शारदा मंदिर के जवारे में उमड़ा श्रद्धालुओं का सैलाब

Santosh Dubey

Publish: Apr, 17 2019 11:39:34 AM (IST)

Seoni, Seoni, Madhya Pradesh, India

सिवनी. जिला मुख्यालय में जहां विभिन्न मंदिरों में स्थापित की गई जवारों का बाजे-गाजे के साथ विसर्जन किया गया वहीं सभी विकासखण्डों में भी जवारे विसर्जन का कार्यक्रम विधि-विधान से किया गया।
नगर में चैत्र नवरात्र समाप्ति उपरांत जवारे एवं मूर्ति विसर्जन का सिलसिला शुरू हो गया है। इसी कड़ी में स्थानीय सार्वजनिक शारदा माता मंदिर में जवारे एवं मनोकामना ज्योति कलश की स्थापना की गई। जिसमें प्रतिवर्ष श्रद्धालुओं के द्वारा अपने-अपने नाम से ज्योति कलश की स्थापना पुरोहित द्वारा कराई जाती है जिसका दिन रविवार को हवन पूजन का कार्यक्रम रखा गया एवं सोमवार की शाम पांच बजे से जवारे एवं मूर्ति विसर्जन शोभायात्रा निकाली गई।
शोभायात्रा में भिन्न-भिन्न प्रकार की झांकियां एवं संगीत ने भक्तों का मनमोह लिया। साथ ही शेरावाली की जयकारे के साथ छोटे-छोटे बच्चों के द्वारा मुंह एवं जीभ पर माता का खडग एवं बाना धारण किया गया और लोहे की कीलों से बने बोर्ड पर नंगे पैर चलकर सभी को हैरत में डाल दिया। महिलाओं ने भी शोभायात्रा में बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया और भाव विभोर हुई। जलसे में हनुमान महाराज एवं भगवान शंकर की मनमोहक चलित झांकियां जन आकर्षण का केंद्र बनी। सैकड़ों की तादात में भक्तजनों ने जुलूस में शामिल होकर धर्म लाभ उठाया। शोभायात्रा नगर के प्रमुख मार्गों से होता हुआ खैरमाई मंदिर में पहुंचा जहां पर माता के भक्तों के द्वारा मैया शेरावाली की पूजा अर्चना की गई।
तत्पश्चात शोभायात्रा स्थानीय काली माता के स्थान में पहुंचा उसके बाद नगर के एकमात्र तालाब में पहुंचा जहां पर रात्रि आठ बजे के लगभग जवारे एवं मूर्ति विसर्जन किए गए। शोभायात्रा में पुलिस प्रशासन की चौकस व्यवस्था तगड़ी रही।

 

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned