रिटायर्ड लेफ्टिनेंट का गांव लौटने पर हुआ जोरदार सम्मान

ग्रामीणों, परिजनों ने किया तिलक, जयहिंद के लगे नारे

By: sunil vanderwar

Published: 05 Jan 2020, 11:55 AM IST

सिवनी. शरहद पर देश की सेवा में जिंदगी के ३० साल गुजारने के बाद जब एक जवान अपनी मातृभूमि पर लौटा तो गांव और क्षेत्र के लोग उसके स्वागत में उमड़ पड़े। देशभक्ति के नारों के बीच जब जवान पहुंचा तो उसका तिलक, फूल माला से स्वागत हुआ। जवान ने भी अपने अनुभव से युवाओं को भारत माता की सेवा, देश की शरहदों की रक्षा के लिए सेना में जाने की प्रेरणा दी।
मातृधाम बंघोड़ी ग्राम के निवासी स्व. काशीराम एवं माता गंगा बाई सनोडिय़ा के सुपुत्र कुंजीलाल सनोडिय़ा होनरी लेफ्टिनेंट की पोस्ट पर श्रीनगर में पदस्थ थे। उन्होंने देश सेवा में अपने जीवन काल के 30 वर्ष दिए। 31 दिसम्बर २०१९ को अपनी देश सेवा पूर्ण की और वे पद मुक्तहोने के बाद शुक्रवार को अपनी जन्मभूमि सिवनी विकासखण्ड के ग्राम बंघोड़ी पहुंचे। ग्रामीणों द्वारा स्वागत के लिए उत्साह से तैयारी की गई थी व जय हिंद, भारत माता की जय, वंदे मातरम के घोष का जोश ग्रामीणों में नजर आया।
कर्तव्यनिष्ठा से देश की सेवा कर अपने गृहग्राम लौट रहे सेवानिवृत्त जवान मातृधाम चौक पहुंचे। जहां उनका इंतजार कर रहे स्नेेही स्वजन, परिवार एवं ग्रामीण व क्षेत्रवासियों ने उनका आत्मीय स्वागत अभिनंदन गर्म जोशी के साथ किया। मातृधाम चौक से समीप के होटल तक पैदल ढोल-बाजे के साथ जुलूस के रुप में पहुंचे। जहां उनकी सुपुत्री डॉ. कीर्ति सनोडिय़ा व समाज के वरिष्ठजनों एवं पारीवारिक जनों ने स्वागत-सम्मान किया। सेना से सेवा पूरी कर लौटे लेफ्टिनेंट ने भी क्षेत्रवासियों से मिले सम्मान को अविस्मरणीय बताया और अपने क्षेत्र के अन्य युवाओं को भी देश सेवा के लिए सेना में जाने लिए प्रेरित किया।

Show More
sunil vanderwar Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned