मिनी लैब में मृदा परीक्षण जारी है।
एसके धुर्वे,
उपसंचालक किसान कल्याण एवं कृषि विभाग

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned