फोटो कॉपी की दुकान से ईंट खरीदती है ग्राम पंचायत सर्रा, पंचायत दर्पण पर लगाए बिल से खुलासा

सचिव बोले, ईंट वाले को पहले दे दिया था पैसे इसलिए दूसरे से लेकर लगाया बिल

By: akhilesh thakur

Published: 17 Sep 2021, 11:58 AM IST

सिवनी/धनौरा. धनौरा विकासखंड के ग्राम पंचायतों में फर्जी बिल लगाकर शासकीय पैसे का बंदरबांट किया जा रहा है। इसका खुलासा पंचायत दर्पण पर लगाए गए एक बिल से हुआ है। बिल फोटो कॉपी की दुकान की है। ग्राम पंचायत ने उस बिल का प्रयोग ईंट की खरीदी करने के बाद उसको किए गए भुगतान के संबंध में पंचायत दर्पण पर अपलोड किया है।
ग्राम पंचायत सर्रा में बीते कुछ माह पूर्व एक शेड का निर्माण कराया गया है। उक्त शेड में ईंट का प्रयोग किया गया है। उक्त ईंट की खरीदी ग्राम पंचायत ने २५ हजार रुपए में की है। २५ हजार रुपए में किए गए ईंट की खरीदी के लिए ग्राम पंचायत ने जिस बिल का प्रयोग किया है। राज टेलीकाम मेन रोड धूमा का है। उक्त टेलीकाम पर फोटो कॉपी, स्टेशनरी, फोटो एवं कम्प्यूटर संबंधी सभी कार्य किए जाने के उल्लेख है। उक्त टेलीकाम द्वारा ईंट की बिक्री नहीं की जाती है। ऐसे में ईंट की खरीदी में इस बिल का प्रयोग ग्राम पंचायत ने कैसे कर दिए। खास है कि इस मामले में ग्राम पंचायत सचिव का बयान भी अजीबो-गरीब है। इससे सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है कि पंचायातों में चल रहे कार्य को लेकर धरातल पर नुमाइंदे कितने गंभीर है। ग्राम पंचायत सचिव ताराचंद यादव ने बताया कि ईंट मैंने पहले खरीद लिया था, जिससे ईंट लिया था उससे बिल नहीं ले पाया। इसलिए टेलीकाम से बिल लेकर लगाया हूं।


गौ-शाला निर्माण में लगाए जा रहे गुणवत्ताविहीन ईंट, ग्रामीणों ने किया विरोध
स्थनीय जनपद पंचायत के ग्राम जामुनपानी में करीब ३८ लाख रुपए की लागत से गौ-शाला का निर्माण कराया जा रहा है। यह कार्य अभी तक पूरा नहीं हुआ है। ग्रामीणों की माने तो गौ-शाला निर्माण करने की समय-सीमा पार हो चुकी है। ग्रामीणों ने आरोप लगाया है कि उसमें जिस ईंट का प्रयोग किया जा रहा है। उसकी गुणवत्ता सही नहीं है। इस संबंध में ग्राम पंचायत सचिव छोटे खान ने बताया कि यह कार्य एई और जेई की निगरानी में हो रहा है। कार्य की गुणवत्ता को लेकर अभी तक किसी ने शिकायत नहीं किया है।

akhilesh thakur Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned