पुरानी पेंशन बहाली के लिए होगा आंदोलन

Sunil Vandewar | Publish: Jan, 19 2019 11:58:46 AM (IST) Seoni, Seoni, Madhya Pradesh, India

पेंशन विहीन कर्मचारी अधिकारी सौंपेंगे ज्ञापन

सिवनी. राष्ट्रीय पुरानी पेंशन बहाली संगठन के प्रदेश संयोजक श्रवण कुमार डहरवाल ने व्यवस्था पर सवाल उठाते कहा कि संघ के प्रदेश अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौहान द्वारा जानकारी दी गई कि 2004 के बाद के समस्त अधिकारी-कर्मचारियों की पेंशन शासन द्वारा बंद कर दी गई है, वह कर्मचारी किसी भी स्तर का क्यों ना हो, परंतु सांसद एवं विधायक से लेकर समस्त राजनेताओं की पुरानी पेंशन अभी चालू रखी गई है, यहां तक कि सांसद व विधायक जितनी बार विजयी होते हैं उन्हें उतनी जगह की उतनी ही बार पेंशन मिलती है, जबकि सरकारी-कर्मचारी अपने जीवन का पूरा महत्वपूर्ण समय संपूर्ण समय लगभग 30 से 35 वर्ष तक सेवा देने में लगा रहता है, उसके बाद भी उनकी पेंशन बंद कर दी गई है जो कि अनुचित है।
डहरवाल ने कहा कि यहां तक कि समस्त सांसद व विधायक को टैक्स के दायरे से भी बाहर रखा गया है जबकि 20,000 कमाने वाले भृत्य को भी टैक्स देना पड़ता है। यदि भारत का संविधान एक है एवं सभी को समानता का अधिकार है तो फिर विधायक, सांसद एवं कर्मचारियों में भेदभाव क्यों। इस भेदभाव को मिटाने एवं पुरानी पेंशन समस्त कर्मचारियों को दिलाने के लिए 20 जनवरी रविवार को कचहरी चौक सिवनी में ०4 बजे समस्त विभाग के कर्मचारी उपस्थित होकर जिले के समस्त विधायकों को ज्ञापन देकर पुरानी पेंशन बहाली की मांग करेंगे।
संघ के जिला अध्यक्ष चंद्रभान राय एवं प्रवक्ता अनिल राजपूत एवं मनीष तिवारी द्वारा सिवनी जिले के समस्त पेंशन विहीन अधिकारी कर्मचारियों को निर्धारित समय पर उपस्थित होकर ज्ञापन सौंपने के लिए कहा गया है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned