अध्यापक कब तक करें क्रमोन्नति आदेश का इंतजार

अध्यापक कब तक करें क्रमोन्नति आदेश का इंतजार

Sunil Vandewar | Publish: Jun, 16 2019 05:03:58 PM (IST) Seoni, Seoni, Madhya Pradesh, India

नए केडर में आने से अध्यापकों की बढ़़ी समस्या, कर रहे मांग

सिवनी. अध्यापक सह संविदा शाला शिक्षक संघ के जिला अध्यक्ष श्रवण डहरवाल ने कहा कि अध्यापक संवर्ग का नए केडर में आने पर लगातार समस्या में वृद्धि हो रही है। कहा कि अब तक अध्यापक संवर्ग की 3 माह से वेतन नहीं हुई है। 30 जून 2018 के बाद 12 साल पूर्ण करने वालों अध्यापक जिनका प्राथमिक, माध्यमिक और उच्च माध्यमिक में संविलियन किया गया है। उनकी क्रमोन्नति भी जिला पंचायत द्वारा जा रही थी, जिसे जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय द्वारा रोक दिया गया है।
कहा कि यह पूरी समस्या अध्यापक संवर्ग के नई केडर में आने के कारण उत्पन्न हो रही है। जिला पंचायत कार्यालय में पूछने पर कहा जाता है कि वर्तमान में अध्यापक संवर्ग के संविलियन आदेश जारी होते तक नियोक्ता हम हैं अत: क्रमोन्नति आदेश हम करेंगे, नए केडर, आदेश जारी होने के बाद के नियोक्ता सहायक आयुक्त आदिवासी विकास एवं जिला शिक्षा अधिकारी होने के कारण इनके द्वारा किए जाएंगे। इस तथ्य के आधार पर क्रमोन्नति नहीं की जा रही है।
आरोप लगाया कि ट्राइबल विभाग में पर्याप्त आवंटन होने के बाद भी ट्राईबल ब्लॉक के अध्यापकों को अब तक वेतन नहीं हो पाया है। इसका मुख्य कारण वेतन संवितरण अधिकारी द्वारा एम्पलाई कोड जारी ना करना है। जिसकी संपूर्ण जवाबदारी संवितरण अधिकारी की है।
श्रवण कुमार डहरवाल जिला अध्यक्ष अध्यापक संविदा शिक्षक संघ एवं मध्य प्रदेश राज्य कर्मचारी संगठन सिवनी ने कहा कि आदेशों के अनुसार बार-बार अध्यापकों का कैडर नाम परिवर्तित होने के बाद भी कोई पदोन्नति और क्रमोन्नति पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा। शासन का स्पष्ट आदेश है कि 7 वर्ष की पदोन्नति कि 7 वर्ष की पदोन्नति एवं 12 वर्ष में क्रमोन्नति देना है। जिसके लिए साल में दो बार डीपीसी बिठाई जाती है अत: क्रमोन्नति का इस प्रकार रोकना ठीक नहीं है। सभी अध्यापकों की क्रमोन्नति अतिशीघ्र होनी चाहिए क्योंकि अध्यापकों के साथ लगातार अन्याय किया जा रहा है।
यदि समय पर वेतन और क्रमोन्नति आदेश जारी नहीं होते हैं, तो अध्यापक संघ आंदोलन के लिए बाध्य होगा। संघ के पदाधिकारी श्रवण कुमार डहरवाल, संजय तिवारी, मनीष मिश्रा, मुकेश ठाकुर, पंतलाल, मोहम्मद सलीम खान, मनीराम वैश्य, गोविंद उइके, अनिल राजपूत, प्रेम गगन सनोरिया, इंद्र कुमार, राजकुमार बघेल, तान सिंह पटेल, मनीष तिवारी, अविनाश शर्मा, राजेश ठाकुर, योगेश देशमुख, तरुण श्रीवास्तव, श्रीराम पटले, प्रीति बक्शी, अदिति जरगर व अन्य के द्वारा शीघ्र क्रमोन्नति आदेश करने की मांग की गई है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned