सिवनी, मंडला लोकसभा की जीत का इन्हें जाता है श्रेय

भाजपा जिला अध्यक्ष ने कहा मोदी की नीति, शाह की रणनीति, कार्यकर्ता की मेहनत हुई सफल

By: sunil vanderwar

Published: 25 May 2019, 01:00 PM IST

सिवनी. परीसीमन के बाद सिवनी जिला दो लोकसभा सीट सिवनी व मंडला में बंटा हुआ है। इन दोनों सीट पर भाजपा प्रत्याशी विजयी हुए हैं, अब दोनों प्रत्याशियों की जीत के बाद सिवनी के भाजपा जिला अध्यक्ष प्रेम तिवारी ने इनकी जीत का श्रेय नरेन्द्र मोदी को देकर एक नई चर्चा को छेड़ दिया है। गौरतलब है कि जिले में इन दोनों प्रत्याशियों को लेकर पार्टी के भीतर भी विरोध के स्वर उठते रहे हैं। पूर्व में बालाघाट के सांसद रहे बोधसिंह भगत ने तो पार्टी से इस्तीफा तक देकर चुनाव लड़ डाला। हालांकि वे असफल ही रहे।
सिवनी के भाजपा जिला अध्यक्ष प्रेम तिवारी ने कहा कि जिले से जुड़े दोनों ही संसदीय क्षेत्रों में भाजपा सांसद प्रत्याशियों की विजय जिले में विकास के नए द्वार खोलेगी। इसके साथ ही प्रदेश एवं देश में हमें ऐतिहासिक सफलता मिली है। इसका श्रेय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नीतियों एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की रणनीति, चुनाव में लगे समस्त कार्यकर्ताओं एवं विशेषकर बूथ कार्यकर्ताओं की मेहनत को जाता है। यह बात भाजपा जिलाध्यक्ष प्रेम तिवारी द्वारा विज्ञप्ति में कही गई।
उन्होंने विजय के इस अवसर पर नवनिर्वाचित सिवनी-मंडला सांसद फग्गन सिंह कुलस्ते एवं सिवनी-बालाघाट सांसद डॉ. ढालसिंह बिसेन की विजय पर कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के प्रत्येक घर और जनता के हृदय में अलग स्थान बनाया है। जबकि कांग्रेस की सरकार ने अपने पांच महीनों के कार्यकाल में प्रदेश का बंटाढार कर दिया है। कर्जमाफी सहित एक भी वादा पूरा नहीं किया, जनहित की योजनाएं बंद कर दीं और विकास कार्य ठप कर दिए।
नवनिर्वाचित सांसद बिसेन दिल्ली रवाना
सिवनी-बालाघाट लोकसभा के नव निर्वाचित सांसद डॉ. ढाल सिंह बिसेन शुक्रवार को दिल्ली के लिए रवाना हो गए हैं जहां वे एकल राष्ट्रीय नेतृत्व द्वारा आहूत भाजपा संसदीय दल की बैठक में शामिल होंगे। यह बैठक भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व द्वारा 25 मई को दिल्ली में आयोजित की गई है।
जीतने के बाद बुआ के निवास पर पहुंचे सांसद बिसेन
नवनिर्वाचित सांसद डॉ. ढाल सिंह बिसेन शुक्रवार को स्वर्गीय विमला वर्मा बुआ के निवास पर पहुंचे, जहां उन्होंने उनके शोक संतप्त परिजनों से भेंट कर अपनी संवेदनाएं व्यक्त की। डॉ. बिसेन द्वारा इस अवसर पर स्वर्गीय वर्मा के व्यक्तित्व एवं कृतित्व का पुण्य स्मरण करते हुए श्रद्धा सुमन अर्पित किए गए। साथ ही ईश्वर से उनकी आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की गई। बताया गया है कि स्वर्गीय विमला वर्मा के निधन के दौरान डॉ बिसेन जिले से बाहर थे, इस वजह से वे उनके अंतिम संस्कार में शामिल नहीं हो पाए थे।

bjp leader Congress
Show More
sunil vanderwar Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned