देखिए भड़की महिलाओं ने कहा छिंदवाड़ा को मिल रहा लाभ, सिवनी जिला क्यों है वंचित

Sunil Vandewar

Publish: Feb, 06 2019 11:45:30 AM (IST)

Seoni, Seoni, Madhya Pradesh, India

सिवनी. मप्र शासन की एक योजना का लाभ छिंदवाड़ा जिले की भारिया जाति को दिए जाने और उसी योजना के लाभ से सिवनी जिले को वंचित रखे जाने से जिले में निवासरत परिवारों की महिलाओं ने मंगलवार को कलेक्ट्रेट पहुंचकर प्रदर्शन किया व मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा। प्रशासनिक अधिकारियों ने पहले तो उन्हें समझाइस व समाधान का आश्वासन देकर शांत करने का प्रयास किया, लेकिन जब महिलाएं परिसर में ही सड़क पर बैठ गईं, तो प्रशासनिक अधिकारी भी तत्काल इस पर कार्यवाही में जुट गए।
कलेक्ट्रेट पहुंची महिलाओं ने बताया कि वे सभी भारिया जनजाति की हैं और विगत कई वर्षों से सिवनी जिले में निवासरत हैं। बताया कि भारिया जनजाति को विशेष पिछड़ी जनजाति मानते हुए शासन द्वारा भारिया जनजाति की परिवार की मुखिया महिला को पोषण आहार अनुदान राशि जो कि प्रतिमाह एक हजार रुपए प्रदान की जा रही है।
महिलाओं ने कहा कि इस योजना का लाभ पड़ोसी जिला छिंदवाड़ा में निवासरत भारिया जनजाति के लोगों को मिल रहा है। जबकि सिवनी जिले में निवासरत इस जनजाति की महिला मुखिया को नहीं दिया जा रहा है। इसलिए इस जिले को भी पोषण आहार अनुदान योजना से जोड़ते हुए भारिया जनजाति की महिला मुखियाओं को प्रतिमाह राशि एक हजार प्रदान करने के लिए निर्देशित करने को कहा है। मौके पर तहसीलदार प्रभात मिश्रा, नायब तहसीलदार, आदिवासी विकास विभाग के सहायक आयुक्त सतेन्द्र मरकाम व पुलिस बल की मौजूदगी रही।
प्रमुख सचिव को कलक्टर ने लिखा पत्र -
भारिया समाज की महिलाओं द्वारा की जा रही मांग पर कलक्टर प्रवीण सिंह अढ़ायच द्वारा बताया गया कि उनके द्वारा मप्र शासन के जनजाति कार्य विभाग के प्रमुख सचिव एसएन मिश्रा के नाम पत्र लिखकर सिवनी जिले को योजना से जोड़े जाने का आग्रह किया गया है। उन्होंने प्रमुख सचिव को अवगत कराते हुए लेख किया है कि पोषण आहार अनुदान योजना अंतर्गत विशेष पिछड़ी जनजाति को कुपोषण से मुक्ति के लिए सहरिया, बैगा एवं भारिया परिवारों की महिला मुखिया को प्रतिमाह ०१ हजार उनके बैंक खातों में दिए जाने की योजना दिसम्बर २०१७ से प्रारंभ की गई है। इस योजना में सिवनी जिले का नाम सम्मिलित नहीं किया गया है। मध्यप्रदेश राजपत्र (असाधारण) प्राधिकरण से प्रकाशित क्रमांक २९९, भोपाल दिनांक ३१ मई २०१८ में उल्लेखित नियम ४-ख, आदिम जनजातियों के लिए विशेष उपबंध में सिवनी जिले की भारिया जनजाति को प्रविष्ट किया गया है। जिले में निवासरत भारिया विशेष पिछड़ी जनजाति के प्रतिनिधियों और लोगों द्वारा इस योजना में सम्मिलित कराए जाने की मांग निरंतर की जा रही है। कलक्टर ने शासन को पत्र के माध्यम से आग्रह कर कहा कि पोषण आहार अनुदान योजना अंतर्गत पात्र परिवारों की महिला मुखिया को उक्त योजना का लाभ दिए जाने के लिए सिवनी जिले का नाम योजना में सम्मिलित किया जाए।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned