अब बिना इजाजत स्कूल से गायब नहीं रहेंगे शिक्षक

जिला शिक्षा अधिकारी ने प्राचार्यों को दिए निर्देश

By: sunil vanderwar

Published: 18 Feb 2020, 08:49 PM IST

सिवनी. परीक्षाएं जैसे-जैसे नजदीक आ रही हैं, शिक्षकों पर काम का टेंशन और आदेश के पालन की जिम्मेदारी भी बढ़ रही है। इधर स्कूलों में कोर्स पूरा हो और विद्यार्थी ज्यादा से ज्यादा समय तक पढ़ाई करें, इसके लिए जरूरी है, कि शिक्षक भी पर्याप्त समय स्कूलों में दें, इसी उद्देश्य से विभागीय अफसर शिक्षकों को बिना इजाजत, अनावश्यक स्कूल से गायब न रहने की हिदायत दे रहे हैं।
देखने में आता है कि कई बार नेतागिरी के चक्कर या फिर पर्सनल कामों के चलते अक्सर सरकारी काम का बहाना बनाकर शिक्षक स्कूलों से गायब रहते हैं। लेकिन अब इस तरह नदारद रहने वाले शिक्षक, अध्यापकों की मनमानी नहीं चलेगी। इस पर प्रशासन और जिला शिक्षा अधिकारी सख्त रवैया अपना रहे हैं।
जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय द्वारा पूर्व में ही सभी प्राचार्य और शिक्षकों को सावधान कर कहा जा चुका है कि बिना परमिशन शिक्षक, अध्यापक मुख्यालय या अन्य पर्सनल कार्यों से स्कूलों से गायब न रहें, इसकी जबावदारी जहां संकुल प्राचार्यों पर सौंप दी है, वहीं आदेश का पालन न करने पर सम्बंधित शिक्षक, अध्यापकों के साथ संकुल प्राचार्यों पर भी कार्रवाई करने की हिदायत दी गई है।
प्राचार्यों पर दी जिम्मेदारी -
जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा संकुल प्राचार्यों को कहा गया है कि स्कूल समय पर कोई भी शिक्षक, अध्यापक बिना परमिशनल स्कूल न छोड़े, क्योंकि इससे शिक्षण कार्य प्रभावित होता है। इस आदेश पर यदि लापरवाही बरती जाती है, तो सम्बंधित स्कूल प्राचार्य पर कार्रवाई की जा सकती है।
इनका कहना है-
शिक्षकों को विद्यालय में तय समय तक रहने के निर्देश हैं, जो भी लापरवाही करेंगे, उन पर नियम अनुसार कार्रवाई की जाएगी।
जीएस बघेल, डीईओ सिवनी

sunil vanderwar Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned