कोई भारत बंद के समर्थन में, कोई कर रहा विरोध

कोई भारत बंद के समर्थन में, कोई कर रहा विरोध

Sunil Vandewar | Publish: Apr, 01 2018 11:36:40 AM (IST) Seoni, Madhya Pradesh, India

दो अपै्रल को किया गया है बंद का आव्हान

सिवनी. सामान्य पिछड़ा एवं अल्पसंख्यक वर्ग अधिकारी-कर्मचारी संस्था सपाक्स एवं सपाक्स समाज संस्था, सपाक्स युवा संगठन, सपाक्स महिला संगठन ने कहा है कि सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय के विरोध में 2 अप्रैल को भारत बंद का आव्हान अनुसूचित जाति, जनजाति वर्ग ने किया है। सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय पर कानूनन अभी पुनर्विचार का रास्ता है और सरकार इसके लिए आगे बढ़ रही है। ऐसे में भारत बंद का रास्ता न सिर्फ असंवैधानिक है बल्कि सर्वोच्च न्यायालय की अवमानना भी है।
जिला नोडल अधिकारी एवं जिला अध्यक्ष सपाक्स प्रद्युम्न चतुर्वेदी, जिला नोडल अधिकारी एवं कार्यकारी अध्यक्ष सपाक्स एनएस बैस ने सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय का स्वागत किया है। सपाक्स मीडिया प्रभारी ने बताया कि 20 मार्च को सर्वोच्च न्यायालय ने अपने एक अहम निर्णय में एट्रोसिटी अधिनियम में किसी शिकायत पर आरोपी को बगैर जांच किए गिरफ्तार कर जेल भेजने को असंगत ठहराया और शासकीय कर्मी के प्रकरण में गिरफ्तारी पूर्व वरिष्ठ अधिकारी की अनुमति की बाध्यता स्थापित कर दी। इस निर्णय के बाद से ही इस मुद्दे पर राजनीति गर्म है। सभी राजनीतिक दल जिस संविधान की दिन-रात दुहाई देते हैं, उसकी व्याख्या भी वैसी चाहते हैं जो उन्हें रास आए। सपाक्स ने कहा कि इस बंद से न सिर्फ जनजीवन प्रभावित होगा बल्कि देश को बड़ा आर्थिक नुकसान भी होगा।
बंद के समर्थन में आए प्रांतीय अध्यक्ष
सिवनी. मेहरा समाज महासंघ के प्रांतीय अध्यक्ष राम प्रसाद डहेरिया ने जारी विज्ञप्ति में बताया कि न्यायालय के द्वारा दिए गए आदेश से अनुसूचित जाति.जनजाति वर्ग के लोगों में निराशा व्याप्त है। इसी को लेकर आगामी 2 अप्रैल को भारत बंद का आहवान किया गया है। इसका समर्थन करते हुए मध्य प्रदेश बंद का आह्वान मेहरा समाज महासंघ के प्रांतीय अध्यक्ष राम प्रसाद डहेरिया ने किया है।
बंद के समर्थक होंगे एकत्रित
सिवनी। एससी एसटी वर्ग के विभिन्न संगठनों के द्वारा सोमवार को भारत बंद का आव्हान किया गया है। इसी के तहत समस्त एससी एसटी वर्ग के सदस्य व पदाधिकारी नगर पालिका परिषद सिवनी के सामने सुबह 8 बजे एकत्रित होंगे जहां से वे रैली के रूप में व्यापारिक क्षेत्र में पहुंचकर प्रतिष्ठान बंद करने का आव्हान करेंगे। सिवनी जिला में बंद का आह्वान व समर्थन के लिए अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति समाज वर्ग के संगठनों व सामाजिक नेतृत्वकर्ताओं के द्वारा किया गया है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned