इधर मरीज कतार में, वहां ओपीडी बंद

mantosh singh

Publish: Mar, 14 2018 03:30:00 PM (IST)

Seoni, Madhya Pradesh, India
इधर मरीज कतार में, वहां ओपीडी बंद

नेट बंद होने से हस्त लिखित बनाई पर्ची, शासकीय कर्मी को पर्ची से हुई परेशानी

सिवनी. इंटरनेट सर्वर डाउन होने के चलते मंगलवार को जिला अस्पताल की ओपीडी में पर्ची बनाने कतार में खड़े मरीजों को खासी परेशानियों का सामना करना पड़ा। दोपहर तक मरीज ओपीडी की कतार में लगे रहे वहीं मुख्य ओपीडी अपने निर्धारित समय पर बंद हो गई।
मंगलवार की सुबह लगभग 11.30 बजे सर्वर डाउन हो गया जिससे ओपीडी में कंप्यूटर से ऑनलाइन पर्ची बनाने का काम पूर्णता ठप हो गया। पर्ची एक सादे कागज में लिख कर मरीज को थमाई गई और उसका नाम पता एक रजिस्टर में दर्ज किया गया। एक-एक मरीज की पर्ची बनाने में कापी वक्त लगा और अत्यधिक विलंब के चलते दोपहर एक बजे तक सुबह की ओपीडी दोपहर एक बजे बंद हो गई। मरीज की पर्ची जब तक बनकर उन्हें मिली और वे उपचार के लिए सुबह खुलने वाली ओपीडी में बैठे डॉक्टर को जांच कराने पहुंचे तो वहां उन्हें ताला लगा मिला। मरीज मुख्य ओपीडी से निराश होकर दोपहर एक बजे खुलने वाली ओपीडी पहुंचे। समय पर जांच व उपचार नहीं मिलने से गंभीर रूप से बीमार मरीजों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। कम्प्यूटर से ओपीडी की पर्ची नहीं निकलने और हाथ से बनी बिना सील युक्त पर्ची जब वहां कुछ बीमार शासकीय कर्मी को मिली तो वे अपने कार्यालय में उक्त पर्ची को जमा किए जाने को लेकर खासे परेशान व चिंतित नजर आए।
एक सैकड़ा मरीज की पर्ची कम्प्यूटर से नहीं बन पाने और हाथ से लिखा-पढ़ी कार्य किए जाने के चलते पर्ची काउन्डर में मरीजों की भीड़ दोपहर तक लगी रही। विलम्ब होने पर मरीजों में नाराजगी भी देखी गई।
इनका कहना है
नेट की समस्या आने के कारण कम्प्यूटर से मरीजों की प्रथम पर्ची नहीं बन सकी। समय पर मरीजों का उपचार हो इसके लिए हाथ से लिखी पर्ची पर ही डॉक्टरों ने मरीजों की जांच की।
डॉ. पी सूर्या, आरएमओ, सिवनी।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned