बादी से मारबोड़ी के बीच चार किमी चोरी विद्युत से बन रही समस्या का चार दिन में करेंगे समाधान

सांसद डॉ. बिसेन ने बिजली कंपनी के अधिकारियों की सर्किट हाउस में लगाई क्लास

By: akhilesh thakur

Updated: 20 Nov 2020, 11:05 AM IST

सिवनी. किसान देश का अन्नदाता है। उसकी खुशहाली में ही देश की समृद्धि छिपी है। हमारे अन्नदाता को किसी तरह की भी तकलीफ नहीं होनी चाहिए। वर्तमान में रबी फसल हेतु किसानों को बिजली की अत्यंत आवश्यकता है। प्रावधान अनुसार उन्हें सिंचाई के लिए पर्याप्त बिजली मिलना चाहिए। यदि इस संबंध में किसी शिकायत का तुरंत निराकरण नहीं किया गया तो यह बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। अनेक ग्रामों में लो वोल्टेज की शिकायतें लगातार मिल रही है। प्राथमिकता से इस समस्या का समाधान किया जाए। यह बात बालाघाट/सिवनी सांसद डॉ. ढालसिंह बिसेन ने सर्किट हाउस सिवनी में आयोजित बैठक में बिजली कंपनी के अधिकारियों को दिए।


उन्होंने कहा कि अक्सर यह संज्ञान में आ रहा है कि किसान जब भी पर्याप्त बिजली न मिलने या वोल्टेज की समस्या लेकर अधिकारियों, कर्मचारियों के पास जाता है तो उसकी समस्या का समाधान करने की बजाए कभी ट्रांसफार्मर तो कभी फीडर का हवाला देकर चलता कर दिया जाता है। अब ऐसा नहीं चलेगा। अधिकारियों, कर्मचारियों को किसानों की समस्या का हर हाल में निराकरण करना होगा। बैठक में उपस्थित अधीक्षण यंत्री पीके मिश्रा एवं कार्यपालन अभियंता एमएल साहू ने बताया कि किसानों को 10 घंटे थ्रीफेस बिजली देने का प्रावधान है। सिंचाई हेतु बिजली आपूर्ति के तीन गु्रप बनाए गए हैं। ग्रुप ए में सुबह 5 बजे से 11 बजे तक 6 घंटे एवं रात्रि 9 से 1 बजे तक 4 घंटे। गु्रप बी में सुबह 11 से शाम 5 बजे तक 6 घंटे एवं रात्रि 1 से सुबह 5 बजे तक 4 घंटे विद्युत आपूर्ति की जा रही है। यह दोनों ग्रुप हर 15 दिन में एक दूसरे से समय बदल जाता है। ग्रुप सी में शाम 5 से रात्रि 9 बजे एवं सुबह 3 से 9 बजे तक विद्युत आपूर्ति की जाती है।


सांसद डॉ. बिसेन ने करीब दो तीन माह से बादी से मारबोड़ी की चार किलोमीटर विद्युत लाईन चोरी होने, बेलपेठ से बादलपार लाईन डेमेज होने, सुकतरा से बादलपार लाईन के तार कटे हुए होने के बाद अभी तक सुधार कार्य न होने से किसानों को बोवनी करने में आ रही परेशानी पर नाराजगी व्यक्त किया। इस पर अधीक्षण यंत्री ने आश्वासन दिया कि हर हाल में तीन-चार दिन के अंदर लाईन चालू कर दी जाएगी। लो वोल्टेज की समस्या पर ध्यान आकृष्ट करते हुए डॉ. बिसेन ने कहा कि लोड के हिसाब से जहां-जहां सब स्टेशन की आवश्यकता है, वहां के प्रस्ताव भेजे जाएं। उन्होंने कहा कि विभाग प्रस्ताव भेजे स्वीकृत कराने की जवाबदारी मेरी होगी। इस अवसर पर अधीक्षण अभियंता मिश्रा एवं कार्यपालन अभियंता साहू ने कुरई में 132 केव्ही सब स्टेशन स्वीकृत होने की जानकारी दिया।


बैठक में उपभोक्ताओं की बिलिंग में आ रही शिकायतों पर डॉ. बिसेन ने अधिकारियों से कहा कि यह आपकी जवाबदारी हैं कि जिस एजेन्सी को यह काम सौंपा गया हैं उस पर नियंत्रण रखें। साथ ही गलत बिलिंग पर संबंधित के विरूद्ध कठोर कार्रवाई करें। उपभोक्ता गलत बिलिंग को लेकर यदि परेशान होगा तो यह बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

जिले में 263 फीडर में से मात्र 66 फीडर के सेफरेशन मामले में डॉ. बिसेन ने अप्रसन्नता जताते हुए कहा कि इस तरह का भेदभाव नहीं होना चाहिए। बैठक में कार्यपालन अभियंता लखनादौन सुनील त्रिपाठी, कार्यपालन अभियंता (एस.टी.एन.) खुशयाल शिववंशी, सहायक यंत्री अंकित दुबे, कौशल किशोर, देशमुख, बीएस तेकाम, पल्लव स्वर्णकार एवं जनपद उपाध्यक्ष चंद्रवंशी, भाजपा नेता दिलीप अग्रवाल, संजू मिश्रा आदि उपस्थित रहे।

akhilesh thakur Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned