scriptRailway management should not ignore Ghansor area, stoppage of Rewa-It | घंसौर क्षेत्र की उपेक्षा न करें रेलवे प्रबंधन, रीवा-इतवारी नागपुर एक्सप्रेस का हो ठहराव | Patrika News

घंसौर क्षेत्र की उपेक्षा न करें रेलवे प्रबंधन, रीवा-इतवारी नागपुर एक्सप्रेस का हो ठहराव

ब्राडगेज संघर्ष समिति सहित नागरिकों ने महाप्रबंधक को ज्ञापन सौंपकर की मांग

सिवनी

Published: February 21, 2022 10:21:55 am

बिनैकी. दक्षिण पूर्व मध्य रेल्वे बिलासपुर जोन के महाप्रबंधक शुक्रवार को नैनपुर रेलवे स्टेशन पहुंचे, जहां महाप्रबंधक से मिलकर जबलपुर-गोंदिया रेल मार्ग पर यात्रियों के लिए लंबी दूरी की ट्रेन चलाने की मांग की गई। ब्राडगेज संघर्ष समिति एवं स्थानीय नागरिकों के एक दल ने महाप्रबंधक से मिलकर घंसौरवासियों के हितों को लेकर आवाज उठाई तथा किसी भी हाल में घंसौर की उपेक्षा न हो इस बात का ध्यान रेलवे प्रशासन द्वारा रखा जाए।
कहा कि घंसौर तहसील मुख्यालय होने के अलावा आदिवासी बाहुल्य व पिछड़ा इलाका है, जहां ट्रेन लोगों के आवागमन का सस्ता एवं सुलभ साधन है, लेकिन रेलवे के मानचित्र में घंसौर क्षेत्र में ट्रेनों के स्टापेज को महत्व नहीं दिया जा रहा है। वर्तमान ब्राडगेज रेल लाइन यात्रियों की सुविधा के दृष्टिकोण से घंसौर की पूर्व में स्थित छोटी रेल लाइन के मुकाबले फिसड्डी साबित हो रहा है। लोगों के आवागमन को सुलभ बनाने के लिए मार्ग का अमान परिवर्तन किया गया है, लेकिन लंबे समय उपरांत इसकी सार्थकता कहीं नजर नहीं आ रही है। महाप्रबंधक से कहा कि रेलवे रीवा-इतवारी नागपुर एक्सप्रेस जिसका चिकित्सा के दृष्टिकोण के अलावा शारदा माता मैहर दर्शन हेतु घंसौरवासियों के लिए अति महत्व पूर्व ट्रेन है। इसका स्टापेज रेलवे स्टेशन घंसौर में दिया जाए। साथ ही चेन्नई का स्टापेज भी बेहद जरूरी है। आगामी समय में रेल मार्ग पर संचालित की जाने वाली समस्त ट्रेनों का स्टापेज घंसौर में देने की मांग भी उठाया गया है। ब्राडगेज संघर्ष समिति सहित अन्य संगठनों ने अलग-अलग महाप्रबंधक को घंसौर रेलवे स्टेशन में ट्रेनों के ठहराव की मांग को अपने-अपने तरीके से उठाया।
ब्राडगेज संघर्ष समिति ने नैनपुर जबकि एक स्थानीय संगठन द्वारा शिकारा में महाप्रबंधक से मुलाकात कर मांगे रखी गई, जहां उपरोक्त मांग के अलावा जबलपुर-घंसौर-नैनपुर-बालाघाट-गोंदिया तक रेल मार्ग पर चार पैसेंजर ट्रेन, एक लोकल ट्रेन जबकि पूर्व की भांति एक सतपुड़ा एक्सप्रेस संचालन की मांग रखी गई। वर्तमान में परिचलित पैसेंजर ट्रेन का समय बदलने का उल्लेख करते हुए नैनपुर स्टेशन से सुबह 7.30 बजे रवानगी एवं 8.15 बजे घंसौर पहुंचने का समय सहुलियत को देखते हुए निर्धारित किए जाने की मांग की। कहा कि नैरोगेज ट्रेन के संचालन के समय जबलपुर-गोंदिया के समय पर 10 पैसेंजर ट्रेन संचालित थी। इसके अलावा यात्री किराया पर भारी विंसगती होने का उल्लेख पत्र में किया गया है। आसपास के ग्रामीणों को घंसौर पहुंचने में लगने वाले समय के कारण ट्रेन का समय एक घंटे बढ़ाने की मांग रखी गई है। ब्राडगेज संघर्ष समिति ने 15 दिनों के भीतर मांगों के निराकरण नहीं होने की दशा में आंदोलन प्रारंभ करने की चेतावनी दी है।
घंसौर क्षेत्र की उपेक्षा न करें रेलवे प्रबंधन, रीवा-इतवारी नागपुर एक्सप्रेस का हो ठहराव
घंसौर क्षेत्र की उपेक्षा न करें रेलवे प्रबंधन, रीवा-इतवारी नागपुर एक्सप्रेस का हो ठहराव

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

द्वारकाधीश मंदिर में पूजा के साथ आज शुरू होगा BJP का मिशन गुजरात, मोदी के साथ-साथ अमित शाह भी पहुंच रहेRajasthan: एंटी करप्शन ब्यूरो की सक्रियता से टेंशन में Gehlot Govt, अब केंद्र की तरह जांच से पहले लेनी होगी अनुमतिVIP कल्चर पर पंजाब की मान सरकार का एक और वार, 424 वीआईपी को दी रही सुरक्षा व्यवस्था की खत्मओडिशा में "भ्रूण लिंग" जांच गिरोह का भंडाफोड़, 13 गिरफ्तारमां की खराब तबीयत के बावजूद बल्लेबाजों पर कहर बनकर टूटे ओबेड मैकॉय, संगकारा ने जमकर की तारीफRenault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चदिल्ली में डबल मर्डर से सनसनी! एक की चाकू से गोदकर हत्या, दूसरे को गोली मारीEncounter In Ghaziabad: बदमाशों पर कहर बनकर टूटी पुलिस, एक रात में दो इनामी अभियुक्तों को किया ढेर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.