सृष्टि संचालन में अग्रणी रही हैं मातृशक्तियां

सृष्टि संचालन में अग्रणी रही हैं मातृशक्तियां

Sunil Vandewar | Updated: 13 Apr 2018, 11:55:01 AM (IST) Seoni, Madhya Pradesh, India

देवी पुराण कथा में दुर्गेश शास्त्री ने बताया नारी का महत्व

सिवनी. मनोरथ साधिनी जन कल्याण सेवा संस्था के अध्यक्ष पंडित दुर्गेश शास्त्री द्वारा ग्राम एनएच सेवन के ग्राम धूमा के समीप पौंड़ी में श्रीमद् देवी भागवत महापुराण की संगीतमय कथा का वाचन किया जा रहा है।
शुक्रवार को कथा विस्तार में कौरव पांडव की वंशावली में नारी शक्ति का उल्लेेख करते हुए बताया कि पुरुष प्रधान समाज में नारी ने भी अपनी-अपनी देवीय शक्तियों के बल पर समान रूप से सृष्टि संचालन में अहम और अग्रज भूमिका निभाई है। उन्होंने बताया कि सत्यवती, कुंती, द्रोपदी, सुभद्रा आदि मातृशक्तियों की पराक्रमता, पौरुषता, निपुणता, सम्बलता प्रधान रही है। यही प्रधानता मां भगवती जगदम्बा पराम्बा की भी रही है। जिससे अधर्म को मुक्त कराने में और धर्म को स्थापित करने में प्रत्यक्ष या परोक्ष देवी रूप-स्वरुप शामिल रहा है।
शास्त्री ने उपस्थित जनों को बताया कि अब कलियुग में भी नारी अबला नहीं है, बल्कि सबला कहलातीं हैं। आज हर क्षेत्र में गृहस्थ रहते हुए भी पुरुषों के समकक्ष पढ़-लिखकर सर्विस और रोजगार करना बढ़ रहा है। यही सुधार निरंतर होते रहना चाहिए। राजनीति, समाज नीति, खेल नीति, संस्कृति नीति में प्रवेश होते रहना चाहिए। उन्होंने हर्ष व्यक्त करते कहा कि अब तो आध्यात्मिक क्षेत्र में भी महिलाएं-बालिकायें भागीदारी निभा रहीं हैं। कहने का तात्पर्य यह है कि कन्या को अभिशाप न माना जाए, बल्कि कन्या ही तो देवी है, जिनके पांव पखारने का जिन्हें अवसर मिलता है वे पुण्य प्राप्ति के भागीदारी हो जाते हैंं।
उन्होंने कहा कि आज की हर कन्या कल की कला, संस्कृति और दो कुल की हिस्सेदारी निभाने वाली भाग्यशालिनी है। जिससे ही सृष्टि का संचालन हो रहा है।
महाराज ने कहा कि देवी पुराण की कथा में केवल आ करके बैठ जाना पर्याप्त नहीं है, बल्कि सुनकर, समझना भी जरूरी है। समझकर ही अपने जीवन में, परिवार में, समाज में, देश-प्रदेश में वह परिवर्तन हो जाना चाहिए, जिसकी चाहत में वर्तमान राह देख रहा है। इस अवसर पर बड़ी संख्या में क्षेत्रीय जनों की उपस्थिति रही। कथा पूजन के उपरांत भजन मंडल का आयोजन हुआ।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned