पूर्व त्रि-विभागीय मंत्री के डॉक्टर पुत्र के साथ मारपीट

कलेक्टर, एसपी को सौंपा ज्ञापन, कोतवाली में की शिकायत

By: santosh dubey

Published: 24 Jul 2018, 02:25 PM IST

सिवनी. सूबे के स्वास्थ्य राज्यमंत्री के प्रभार वाले इंदिरा गांधी जिला चिकित्सालय में सोमवार की रात जिला अस्पताल में ड्यूटीरत पूर्व त्रि-विभागीय मंत्री डॉ. ढालसिंह बिसेन के पुत्र डॉ. लोकेश बिसेन के साथ मारपीट किए जाने का मामला सामने आया है। इस मामले की लिखित शिकायत पीडि़त डॉक्टर ने कोतवाली थाने में कर दी है। वहीं डॉक्टरों की टीम कलेक्टर गोपालचंद्र डाड व पुलिस अधीक्षक से भी मिलकर दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई किए जाने की मांग की है। साथ ही डॉक्टर, स्टाफ नर्सें व स्वास्थ्य कर्मी के साथ आए दिन हो रही मारपीट व सुरक्षा व्यवस्था बनाए जाने की मांग की है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार भारतीय जनता पार्टी के पूर्व त्रि-विभागीय मंत्री डॉ. ढालसिंह बिसेन के पुत्र डॉ. लोकेश बिसेन आर्थोपेडिक स्पेलिस्ट जिला अस्पताल में पदस्थ हैं। सोमवार को रात्रि नौ बजे से सुबह नौ बजे तक रात्रिकालीन ड्यूटी में जब वे जिला अस्पताल में ग्राम गोपालगंज से आए एक मरीज की जांच कर रहे थे तभी रात्रि लगभग 11.30 बजे नशे में धुत्त तीन असमाजिक तत्व वहां पहुंचे और ड्यूटीरत डॉक्टर लोकेश के साथ बदसलूकी करते हुए मरीज को रेफर करने के लिए अनावश्यक दवाब बनाने लगे। वहीं मरीज और उनके परिजनों से उन तीनों को कहीं सो कोई संबंध भी नहीं था। डॉक्टर द्वारा जब मरीज की जांच की जा रही थी उसी समय तीनों डॉक्टर का हाथ पकड़कर झूमाझपटी भी करने लगे। डॉक्टर ने बताया कि इस दौरान जिला अस्पताल में पदस्थ निजी सुरक्षा कर्मी के तीन गार्ड भी वहीं मूख दर्शक बने खड़े रहे। सुरक्षागार्ड के किसी भी कर्मी ने न तो इसकी सूचना 100 डॉयल को दी और न ही किसी सीनियर डॉक्टर को। असमाजिक तत्व डॉक्टर को धमकाने लगे वहीं डॉक्टर ने अपने पिता को जब फोन किया तो उन असमाजिक तत्वों ने साफ कहा कि हम तुम्हारे पिता को अच्छी तरह से जानते हैं वो भी हमारा कुछ नहीं कर सकते हैं तुम किसी भी अधिकारी को फोन करोंगे तो कोई नहीं सुनेगा। इसके बाद डॉक्टर किसी तरह से बचकर वहां से भागे। वहीं अस्पताल की ओपीडी में भी तत्वों द्वारा हो-हल्ला मचाने पर नर्सों, स्वास्थ्य कर्मी ने उन्हें काफी समझाने बुझाने का प्रयास किया लेकिन वे किसी की नहीं माने।
सीएस से की शिकायत
मंगलवार को सुबह सिविल सर्जन डॉ. आरके श्रीवास्तव से पीडि़त डॉक्टर लोकेश बिसेन ने सोमवार की रात्रि को हुई घटना की जानकारी देकर लिखित शिकायत भी की है। इसके बाद डॉक्टरों की टीम में डॉ. आरके श्रीवास्तव, डॉ. पी सूर्या आरएमओ, डॉ. दीपक अग्निहोत्री, डॉ. महेन्द्र ओगरे, डॉ. आरपी वान्द्रे आदि कलेक्टर व पुलिस अधीक्षक से शिकायत करने पहुंचे। हालांकि डॉक्टरों ने बताया कि पुलिस अधीक्षक से शिकायत किए जाने के बाद उन्होंने कहा कि तीन आरोपियों में से दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। वहीं डॉक्टर जिला अस्पताल में डॉक्टर समेत सभी स्वास्थ्य कर्मी की पूर्ण सुरक्षा व्यवस्था किए जाने की मांग, कोतवाली पुलिस बल जो कि पहले आठ पुलिस बलों की टीम लगाई गई थी उसे दो माह पहले हटा लिया है उक्त पुलिस बल की ड्यूटी लगाने की मांग पुलिस अधीक्षक से की है।

BJP
Show More
santosh dubey Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned