न्यायाधीश ने कहा बंदियों को मिले कानूनी मदद

न्यायाधीश ने कहा बंदियों को मिले कानूनी मदद

Sunil Vandewar | Publish: Apr, 09 2018 01:58:11 PM (IST) Seoni, Madhya Pradesh, India

उपजेल में विधिक साक्षरता शिविर में पहुंचे न्यायाधीश

सिवनी. मप्र राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण जबलपुर व जिला के निर्देश पर तहसील विधिक सेवा समिति लखनादौन के अध्यक्ष अतिरिक्त जिला न्यायाधीश मोहित दीवान के द्वारा उपजेल लखनादौन में प्रथम विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन किया गया।
विधिक साक्षरता के सम्बंध में बंदियों के अधिकारों के विषय में जानकारी दी गई। न्यायाधीश के द्वारा उपजेल अधीक्षक अभय वर्मा से बंदियों की पेशी व उनके प्रकरणों के सम्ंध में जानकारी ली गई। उन्होंने बंदियों के प्रकरणों में अतिशीघ्र कार्रवाई किए जाने का आश्वासन दिया है। इसके अलावा जिन बंदियों के प्रकरण में न्यायालय में पैरवी के लिए अधिवक्ता की सेवा उपलब्ध नहीं है। उनके लिए विधिक सेवा के माध्यम से अधिवक्ता नियुक्त कराने के भी निर्देश न्यायाधीश के द्वारा दिए गए हैं।
अतिरिक्त जिला न्यायाधीश मोहित दीवान के द्वारा जेल प्रबंधन की व्यवस्था, कार्यशैली एवं स्वच्छता की प्रशंसा की गई। आयोजित विधिक साक्षरता शिविर में जेएमएफसी लखनादौन अरविंद सिंह टेकाम, सुनीता ताराम की उपस्थिति रही। इस अवसर पर जेल स्टाफ में मुख्य प्रहरी राजरूप सिंह, राजेन्द्र तिवारी, सेंड्रिक मसीह, घनश्याम भाजीपाले, चुन्नीलाल, डोमनसिंह, दुर्वेन्द्र सिलावट, रामकुमार, मिहीलाल, फैजान एवं अन्य प्रहरी की सहभागिता रही। शिविर के विधिवत आयोजन में तहसील विधिक सेवा समिति के सहायक ग्रेड-३ कृष्ण कुमार गजभिये, पैरालीगल वालेंटियर्स नीतेश सोनी, जगदीश नंदौरे की उपस्थिति रही।

अप्रशिक्षित शिक्षकों ने सीखा फाइल बनाना, मूल्यांकन करना
सिवनी. राष्ट्रीय मुक्त विद्यालयीन शिक्षा संस्थान द्वारा सेवारत अप्रशिक्षित अध्यापकों के लिए प्रारंभिक शिक्षा में द्वि-वर्षीय डिप्लोमा (डीएलएड) अध्ययन केन्द्र नेताजी सुभाष चंद्र बोस उच्चतर माध्यमिक विद्यालय सिवनी में जारी है।
रविवार को इस प्रशिक्षिण कार्यक्रम में परीक्षा में प्रश्न पत्रों को हल करने की तैयारी, केस स्टडी, पोर्टफोलियों फाइल तैयार करना एवं मूल्यांकन के विषय में जानकारी दी जा रही है।
अध्ययन केन्द्र के समन्वयक पीएन वारेश्वा, मास्टर टे्रनर डॉ. अ. शफी खान, कार्यक्रम प्रभारी मो. साबिर खान, रिसोर्स पर्सन पूजा पाण्डे, पंकज तिवारी, सचिन जैन के द्वारा अध्यापन कार्य किया गया। इस मौके पर करीब १०० डीएलएड शिक्षार्थियों की उपस्थिति रही। समन्वयक ने बताया कि शिक्षा का अधिकारी अधिनियम २००९ जो अपै्रल २०१० से प्रभावी है, इसके अनुसार सभी विद्यालयों में कार्यरत शिक्षकों का डीएलएड प्रशिक्षित होना अनिवार्य किया गया है।
सभी ब्लॉक में आजाद अध्यापकों के मुद्दों पर हुई चर्चा
सिवनी. आजाद अध्यापक संघ के प्रांतीय आव्हान पर रविवार को जिले के आठों ब्लॉक में संघ के पदाधिकारी, सदस्यों की बैठक आयोजित हुई। इसमें पदाधिकारी, सदस्यों के बीच संगठन की मुख्य मुद्दों पर चर्चा कर सहमति बनाई गई।
जिला अध्यक्ष कपिल बघेल ने बताया कि संगठन के द्वारा तय किया गया कि शिक्षा विभाग में संविलियन के आदेशों के लिए भोपाल में होने वाले सम्मेलन की तैयारी व मुख्यमंत्री से मुख्य मांग, संगठन की संकुल स्तर की कमेटियों का गठन और विस्तार, महिला अध्यापिकाओं को संगठन से जोडऩे और उनकी समस्याओं को प्राथमिकता, अध्यापकों के लिए सामूहिक बीमा के वैकल्पिक साधनों को अपनाना, जिला स्तरीय कार्यक्रमों में क्षेत्रीय संविदा गुरूजी, अध्यापकों को सक्रिय रूप से जोडऩा, जिले में अध्यापकों की वरिष्ठता सूची को जल्द से जल्द निष्पक्ष जारी करवाना आदि मुद्दों पर चर्चा हुई।
आजाद अध्यापक संघ के जिला अध्यक्ष ने बताया कि सिवनी में अनिल धुर्वे, छपारा में राजकुमार डहेरिया, लखनादौन में गजेन्द्र परवारी, घंसौर में शेख शफीक खान, धनौरा में निलेश जैन, केवलारी में जगदीश साहू, बरघाट में सुरेन्द्र गौतम, कुरई में टेलसिंह चौधरी की अध्यक्षता में बैठक आयोजित हुई। इसमें जिला कार्यकारिणी के गजेन्द्र पाण्डे, हीरेन्द्र श्रीवास्तव, मनोज शर्मा, शैलू दीक्षित, परमानंद टेंभरे, एन भोंसले, अंकित मिश्रा, मुकेश नामदेव, प्रताप बघेल, बसंत बघेल आदि अध्यापकों ने सहभागिता निभाई।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned