पंचायतकर्मियों ने अर्धनग्न होकर किया प्रदर्शन, हड़ताल से पंचायत के हितग्राही हो रहे परेशान

केवलारी व घंसौर में संयुक्त मोर्चा ने किया अर्धनग्न होकर प्रदर्शन

By: akhilesh thakur

Published: 30 Jul 2021, 09:51 AM IST

सिवनी. जिले के ग्राम पंचायतों के कामकज ठप है। जनपद पंचायत कार्यालयों में कोई हलचल दिखाई नहीं दे रही है। संयुक्त अधिकारी/कर्मचारी मोर्चा के तत्वावधान में अपनी विभिन्न मांगों को लेकर पंचायत कर्मचारी हड़ताल पर चले गए हैं। कलम बंद हड़ताल से ग्राम पंचायतों के हितग्राही अपने-अपने कार्यों के लिए परेशान है, लेकिन हड़ताल की वजह से उनकी कोई सुनने वाला नहीं है। केवलारी व घंसौर जनपद पंचायत कार्यालय के प्रदर्शनकारियों ने अर्धनग्न होकर प्रदर्शन किया।


केवलारी व घंसौर में संयुक्त मोर्चा ने किया अर्धनग्न होकर प्रदर्शन
केवलारी/घंसौर. मध्यप्रदेश सरकार को जगाने के लिए पिछले सात दिनों से पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग संयुक्त मोर्चा के तत्वाधान में जिले के कर्मचारी/अधिकारी हड़ताल पर हैं। लंबे समय से कर्मचारी संयुक्त मोर्चा द्वारा अपनी विभिन्न मांगों को लेकर मुख्यमंत्री को अवगत कराते आ रहे हैं, लेकिन अब तक मांगे पूरी नहीं हुई। इसको लेकर मोर्चा ने सांकेतिक तौर पर हड़ताल शुरू कर दिया है।
संयुक्त मोर्चा के हड़ताल पर चले जाने से मध्यप्रदेश सरकार की विभिन्न योजनाएं जो पंचायत के माध्यम से संचालित होती हैं तथा ग्राम पंचायत अंतर्गत होने वाले विभिन्न निर्माण कार्य तथा मजदूरों का भुगतान पूर्णत: प्रभावित हो रही हैं। लोगों के पंचायत के माध्यम से होने वाले काम बंद हैं। लोग परेशान हो रहे हैं। संयुक्त मोर्चा ब्लॉक संयोजक चंद्रभान सिंह चंदेल ने बताया कि सरकार यदि संयुक्त मोर्चा की मांगों को नहीं मानती है तो आर-पार की लड़ाई होगी।
उधर घंसौर विकासखंड पर पंचायत ग्रामीण विकास विभाग के संयुक्त मोर्चा के लगभग 17 कर्मचारी संघ द्वारा अनिश्चितकालीन कलम बंद हड़ताल जारी है। हड़ताल के १०वें दिन पंचायत ग्रामीण विकास विभाग के कर्मचारियों द्वारा अर्धनग्न होकर प्रदर्शन किया गया। उनका कहना है कि लगातार 10 दिनों से पंचायतकर्मी हड़ताल पर है। सरकार उनकी मांगों को दरकिनार कर किसी भी प्रकार का निर्णय नहीं ले पाई है। हड़ताल के कारण जनता को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। जनपद पंचायत घंसौर सीइओ मनीष जैन ने बताया कि सरकार को संयुक्त मोर्चा की सभी मांगों पर जल्द से जल्द विचार करना चाहिए ताकि जनता को हो रही परेशानियों से राहत मिल सकें।

मांगे नहीं मांगी गई तो प्रांतीय आह्वान पर होगा और बड़ा आंदोलन
प्रांतीय आह्वान पर अधिकारी/कर्मचारी संयुक्त मोर्चा द्वारा गुरुवार को सिवनी में ज्ञापन सौंपा गया। ज्ञापन में लगभग सभी कर्मचारी संगठनों के 500 से अधिक अधिकारी/कर्मचारी शामिल हुए। अधिकारी/कर्मचारी की मुख्य मांग में केंद्र के समान 28 प्रतिशत डीए, पुरानी पेंशन, काल्पनिक वेतन वृद्धि का एरियर भुगतान पदोन्नति, क्रमोन्नति सहित गृह भाड़ा आदि की मांग रखी गई। संयुक्त मोर्चा द्वारा निर्णय लिया गया है कि अगर सरकार जल्द अधिकार/कर्मचारी की न्यायोचित मांगों पर विचार नहीं करती है तो प्रांतीय आह्वान पर बड़ा आंदोलन किया जाएगा। समस्त अधिकारी/कर्मचारी हड़ताल पर चले जाएंगे।
अध्यक्ष मंडल एवं पदाधिकारी में विजय शुक्ला, महेंद्र पांडेय, अरुण सैनी, श्रवण कुमार डहरवाल, सादिक खान, सेवकराम बेलवंशी, राजेंद्र बघेल, राकेश बघेल, इंद्र कुमार सनोदिया, मनीष तिवारी सहित अनेक पदाधिकारी सहित समस्त मध्यप्रदेश शिक्षक संघ, मध्यप्रदेश राज्य कर्मचारी संघ, मध्यप्रदेश शिक्षक कांग्रेस, कर्मचारी कांग्रेस, उच्चतर माध्यमिक संघ, राज्य अध्यापक संघ, मध्यप्रदेश कर्मचारी कांग्रेस, प्रांतीय शिक्षक संघ, संविदा अध्यापक संघ, आजाद अध्यापक संघ, लिपिक वर्गीय श्रेणी कर्मचारी, लघु वेतन कर्मचारी संघ, सपाक्स, अपाक्स, लघु वेतन कर्मचारी संगठन, स्वास्थ्य विभाग, तृतीय श्रेणी कर्मचारी संगठन, राजस्व कर्मचारी संगठन, लोक निर्माण विभाग कर्मचारी संगठन, डिप्लोमा इंजीनियर कर्मचारी संगठन, आयुष कर्मचारी संगठन, महिला आंगनवाड़ी कार्यकर्ता संगठन, कर्मचारी संगठन बहुउद्देशीय कर्मचारी स्वास्थ्य कर्मचारी संघ अजाक्स संघ, राजस्व कर्मचारी संघ के प्रमुख पदाधिकारी उपस्थित हुए सभी ने जिले में संयुक्त कर्मचारी कर्मचारी, राज्य कर्मचारी संघ पुरानी पेंशन बहाली संगठन राष्ट्रीय पुरानी पेंशन बहाली संगठन, आयकर विभाग संघ, अधिकारी कर्मचारी कांग्रेस, शिक्षक कांग्रेस आदि संगठनों ने बढ़ चढ़कर भाग लिया।

akhilesh thakur Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned