पुलिस ने रोक दिया अंतिम संस्कार, पढि़ए पूरी खबर

जिला अस्पताल से गायब शव, पुलिस को मिला मोक्षधाम में

By:

Published: 25 Apr 2018, 01:00 PM IST

सिवनी. कोतवाली पुलिस की मंगलवार को उस समय होश उड़ गए, जब रात में जिसका मर्ग कायम किया। उसका शव सुबह में अस्पताल की मरचुरी में गायब मिला। कोतवाली निरीक्षक सहित पूरा अमला आनन-फानन में अस्पताल पहुंचकर शव की खोजबीन शुरू की अस्पताल प्रशासन ने बताया कि महिला के परिजन रात में शव लेकर चले गए। इस पर अस्पताल पहुंची पुलिस वहां से कटंगी मोक्षधाम पहुंची और शव को पीएम के लिए मरचुरी लेकर आई। देर शाम शव का पोस्टमार्र्टम कराकर परिजनों को सौंपा गया।
पुलिस के अनुसार नगर के दादू मोहल्ला निवासी रामफली बाई दुबे (८३) 18 अप्रैल (अक्षय तृतीया) के दिन घर के प्रथम तल पर सुबह पूजा करते समय आग से झुलस गई। परिजन उपचारार्थ जिला अस्पताल में भर्ती कराए। सोमवार की रात करीब 11 बजे रामफली की मृत्यु हो गई। डॉ. कृष्णा सरोठिया ने अग्रिम कार्रवाई के लिए पुलिस को सूचना दे दी। पुलिस ने इस मामले में मर्ग कायम कर लिया।
इस बीच परिजनों ने लिखित में कहा कि हम पीएम नहीं कराना चाहते हैं और रात में ही शव लेकर घर चले आए। मंगलवार की सुबह 11 बजे अंतिम यात्रा निकाली गई। उधर सुबह में कोतवाली पुलिस जब पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल पहुंची तो शव गायब था। इसकी सूचना संबंधित पुलिसकर्मी ने कोतवाल को दी। इस पर कोतवाल मय दलबल के साथ मौके पर पहुंच गए। शव के संबंध में जब चिकित्साधिकारियों से पूछताछ की गई तो उन लोगों ने बताया कि परिजन दबाव बनाकर शव लेकर चले गए। इस पर कोतवाल ने कहा कि यदि परिजन दबाव बनाकर शव ले गए तो इसकी सूचना रात में ही पुलिस को क्यों नहीं दिए। इस पर अस्पताल प्रशासन निरूत्तर हो गया। पुलिस ने अस्पताल से शव किसका था और उनके परिजन कौन थे? इसका पता किया और मौके पर पहुंची तब तक शव अंतिम संस्कार के लिए निकल चुका था। पुलिस ने शव यात्रा को रास्ते में रोकने का प्रयास किया, लेकिन परिजन नहीं माने। शव परिजन मोक्षधाम लेकर चले गए। शव को चिता पर रखने की तैयारी चल रही थी कि पुन: पुलिस वहां पहुंच गई और मर्ग कायम होने के बाद पोस्टमार्टम करने की बात पर अड़ गई और एम्बुलेंस से शव को मरचुरी लेकर आई। देर शाम तक पोस्टमार्टम की कार्र्रवाई होने के बाद वृद्धा का अंतिम संस्कार किया गया।
कोतवाली निरीक्षक अमित विलास दाणी ने बताया कि इस मामले में शव को देने वाले के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए अस्पताल प्रशासन को पत्र लिखा जाएगा।

परिजन लेकर चले गए शव
आग से झुलसी वृद्धा की मौत पर डॉ. कृष्णा सरोठिया ने इसकी सूचना पुलिस को दे दी थी। परिजनों ने पीएम नहीं कराने की बात कहते हुए अस्पताल से शव को घर लेकर चले गए। ऐसे मामले में पीएम होता है। पुलिस ने शव लाकर पीएम कराया।
- डॉ. आरके श्रीवास्तव, सिविल सर्जन जिला अस्पताल, सिवनी.

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned