पांच साल से गैरहाजिर शिक्षिका की सेवा समाप्त

पांच साल से गैरहाजिर शिक्षिका की सेवा समाप्त

Sunil Vandewar | Updated: 14 Jul 2018, 02:01:01 PM (IST) Seoni, Madhya Pradesh, India

सुनवाई के अवसर पर भी हाजिर नहीं हुई शिक्षिका

सिवनी. शासकीय प्राथमिक शाला से करीब पांच साल से बिना सूचना गैरहाजिर रहने वाली शिक्षिका के प्रकरण में जिला पंचायत सीइओ ने डीइओ के माध्यम से जांच उपरांत सेवा समाप्त कर दिया है।
जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय के सतर्कता से प्राप्त जिला पंचायत सीइओ के आदेश पत्र कहा गया है कि शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय अरी में संविदा शाला शिक्षक वर्ग-२ के गणित विषय के लिए सुजाता सुलाखे पदस्थ थीं। जिसके तहत सुलाखे द्वारा ८ जुलाई २०१३ को कार्यभार ग्रहण किया था। नियुक्ति उपरांत अरी उमावि के प्राचार्य द्वारा २६ जून २०१४ को सूचना दी गई कि शिक्षिका १२ अक्टूबर २०१३ से लगातार अनुपस्थित हैं। जिसकी प्रारंभिक जांच जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा कराई गई। जांच अधिकारी प्राचार्य शासकीय उमावि धारनाकला के जांच प्रतिवेदन १७ अक्टूबर २०१४ के अनुसार शिक्षिका ८ अक्टूबर २०१३ से ११ अक्टूबर २०१३ तक का आकस्मिक अवकाश का आवेदन प्रस्तुत कर अवकाश पर रहीं। इसके उपरांत १२ अक्टूबर २०१३ से जांच दिनांक तक अनुपस्थिति पाई गई। सुलाखे गंभीर बीमारी के कारण अस्वस्थ हैं वह उमावि अरी में सेवा करने में असमर्थ हैं। इसलिए इन्हें अन्यत्र संस्था में स्थानांतरित किया जाए।
प्रारंभिक जांच उपरांत २१ फरवरी २०१७ को पत्र द्वारा शिक्षिका को सुनवाई का अवसर देते हुए समक्ष में उपस्थित होने के लिए निर्देशित किया गया था, किंतु वे समक्ष में उपस्थित नहीं हुईं, जिससे उनके विरुद्ध विभागी जांच कराई गई। इस जांच में भी शिक्षिका उपस्थित नहीं हुईं। इसके उपरांत जिला पंचायत सीइओ ने जिला शिक्षा अधिकारी के विभाग जांच सम्बंधी पत्र के अनुसार एक सप्ताह में उपस्थित होने का अवसर दिया था, लेकिन वे समक्ष में उपस्थित नहीं हुईं। इस पर जिला पंचायत सीइओ ने कहा कि स्पष्ट होता है कि सुजाता सुलाखे को शासकीय सेवा की आवश्यकता नहीं एवं वे कार्य करने में असमर्थ हैं। इसलिए जांच एवं निष्कर्षों एवं नियमों के अनुसार शिक्षिका की सेवाएं तत्काल प्रभाव से समाप्त कर दिया गया है।


मोबाइल पर हाजिरी लगाने दिया प्रशिक्षण

सिवनी. लोक शिक्षण संचालनालय के निर्देश अनुसार विभाग के सभी अधिकारी, शिक्षक व कर्मचारियों एवं विद्यार्थियों की उपस्थिति एम- शिक्षा मित्र एप के माध्यम से लिए जाने में आने वाली विभिन्न कठिनाइयों एवं उनके निराकरण के लिए शुक्रवार को बड़े मिशन स्कूल सभाकक्ष में प्राचार्यों को प्रशिक्षण प्रदान किया गया।
जिला स्तरीय आयोजन में डीइओ एसपी लाल, डीपीसी जीएस बघेल, एडीपीसी महेश गौतम, समन्वयक संस्था शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय सिवनी के प्राचार्य आरपी बोरकर ने प्रोजेक्टर के माध्यम से एम-शिक्षा मित्र मोबाइल एप पर हाजिरी लगाने की जानकारी प्रदान की। इस अवसर पर बीआरसी समेत सभी प्राचार्यों, शिक्षकों को विभागीय निर्देशों का पालन करते हुए निर्धारित समय पर पदस्थ संस्था में उपस्थिति देने, एंड्रायड मोबाइल एप पर विद्यालय पहुंचकर हाजिरी दर्ज कराने व अन्य समस्याओं को लेकर एप पर उपलब्ध फार्मेट से समाधान पाने की जानकारी प्रदान की गई। इस अवसर पर बड़ी संख्या में प्राचार्यों की उपस्थिति रही।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned