फसलों के नुकसान पर अब न्यूनतम 5 हजार और अधिकतम 1.20 लाख मिलेंगे

फसलों के नुकसान पर अब न्यूनतम 5 हजार और अधिकतम 1.20 लाख मिलेंगे

Sunil Vandewar | Publish: Apr, 07 2018 02:30:02 PM (IST) Seoni, Madhya Pradesh, India

कम मूल्य की फसल की क्षति होने पर अनुदान सहायता उस मूल्य के बराबर देय होगी

सिवनी. राज्य शासन द्वारा फरवरी 2018 में हुई ओलावृष्टि से फसलों के नुकसान तथा भविष्य में होने वाली इसी प्रकार की फसलों के नुकसान पर दिए जाने वाली राहत राशि में वृद्धि की गई है। इस संबंध में राजस्व पुस्तक परिपत्र खण्ड-6 क्रमांक 4 में संशोधन कर दिया गया है।
आदेश अनुसार कम मूल्य की फसल की क्षति होने पर अनुदान सहायता उस मूल्य के बराबर देय होगी। एक कृषक को सभी फसलों के मामलों में देय राशि 5 हजार रुपए से कम नहीं होगी। पहले यह राशि 2 हजार रुपए थी। इसी तरह फसल हानि के लिये अथवा फलदार पेड़, उन पर लगे संतरा, नीबू, पपीता, केला, अंगूर, अनार आदि की फसलों और पान बरेजा आदि की हानि होने पर किसी भी खातेदार को आर्थिक अनुदान सहायता अधिकतम एक लाख 20 हजार रुपए तक दी जा सकेगी। पहले अनुदान सहायता की अधिकतम सीमा 60 हजार रुपए थी।

विवाह में उम्र की जांच के लिए शासकीय दस्तावेजों को ही किया जाएगा मान्य

सिवनी. बाल विवाह रोकने के लिए बाल विवाह प्रतिषेध अधिनियम 2006 के तहत लाडो अभियान चलाया जा रहा है। जिला महिला सशक्तिकरण अधिकारी अभिजीत पचौरी ने बताया कि बाल विवाह रोकने के लिए बालक-बालिका की उम्र से संबंधित दस्तावेज के रूप में स्कूल में प्रवेश के दौरान प्रस्तुत दस्तावेज, स्कूल की अंकसूची, स्कॉलर पंजी, जन्म प्रमाण पत्र, आंगनबाड़ी केन्द्र के रिकार्ड में दर्ज जन्मतिथि, ग्राम पंचायत चौकीदार अथवा पंचायत के रिकार्ड को ही मान्य किया जाए।
इन दस्तावेजों के अभाव में सक्षम अधिकारी के लिखित अनुरोध पर ही जिसमें मेडिकल करवाने के कारण का उल्लेेख हो, मेडिकल चेकअप कराया जाकर चिकित्सा प्रमाण पत्र मान्य होगा। अधिनियम के प्रावधानों के अनुसार विवाह के लिए बालक की न्यूनतम आयु 21 वर्ष एवं बालिका की न्यूनतम आयु 18 वर्ष निर्धारित की गई है।

ब्राम्हण समाज का सदस्यता अभियान 30 तक
सिवनी. जिला ब्राम्हण समाज द्वारा भगवान परशुराम जयंती समारोह की तैयारी को लेकर बैठक आयोजित की गई। आयोजन मेें सामाजिक जनों के बीच कार्य विभाजन कर प्रभार सौंपा गया। प्रवक्ता मनोज मर्दन त्रिवेदी द्वारा बताया गया कि ब्राम्हण समाज अध्यक्ष पंडित महेश प्रसाद तिवारी की अध्यक्षता में विचार विमर्श कर 18 अप्रैल को आयोजित होने वाली जयंती की रूपरेखा बनाई गई। इस अवसर पर यज्ञोपवित संस्कार, वाहन रैली, धर्म सभा एवं प्रतिभावान छात्र छात्राओं का सम्मान किया जाएगा।
आयोजन की सुचारू व्यवस्था हेतु विभिन्न समितियों का गठन कर कार्यभार सौंपा गया है ।कार्यक्रम प्रचार प्रसार समिति में पंडित मनोज मर्दन त्रिवेदी, पंडित प्रमोद शर्मा प्रखर ,कपिल पांडे ,श्रीमती रजनी शर्मा का समावेश है । स्वागत समिति में पंडित अशोक तिवारी ,पंडित व्ही के उपाध्याय ,श्रीमती शकुंतला तिवारी, श्रीमती सरला उपाध्याय को दायित्व सौंपा गया है। क्रय समिति में पंडित भुवनेश्वर शुक्ला पंडित अशोक तिवारी ।वाहन रैली शोभा यात्रा की व्यवस्था हेतु संयोजक पंडित अजय मिश्रा एवं डॉक्टर संदीप उपाध्याय को प्रभारी बनाया गया है ।पेयजल व्यवस्था समिति में पंडित पप्पू तिवारी, पंडित अभिषेक दुबे ,पंडित पिंकी त्रिवेदी एवं हिमांशु तिवारी का समावेश है। कार्यक्रम की साज-सज्जा झंडा बैनर पोस्टर हेतु परशुराम वाहिनी अध्यक्ष चंकी पांडे, सूर्यकांत चतुर्वेदी, अंशुल अवस्थी, शार्दुल पांडे, अर्पित त्रिपाठी और रोहित दीक्षित, आशीष पांडे को दायित्व सौंपा गया है। भोजन प्रसादी व्यवस्था समिति में महिला शाखा अध्यक्ष गीता अवस्थी, अरविंद दुबे, प्रतिभा तिवारी, शीला तिवारी, सुनीति उपाध्याय, ज्योति भार्गव का समावेश है।
जिला ब्राह्मण समाज महासचिव पंडित ओमप्रकाश तिवारी द्वारा जानकारी दी गई कि सामाजिक संगठन का सदस्यता अभियान प्रारंभ है। बैठक में पंडित टीआर दुबे, आरके तिवारी, जुगल किशोर शर्मा, विपिन शर्मा, कपिल पांडे, अंशुल अवस्थी, अभिषेक शुक्ला, सुनील तिवारी, राजेंद्र दुबे, पवन तिवारी, गोपाल तिवारी, नंद कुमार उपाध्याय, राजेंद्र दुबे, विनोद मिश्रा, राजेंद्र कुमार शर्मा , संतोष अवस्थी, व्यास नारायण शर्मा, श्रीमती संगीता तिवारी, श्रीमती माया दुबे, मंजू लता दुबे, शैल दुबे, राजीव मिश्रा, पीपी तिवारी, सुरेश दुबे, श्रद्धा पांडे, प्रमोद झा, प्रदीप तिवारी, संतोष कुमार उपाध्याय, शिवकुमार तिवारी, अनिल कुमार शुक्ला, वीरेंद्र मिश्रा व अन्य सदस्यों ने आयोजन की चर्चा में महत्वपूर्ण सुझाव रखा। वहीं बताया गया कि जिला ब्राम्हण समाज की समीक्षा बैठक आगामी 8 अप्रैल दिन रविवार को परशुराम नगर डूंडा सिवनी में अपराहन 4 बजे आहूत की गई है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned