रक्षाबंधन के साथ शुरु होगा त्योहारी सीजन, सजीं दुकान

रक्षाबंधन के साथ शुरु होगा त्योहारी सीजन, सजीं दुकान

Sunil Vandewar | Publish: Aug, 19 2018 11:36:05 AM (IST) Seoni, Madhya Pradesh, India

नगर में सज गई राखी, कपड़े, सजावटी सामान की दुकानें

सिवनी. आने वाले दिनों में रक्षाबंधन के साथ ही त्योहारों की शुरुआत हो जाएगी। कजलियां, तीजा, गणेश उत्सव, हलछठ, दुर्गा उत्सव, दशहरा के बाद दीपावली जैसे त्योहार हिन्दू संस्कृति में विशेष महत्व रखते हैं। शुरु होने जा रहे त्योहारी सीजन को देखते हुए बाजार में दुकानदार भी ग्राहकों की पसंद को देखते पहले से सभी जरूरी तैयारियों के साथ मौजूद हैं।
त्योहारों की शुरुआत भाई-बहनों के अटूट रिश्ते का प्रतीक रक्षाबंधन पर्व के साथ होनी है, इसके लिए राखी की दुकानें सज गई है। राखी का त्योहार 26 अगस्त को है। रक्षाबंधन के त्योहार के लिए सजे बाजार में चीन और स्टोन की राखियां आकर्षण का केंद्र बनी हुई हैं। रक्षाबंधन पर्व ज्यों-ज्यों नजदीक आ रहा है, बहनों ने बाहर रहने वाले भाइयों को अभी से राखियां भेजना शुरू कर दिया है। बाजारों में हर तरफ रंग बिरंगी राखियों से सजी दुकानें नजर आने लगीं हैं। रक्षाबंधन के लिए कपड़े, मिठाई और ड्राइफूड से लेकर गिफ्ट आइटम बेचने वालों की दुकानों पर भी रौनक दिखाई दे रही है। इस त्योहार को लेकर भाई और बहनों में खासा उत्साह है। पिछले वर्ष की अपेक्षा इस वर्ष राखी के दामों में करीब 10 से 15 फीसदी का इजाफा हुआ है। रक्षाबंधन को लेकर तैयारियां जोर पकड़ रही हैं।
राखी के त्योहार के लिए सजे बाजार में इस बार जहां बच्चों के लिए कार्टून वाली राखी है तो वहीं युवाओं के लिए ओम, रुद्राक्ष वाली राखियां मौजूद हैं। उच्च वर्गीय लोगों के लिए बाजार में सोने और चांदी की सुंदर कलात्मक राखियां भी उपलब्ध हैं। किशोरियां, युवतियां और महिलाओं ने राखियों की खरीददारी शुरू कर दी है। पर्व को लेकर नगर से लेकर ग्रामीणांचल तक राखी की दुकानें सज गई है। राखी व्यवसायियों के अनुसार इस बार बाजार में चीन निर्मित राखियों की बिक्री खासी हो रही है। इन दुकानों पर अपनी मनपसंद की राखियों की खरीददारी करने के लिए दुकानों पर लोगों की भीड़ लगनी शुरू हो गई है। बुधवारी बाजार सड़क किनारे अपनी दुकान सजाए बैठे ब्रजेश हेड़ाऊ ने कहा कि इस बार धागे से बनी राखियां लोगों को लुभा रही हैं। चीनी राखियों में बच्चों के लिए बनी राखियां मौजूद हैं।
हाथ से राखी बनाने वाले शुक्रवारी के नेहा हेडाऊ ने बताया कि हाथ से बनने वाली राखी आज से चार पांच साल पहले तक तो खूब बिकती थी लेकिन जब से राखी के बाजार पर चीन का हमला हुआ है, तब से देशी राखियों की मांग कम रह गई है। इस बार रक्षाबंधन पर्व पर बाजार में सोने और चांदी की नग जडि़त राखियां की भी खूब बिक्री हो रही है। इस बार रक्षाबंधन के पर्व पर बहनों द्वारा ऑर्डर देकर खास तौर से अपने भाई के नाम वाली चांदी की राखियां भी खूब तैयार करवाई जा रही है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned