इधर बीआरसीसी की कुर्सी के लिए मची खींचतान!

इधर बीआरसीसी की कुर्सी के लिए मची खींचतान!

Sunil Vandewar | Publish: Mar, 10 2019 09:12:26 PM (IST) Seoni, Seoni, Madhya Pradesh, India

उइके का आदेश जारी, राय भी दिखा रहे वजनदारी

सिवनी. जिले के छपारा विकासखण्ड में बीआरसीसी की कुर्सी को लेकर खींचतान की स्थिति नजर आ रही है। एक तरफ जिला पंचायत के आदेश पर नए बीआरसीसी गोविंद उइके ने कार्यालय में आमद दे दी है, तो वहीं दूसरी तरफ पुराने बीआरसीसी सुनील राय कुर्सी छोडऩे को राजी नहीं हैं। यह शिक्षा जगत में चर्चा का विषय बना हुआ है।
जारी हुआ ये आदेश पत्र -
शिक्षक संगठन प्रमुख के माध्यम से प्राप्त पत्र अनुसार जिला पंचायत सीइओ के हस्ताक्षर से बीआरसीसी छपारा के लिए ०८ मार्च को जारी अस्थायी आदेश पत्र जारी हुआ है। इसमें गोङ्क्षवद उइके वरिष्ठ अध्यापक शासकीय हाइस्कूल अंजनिया विकासखण्ड छपारा को सर्वशिक्षा अभियान की विभिन्न गतिविधियों का सुचारू संचालन किए जाने के उद्देश्य से जनपद शिक्षा केन्द्र छपारा के रिक्त पद पर आगामी आदेश तक प्रशासनिक तौर पर बीआरसीसी के समस्त कार्यालयीन एवं वित्तीय दायित्वों के निर्वहन का कार्य सौंपा जाता है। इसके साथ ही पत्र अनुसार वरिष्ठ अध्यापक सुनील राय को पुन: आदेशित कर कहा गया है कि अपना संपूर्ण प्रभार तत्काल गोविंद उइके वरिष्ठ अध्यापक को सौंपते हुए मूल शैक्षणिक संस्था शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय कातलबोड़ी विकासखण्ड सिवनी के लिए कार्यमुक्त किया जाता है। उइके की वेतन व्यवस्था उनके मूल संस्था से देय होगी। सौंपे गए कार्य में लापरवाही पायी जाने पर अस्थायी आदेश तत्काल निरस्त कर दिया जाएगा। उक्त आदेश तत्काल प्रभावशील होगा।
उठ रहे हैं कई सवाल -
छपारा बीआरसीसी के पद पर बिना आवेदन बुलाए सीधे एक शिक्षक को कार्य आदेश जारी कर दिया जाना और वह भी ऐसी संस्था से जहां के एक शिक्षक को बीते महीने ही सिवनी बीआरसीसी बनाया गया है। ऐसे में शासकीय हाइस्कूल अंजनिया में शिक्षकों की कमी की स्थिति निर्मित हो सकती है। छपारा में बीआरसीसी रहे सुनील राय को उत्कृष्ट कार्य के लिए प्रशासन द्वारा गणतंत्र दिवस पर सम्मानित किया जा चुका है, ऐसे में बिना किसी कारण उन्हें मूल पद पर भेजा जाना भी चर्चा का विषय है। राय ने दूसरी प्रतिनियुक्ति पर भी सवाल उठाए हैं कि क्यों लोग सात-सात साल से जमे हैं, उन पर क्यों मेहरबानी है।
मैंने कर लिया है ज्वाइन -
मुझे छपारा बीआरसीसी का कार्य आदेश शनिवार को मिला था, मैंने वहां ज्वाइन कर लिया है। राय की पुन: नियुक्ति की मुझे कोई जानकारी नहीं है। मैं तो बीआरसीसी कार्यालय जाऊंगा, वहीं कार्य का आदेश प्राप्त हुआ, जैसा अधिकारियों का निर्देश होगा वैसा किया जाएगा।
गोविंद उइके, नवनियुक्त बीआरसीसी छपारा

अच्छा किया काम, हुई वापसी -
मुझे बिना कारण बीआरसीसी पद से हटाया गया था, अब अच्छे काम का ही परिणाम है कि वापसी हुई है। मैंने अच्छा काम किया था,इसलिए प्रशासन ने सम्मानित किया था। अंजनिया के दो शिक्षक बीआरसीसी बनाने के आदेश दिए गए, वहां पढ़ाएगा कौन, यह भी देखना चाहिए। जो लोग सात साल से जमे हैं, विवादों में रहे हैं, उनको पहले हटाना चाहिए। मेरा आदेश पत्र सोमवार को आपको दे दूंगा।
सुनील राय, पूर्व बीआरसीसी छपारा

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned