मानवता का कल्याण करना है तो मन में सबसे गरीब, कमजोर व्यक्ति की छवि को देखें

पीजी कॉलेज में गांधी दर्शन पर हुए व्याख्यान

सिवनी. शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय में व्यक्तित्व विकास प्रकोष्ठ के तत्वावधान में गांधी दर्शन पर व्याख्यान माला आयोजित की गई। जिसमें प्रमुख वक्ता के रूप में प्रो. एसके तिवारी उपस्थित रहे कार्यक्रम का संचालन प्रकोष्ठ की संयोजक डॉ. ज्योत्सना वी नावकर ने किया।
प्रो. तिवारी ने गांधी दर्शन पर विस्तृत व्याख्यान देते हुए कहा कि उनके व्यक्तित्व का विकास किस प्रकार हुआ संयोजक डॉ. ज्योत्सना वी. नावकर ने बताया कि गांधी ने मोहन से महात्मा का सफर कैसे तय किया।
प्रकोष्ठ के जिला संयोजक प्रो. बाटड द्वारा गांधी के जीवन पर प्रकाश डालते हुए बताया कि वे सच्चे लोकतंत्र की स्थापना चाहते थे प्रो. बाटड ने गांधीजी के द्वारा दिए गए जतर का उल्लेख किया कि जब भी आपके दिमाग में संशय हो, आपका वहम आप हॉवी हो रहा हो उस समय अपने मन में सबसे गरीब एवं कमजोर व्यक्ति की छवि देखिए इसके पश्चात आप जो भी कदम उठाएंगे उसी से मानवता का कल्याण होगा। गांधी हमें पर्यावरण की रक्षा करने बेरोजगारी का समाधान ढूंढने तथा विश्व शांति को स्थापित करने का भी समाधान बताते हैं। इस अवसर पर प्रो. आरएस नाग, डॉ. डीआर डहेरिया, केके बरमैया, डॉ. एमएस बघेल, डॉ. दिव्या डहेरिया, डॉ. लीडिया कुमरे, डॉ. संदीप शुक्ला एवं महाविद्यालय के विद्यार्थी उपस्थित रहें।

Show More
santosh dubey
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned