मुखबिर ने दी खबर, पुलिस ने 35 लाख की गाड़ी सहित पकड़ा माल

अवैध खनन-परिवहन से बेखबर खनिज विभाग, कोतवाली पुलिस ने कार्रवाई

By: sunil vanderwar

Published: 13 Oct 2021, 07:48 PM IST

सिवनी. जिले के अलग-अलग हिस्सों से अवैध रेत खनन, परिवहन की खबरें आए दिन सामने आ रही हैं। इसके बावजूद खनिज विभाग का अमला इस पर गंभीर नहीं है। कोतवाली पुलिस की कार्रवाई खुद बयान कर रही है, कि किस कदर धड़ल्ले से अवैध रेत खनन, परिवहन हो रहा है। पुलिस ने रेत से भरे हाइवा (डम्पर) को बरामद किया है। बरामद कुल माल की कीमत ३५ लाख रुपए से ज्यादा की है।
कोतवाली थाना प्रभारी महादेव नागोतिया ने बताया कि सोमवार को मुखबिर से सूचना मिली कि एक हाइवा वाहन अवैध उत्खनन कर जनता होते हुए खैरीटेक से छिन्दवाड़ा की ओर जा रहा है। इस सूचना पर एसडीओपी पारूल शर्मा के द्वारा कोतलवाली थाना प्रभारी को बल के साथ कार्रवाई के लिए निर्देशित किया।
थाना प्रभारी ने पुलिस टीम का गठन कर खैरीटेक चौक के पास वाहन चैकिंग लगाई। तभी जनता नगर की ओर से आ रहे हाइवा वाहन क्रमांक एमपी २२ एच १३८४ जिसमें रेत भरी हुई थी, को रोककर पूछताछ की गई। पूछताछ करने पर चालक एवं उसके साथी द्वारा रेत परिवहन के सम्बंध में कोई कागजात नहीं होना बताया गया।
पुलिस ने हाइवा वाहन का ओम धर्मकांटा में वजन कराया, जिसका वजन ४६१५० किलोग्राम पाया गया, जो हाइवा की तय परिवहन क्षमता से अधिक था। इस तरह ओवरलोड व अनाधिकृत रूप से हाइवा में रेत परिवहन होना पाया गया। वाहन चालक व मालिक के विरूद्ध कोतवाली पुलिस ने खान एवं खनिज अपराध एवं मोटर वीकल एक्ट के तहत प्रकरण कायम किया।
पुलिस के द्वारा आरोपी महेन्द्र बिसेन निवासी पाठापार थाना अरी एवं महेन्द्र साहू निवासी समसवाड़ा थाना चौरई जिला छिंदवाड़ा से हाइवा वाहन जिसकी कीमत ३५ लाख रुपए है, इसके अलावा हाइवा में भरी रेत जिसकी कीमत ३० हजार रूपए है, जब्त की गई है। इस तरह कुल जब्त सामग्री ३५.३० लाख रुपए की है। इस कार्रवाई में कोतवाली थाना प्रभारी महादेव नागोतिया, एएसआई मुकेश चौहान व स्टॉफ का योगदान रहा।

दो महीना पहले बरघाट पुलिस ने की थी बड़ी कार्रवाई

अवैध उत्खनन के मामले में बरघाट थाना पुलिस ने ८ अगस्त को मुखबिर की सूचना पर ग्राम खामी में दबिश देकर करीब २५ डम्पर डम्प की गई रेत और एक पोकलेन मशीन जब्त की गई। इसके अलावा खामी की हिर्री नदी के किनारे छपारा घाट में शासकीय भूमि से १० डम्पर डम्प अवैध रेत बरामद की गई थी। इस तरह ७ लाख रुपए कीमत की ३५ डम्पर डम्प रेत के अलावा ३५ लाख रुपए कीमत की एक पोकलेन मशीन जब्त की गई थी।

जिले में बढ़े रेत के दाम, माफिया मालामाल -
रेत खनन पर शासन-प्रशासन के निर्देशों और सख्ती के बावजूद अवैध खनन, तस्करी का खेल चल रहा है। इस तरह से खनन माफिया मालामाल हो रहे हैं, जबकि शासन को भारी राजस्व का नुकसान हो रहा है। जिले के बरघाट, अरी, गंगेरूआ, कुरई, केवलारी, उगली, खवासा आदि क्षेत्रों से आए दिन रेत के अवैध खनन, परिवहन के मामले सामने आ रहे हैं, इसके बावजूद कार्रवाई में ध्यान न दिए जाने की स्थिति नजर आती रही है।
खनिज विभाग का मुखबिर तंत्र फेल -
इस कार्रवाई की ओर गौर करें तो मुखबिर की खबर पर कोतवाली पुलिस ने कार्रवाई को अंजाम दिया है। अहम सवाल है कि रेत माफिया पर नियंत्रण के लिए खनिज विभाग को अपने मुखबिर अधिक सक्रिय करने चाहिए, लेकिन ऐसा हो नहीं रहा है। मुखबिर तंत्र को विकसित न करते हुए खनिज विभाग महज औपचारिकता ही निभा रहा है।

Show More
sunil vanderwar Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned