शहीद के परिवार से मिलने भी नहीं पहुंचे नेताजी

शहीद के परिवार से मिलने भी नहीं पहुंचे नेताजी

Sunil Vandewar | Publish: May, 10 2017 04:09:00 PM (IST) Seoni, Madhya Pradesh, India

शहीद के परिवार को ढांढस बंधाने दो पल का वक्त भी प्रदेश और देश के नेताओं, जनप्रतिनिधियों को नहीं मिला।


सिवनी. जिस जवान ने देश की सेवा करते हुए अपनी जान गंवा दी, उस जवान की शहादत को सलाम करने, शहीद के परिवार को ढांढस बंधाने दो पल का वक्त भी प्रदेश और देश के नेताओं, जनप्रतिनिधियों को नहीं मिला। हां इतना जरूर है कि दुखी परिवार से मिलने का वादा जरूर किया, लेकिन मिलने नहीं पहुंचे।
नेताजी ने नहीं निभाया वादा -
अपना जीवन देशसेवा में समर्पित कर शहीद नारायण प्रसाद सोनकर 16 वर्षीय पुत्र और 13 वर्षीय पुत्री की जबावदारी अपनी पत्नी के कांधों पर छोड़ गए हैं।  मातृशक्ति संगठन से बातचीत में परिजनों ने बताया प्रदेश के संवेदनशील जनप्रतिनिधियों ने 2 दिनों में आने का वायदा तो किया लेकिन आए नहीं, जिसका उन्हें दुख है। ज्ञात हो कि रीवा जिले के अति ग्रामीण इलाके गंगातीरा गांव में जिस जगह शहीद सोनकर का परिवार निवास करता है वह आज भी विकास की दृष्टि से अत्यन्त पिछड़ा हुआ है, इसके बावजूद इस गांव के युवा सेना में जाकर देश सेवा करना चाहते हंै।
जवान में था देश सेवा का जज्बा -
बातचीत के दौरान शहीद के परिजनों ने बताया कि शहीद नारायण सोनकर के सामने अन्य नौकरियों का विकल्प होते हुए भी उन्होंने सीआरपीएफ में जाने का फैसला कर देश की सेवा करने की ठानी थी। इसलिए अन्य विकल्प को किनारे कर उसने वर्दी पहनी और देश के नक्सल प्रभावित इलाके में शांति व्यवस्था कायम रखने में तत्परता से जुटे थे।
दूसरा बेटे को भी भेजेंगे सेना में -
मातृशक्ति संगठन की सीमा चौहान व अन्य सदस्यों ने कहा कि माँ भारती की रक्षा में अपने प्राण न्यौछावर करने वाले शहीद को मातृ शक्ति संगठन नमन करता है, साथ ही उस परिवार के हौसले को सलाम जो अपने दूसरे बेटे को भी सेना में जाने का अवसर मिलने पर देश सेवा में कोई कसर बाकी ना रहने की बात पर अडिग है। मातृ शक्ति संगठन इस परिवार के हौसले को सलाम करता है जो देश सेवा में अपना सर्वस्व लुटाने को तैयार है ऐसे वीरो की शहादत को मातृ शक्ति संगठन ने नमन किया।
मातृशक्ति ने की मुलाकात -
 खुशनसीब होते हैं वो जो वतन पर मिट जाते हंै, मर कर भी वो लोग अमर शहीद हो जाते हैं, करता हूं तुम्हें सलाम ऐ वतन पर मिट जाने वालों, तुम्हारी हर सांस के कजऱ्दार हैं हम देश वाले। इन शब्दों का भाव लिए मातृ शक्ति संगठन सिवनी की सदस्यों ने रीवा जिले के गंगातीरा गांव पहुंचकर पिछले दिनों हुए सुकमा नक्सली हमले में मध्यप्रदेश के शहीद जवान नारायण प्रसाद सोनकर को श्रद्धासुमन व श्रद्धांजलि अर्पित कर परिवारजनों से मुलाक़ात की। शहीद के परिवार को गम तो है,लेकिन वो कहते हैं ये शहादत देश की हिफाजत के लिए हुई है, उनकी इच्छा है कि इस परिवार का दूसरा बेटा भी सेना में जाकर देश की सेवा करे।


MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned