mp board result - जिले का कम रहा परिणाम, बिटिया ने प्रदेश में किया नाम

Sunil Vandewar

Publish: May, 16 2019 12:19:12 PM (IST)

Seoni, Seoni, Madhya Pradesh, India

सिवनी. एमपी बोर्ड के घोषित हुए परीक्षा परिणाम बीते साल के मुकाबले कम रहे हैं। लेकिन इस बार प्रदेश की प्रावीण्य सूची में जिले के विद्यार्थियों ने अपनी जगह बनाकर सिवनी का नाम प्रदेश में रोशन किया है। माध्यमिक शिक्षा मंडल मप्र भोपाल द्वारा हायरसेकेण्डरी परीक्षा वर्ष 2019 का परीक्षा परिणाम बुधवार को प्रात: 11 बजे घोषित कर दिया गया है। प्रदेश का हायरसेकेण्डरी परीक्षा का कुल परिणाम 73.37 प्रतिशत रहा हैं, जबलपुर संभाग में हायरसेकेण्डरी परीक्षा परिणाम में सिवनी जिलें की स्थिति पांचवा स्थान पर रही है, जबकि विगत वर्ष यह जिला जबलपुर संभाग में पहला स्थान पर था। विगत वर्ष की अपेक्षा वर्ष 2019 के हायरसेकेण्डरी परीक्षा परिणाम में इस जिलें में 5.02 प्रतिशत की कमी हुई है।
मंडल द्वारा जारी प्रदेशस्तरीय टॉप-10 सूची में कला संकाय में दृष्टि पिता शिवशंकर सनोडिय़ा शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय सिवनी के द्वारा 479 (९५.८ प्रतिशत) अंक प्राप्त कर प्रथम स्थान प्राप्त किया गया है। कला संकाय में ही साहिस्ता पिता युसुफ खान शासकीय उमावि बोरीकला ने 471 (९४.२ प्रतिशत) अंक प्राप्त कर चौथा स्थान। वाणिज्य संकाय में सागर पिता सुरेश नेमा शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय सिवनी के द्वारा 480 (९६ प्रतिशत) अंक प्राप्त कर चौथा स्थान। जीवविज्ञान संकाय में प्रिन्सी पिता सुनील कोरी मिशन इंग्लिश उमावि सिवनी के द्वारा 470 (९४ प्रतिशत) अंक प्राप्त कर छटवां स्थान पर तथा जीवविज्ञान संकाय में ही चेतना पिता तिवेन्द्र शासकीय उमावि दरासीकला के द्वारा 466 (९३.२ प्रतिशत) अंक प्राप्त कर दसवां स्थान प्राप्त कर जिले को गौरांवित किया है। उल्लेखनीय है, कि विगत वर्ष प्रदेशस्तरीय टॉप-10 सूची में इस जिले से 01 छात्रा सम्मिलत हुई थी, जबकि वर्ष 2018-19 में इस जिले से 05 छात्र-छात्रायें प्रदेशस्तरीय टॉप-10 सूची में सम्मिलित हुई है।
१२वीं में जिले के ये हैं टॉपर -
मंडल मुख्यालय भोपाल से जारी हायरसेकेण्डरी की जिलास्तरीय टॉप-3 सूची में कला संकाय अंतर्गत शैलेष पिता केदारसिंह राहंगडाले, शासकीय उमावि धारनाकला के द्वारा 458 अंक प्राप्त कर प्रथम स्थान। अजीत पिता कौशल सिंह शासकीय उमावि खैररांजी 456 अंक प्राप्त कर द्वितीय स्थान पर। जीवविज्ञान/गणित संकाय में साजन पिता अशोक कुमार डेहरिया शास उमावि सुकतरा के द्वारा 473 अंक प्राप्त कर प्रथम स्थान। मिनी पिता मनोज नेमा उमावि आदेगांव के द्वारा 471 अंक प्राप्त कर द्वितीय स्थान। प्रदीप पिता हरीशचन्द्र साहू शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय सिवनी के द्वारा 462 अंक प्राप्त कर तृतीय स्थान। वाणिज्य संकाय में शिवकला पिता कमलकांत कटरे, मिशन इंग्लिश सिवनी के द्वारा 455 अंक प्राप्त प्रथम स्थान। देवेश पिता नेमीचंद सनोडिय़ा उत्कृष्ट सिवनी। पायल पिता रविन्द्र सिहारे सरस्वती उमावि सिवनी के द्वारा तथा जिया पिता संजय चौकसे उमावि कन्या लखनादौंन के द्वारा 441-441 अंक प्राप्त करते हुए तृतीय स्थान पर एवं कृषि संकाय में हर्षिकेश पिता जोगेन्द्र बिसेन शासकीय उमावि अरी के द्वारा 456 अंक प्राप्त कर जिले की टॉप-3 सूची में स्थान प्राप्त करते हुए इस जिले को गौरान्वित किया है।
१०वीं का परीक्षा परिणाम हुआ कम -
हाईस्कूल परीक्षा वर्ष 2019 का कुल परीक्षा परिणाम 61.32 प्रतिशत रहा है। जबलपुर संभाग में हाइस्कूल परीक्षा परिणाम में सिवनी जिले की स्थिति जिला जबलपुर संभाग में द्वितीय स्थान पर था, विगत वर्ष की अपेक्षा वर्ष 2019 के हाईस्कूल परीक्षा परिणाम में इस जिले मेंं 9.04 प्रतिशत की कमी हुई है।
प्रदेश की सूची में बनाया अपना स्थान -
मंडल द्वारा जारी हाइस्कूल की प्रदेशस्तरीय टॉप-10 सूची में दुर्गेश पिता राजेश कुमार सनोडिय़ा शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय सिवनी के द्वारा 494 (९८.८ प्रतिशत) अंक प्राप्त कर पांचवे स्थान पर। शुभांगी पिता शिवनाथ डोंगरे सरस्वती उमावि सिवनी के द्वारा 493 (९८.६ प्रतिशत) अंक प्राप्त कर छटवें स्थान पर। पूर्वा पिता रजुआ चक्रवर्ती शासकीय हाइस्कूल बम्होड़ी (बरघाट) के द्वारा 489 अंक प्राप्त कर दसवां स्थान प्राप्त किया गया है। उल्लेखनीय है कि विगत वर्ष इस सूची में जिले के 02 छात्र/छात्रायें सम्मिलित हुये थे।
जिला स्तर पर ये हैं टॉप पर -
मंडल मुख्यालय भोपाल से जारी हाइस्कूल की जिलास्तरीय टॉप-3 सूची में अश्विनि पिता अनुप कुमार दुबे शासकीय उमावि मॉडल लखनादौंन के द्वारा 488 अंक प्राप्त कर प्रथम स्थान। मोहित पिता नारायण सिंह चन्द्रवंशी हाईस्कूल बगलई के द्वारा 487 अंक प्राप्त कर द्वितीय स्थान तथा रोहित पिता दयासिंह डेहरिया शासकीय हाइस्कूल जाम के द्वारा 486 अंक प्राप्त कर तृतीय स्थान प्राप्त किया गया है।
असफलता से कभी न घबराना -
कलेक्टर प्रवीण सिंह द्वारा सफल व असफल विद्यार्थियों को तनावमुक्त रहने, सतत प्रयास से सफलता पाने की प्रेरणा देते कहा गया कि ऐसे अनेक महान और सफल व्यक्ति हुए हैं। जिन्होंने अपनी स्कूली शिक्षा में कमतर प्रदर्शन के बावजूद अपनी लगन और हिम्मत की बदौलत अपने पसंदीदा क्षेत्र में अभूतपूर्व सफलता अर्जित की है। अपना हौसला बनाए रखें, यदि एक अवसर और उपलब्ध है तो नियमित पढ़ाई करके उसका लाभ अवश्य लें, यदि नहीं तो अन्य वैकल्पिक रास्तों जैसे स्वाध्यायी या रुक जाना नहीं योजनाओं के माध्यम से प्रयास किया जा सकता है। परंतु किसी भी स्थिति में कोई अनुचित कदम न उठायें। सभी अभिभावकों से भी कहा है कि असफल और कम अंक लाने वाले बच्चों को निराश न होने दें, उनका हौसला बढ़ाकर उन्हें निराशा के गर्त से निकलने में मदद करें। शिक्षक और प्राचार्य सफल और असफल सभी विद्यार्थियों की समुचित कॉउंसलिंग करें।
दृष्टि बनना चाहती है आइएएस -

एमपी बोर्ड की प्रदेश स्तरीय प्रावीण्य सूची में सिवनी जिले की दृष्टि सनोडिया ने हायर सेकेण्डरी (१२वीं) के कला संकाय में ४७९ अंक प्राप्त कर पहला स्थान पाया है। १७ वर्ष उम्र की दृष्टि का लक्ष्य आइएएस कर कलेक्टर बनना है। दृष्टि ने कहा कि वह अपने माता-पिता का सपना पूरा करना चाहती है। कलेक्टर प्रवीण सिंह ने जब उनसे मुलाकात की, सम्मानित किया और पूछा कि क्या बनना चाहती हो, तो दृष्टि ने तपाक से कहा कि आपकी ही तरह कलेक्टर बनना है। कलेक्टर ने उसे शुभकामना दी। दृष्टि के पिता शिवशंकर सनोडिया शिक्षक हैं, जबकि माता सरला सनोडिया गृहिणी हैं।बताया कि बिना किसी कोचिंग के विद्यालय के बाद घर पर ६-७ घंटे रोजाना पढ़कर यह सफलता अर्जित की है। जब कभी थकान या तनाव होता तो वह बेडमिंटन या टेबिल-टेनिस खेला करती थी। दो बहनों में दृष्टि छोटी है। दृष्टि बीए ऑनर्स कर यूपीएससी के माध्यम से आइएएस बनने का हौसला रखती हैं। दूसरे विद्यार्थियों को संदेश दिया कि लक्ष्य बनाकर एकाग्रता और लगन से प्रयास करें, तो मंजिल पाना मुश्किल नहीं है। दृष्टि के माता-पिता ने कहा कि बेटी ने उन्हें वो खुशी दी है, जिसके लिए कभी सोचा भी नहीं था। कहा कि दोनों बेटियों को उनकी इच्छा से जो बनना चाहती हैं, उसके लिए हरसंभव सुविधा देने की कोशिश करेंगे।
----------------------
पिता किसान, मां करती है प्राइवेट जॉब -

वाणिज्य संकाय की प्रदेश स्तरीय प्रावीण्य सूची में 480 अंक प्राप्त कर चौथा स्थान बनाने वाले सागर नेमा बताते हैं कि उनके पिता सुरेश नेमा कृषि और माता मुक्ता नेमा प्राइवेट जॉब करते हैं। कहा कि वह रोजाना चार-पांच घंटे पढ़ता था। अपनी सफलता के लिए उसने शिक्षकों के साथ अपने माता-पिता को श्रेय दिया है। भविष्य में वह सीए बनना चाहता है, इसके लिए मां ने भी बेटे को हौसला देते हुए अपनी सहमति दी है। कलेक्टर ने सागर को गुलदस्ता भेंट कर पेन उपहार में दिया और कहा कि जब सीए बन जाओ तो इसी पेन से लिखना।
शिक्षक पिता से सीखा सबक -

हाइस्कूल की प्रदेशस्तरीय टॉप-10 सूची में दुर्गेश सनोडिय़ा ने 494 अंक प्राप्त कर पांचवा स्थान पाया है। दुर्गेश के पिता राजेश सनोडिया शासकीय शिक्षक हैं व माता गोल्डी सनोडिया गृहिणी हैं। दुर्गेश ने कहा कि उसे इससे बेहतर परिणाम की उम्मीद थी, फिर भी जो स्थान मिला उससे भी उत्साहजनक है। कलेक्टर से सम्मान पाने जब दुर्गेश पहुंचा तो घबराया हुआ था, कलेक्टर सिंह ने कहा कि बेटे घबराओ नहीं, तुमने तो शानदार रिजल्ट लाया है अब तो खुश होकर आगे की सोचो। माता-पिता व शिक्षकों की भी प्रशंसा की।

सफलता के लिए सतत प्रयास जरूरी -
आदिवासी बाहुल्य इस जिले के विद्यार्थियों ने अभूतपूर्व सफलता प्राप्त की है। आशा है सभी ने अपने-अपने प्रयास अनुसार परीक्षा परिणाम प्राप्त किया है। परीक्षा परिणाम में यदि कोई विद्यार्थी अनुत्तीर्ण हो जाएं या अपेक्षा अनुरुप कम अंक आए हों तो उन्हे हताश नही होना चाहिए और भविष्य में उत्कृष्ट परीक्षा परिणाम लाने के लिए सतत् प्रयास जारी रखना चाहिए।
प्रवीण सिंह, कलेक्टर सिवनी
फिर हो एक नई शुरुआत -
सफल परीक्षार्थियों को उज्जवल भविष्य की शुभकामना व जिन्हें परीक्षा में अपेक्षाकृत कम अंक प्राप्त हुए हैं अथवा किन्हीं कारणों से सफलता प्राप्त नहीं कर सके हैं। उन्हें भी निराश होने की कोई आवश्यकता नहीं है। क्योंकि जहां एक राह बंद होता है वहीं से कई और भी राहें खुलती हैं। अपनी कमियों और विशिष्टताओं को पहचान कर नए सिरे से भी शुरुआत की जा सकती है।
जीएस बघेल, प्रभारी डीइओ सिवनी
जिले के लिए गौरव की बात
विद्यार्थियों ने तो श्रेष्ठ प्रदर्शन किया ही है, शिक्षक-शिक्षिकाओं ने जो समर्पण भाव से शिक्षण कार्य किया है, उसी का परिणाम है, कि सिवनी जिले का नाम प्रदेश में रोशन हुआ है। सभी के प्रयास से विद्यालय के अध्ययनरत विद्यार्थियों ने नाम के अनुरूप उत्कृष्ट सफलता अर्जित की है।
आरपी बोरकर प्राचार्य, शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय सिवनी

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned