परीक्षा हॉल में क्षमता से अधिक परीक्षार्थी

परीक्षा हॉल में क्षमता से अधिक परीक्षार्थी
seoni

Santosh Dubey | Publish: Apr, 23 2017 01:22:00 PM (IST) Seoni, Madhya Pradesh, India

कहीं टूटी डेक्स-बेंच, तो कहीं बैठक व्यवस्था लचर

सिवनी. इन दिनों रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय की परीक्षाएं नगर के भैरोगंज क्षेत्र स्थित शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय में संचालित हो रही हैं। चौथे व छटवें सेमेस्टर में बीए, बीएससी, बीकॉम कक्षाओं की परीक्षाओं में चार प्रायवेट कॉलेज के परीक्षार्थी भी इस बार यहीं परीक्षा दे रहे हैं। परीक्षार्थियों की अत्यधिक संख्या होने के कारण काफी अव्यवस्थाओं के बीच परीक्षा का संचालन हो रहा है।
परीक्षार्थियों ने बताया कि उत्तर पुस्तिका लिखने के लिए अधिकांश टेबिलों के फर्नीचर खराब है। फर्नीचर में छेद व दो के बीच गेप अधिक होने के कारण पेन से लिखते समय पेपर फर्नीचर के छेदों में आ जाते हैं और उत्तर पुस्तिकाएं फट रही हैं। इसके साथ ही गर्मी में पीने के लिए ठण्डा भी नहीं मिल रहा है।
नियमों की उड़ रही धज्जियां
परीक्षा कक्ष में नकल न हो इसके लिए बैठक व्यवस्था दूर-दूर बनाई जाती है। लेकिन परीक्षार्थियों की भरमार के चलते परीक्षा कक्ष में एक परीक्षार्थी के पास दूसरा परीक्षार्थी काफी निकट में बैठालकर परीक्षाएं ली जा रही है। इससे नकल की सम्भावनाओं के साथ ही होशियार छात्रों को परीक्षा देने में काफी असुविधाओं का सामना करना पड़ रहा है। ऑडिटोरियम हॉल में सबसे ज्यादा परीक्षार्थी परीक्षा दे रहे हैं। यहां रखी गई टेबिल कुर्सी जर्जर हालत में है। नियम के अनुसार एक कमरे में 20 से 25 विद्यार्थी परीक्षा दे सकते हैं, लेकिन यहां पर ऐसा नहीं हो रहा है।
पीजी कॉलेज के परीक्षार्थियों के साथ ही इस कॉलेज में डीपी चतुर्वेदी महाविद्यालय व कुरई कॉलेज, छिंदवाड़ा रोड स्थित निजी कॉलेज और ग्राम जाम स्थित एक निजी कॉलेज के छात्र परीक्षा दे रहे हैं। तीन शिफ्टों में परीक्षाएं चल रही हैं।
परीक्षार्थियों ने बताया कि सरकारी आदेश के तहत शासकीय कॉलेज को ही परीक्षा केंद्र बनाया गया है। जिले के सभी प्रायवेट कॉलेजों की परीक्षाएं पीजी कॉलेज में ली जा रही है। यहां पर डीपी चतुर्वेदी के बीएससी कक्षाओं के छात्र पीजी कॉलेज के छात्रों से अधिक हैं। वहीं दूसरी ओर अन्य कॉलेजों के विषय के छात्र भी अधिक हैं। वहीं अधिकारियों का कहना है कि अन्य कॉलेजों में नकल की संभावना बनती है तो ऐसे में शासन के आदेशों के तहत यह काम कराया जा रहा है।
1800 से ज्यादा परीक्षार्थियों की है क्षमता
कॉलेज में प्रथम शिफ्ट सुबह 7 से 10 बजे में पीजी कॉलेज व निजी कॉलेज के लगभग 1000 परीक्षार्थी, दूसरी शिफ्ट 11 बजे से दोपहर 2 बजे के बीच लगभग 650 और दोपहर 3 से शाम 6 बजे तक तीसरी शिफ्ट में लगभग 350 परीक्षार्थी परीक्षा दे रहे हैं। परीक्षा प्रभारी ने बताया कि कॉलेज में कमरों की जरा भी कमी नहीं है। यहां तो 1800 से ज्यादा परीक्षार्थी परीक्षा दे सकते हैं। कॉलेज बिल्डिंग में ऊपर 10 कमरे और नीचे 8 कमरों के साथ ही लाल बिल्डिंग, एनआरएसटी भवन, लॉ भवन और ऑडोटोरियम हॉल में भी पर्याप्त कक्ष हैं।
इनका कहना है
कॉलेज में कमरों, कुर्सियों की जरा भी कमी नहीं है। परीक्षाएं सुचारू रूप से संचालित हो रही हैं। लेबटेक्निशियन कर्मी क्लास-3 की श्रेणी में आते हैं। विवि अनुदान आयोग से वे शिक्षिकीय का दर्जा प्राप्त हैं।
एसके चिले, प्रभारी प्राचार्य, पीजी कॉलेज सिवनी।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned