कठुआ की घटना पर सिवनी में आक्रोश

कठुआ की घटना पर सिवनी में आक्रोश

Sunil Vandewar | Publish: Apr, 18 2018 03:19:01 PM (IST) Seoni, Madhya Pradesh, India

एआइएमआइएम ने रैली निकाल सौंपा ज्ञापन

सिवनी. जम्मू संभाग के कठुआ में पिछले दिनों ८ साल की बच्ची के साथ हुए सामूहिक दुष्कर्म और फिर जघन्य हत्या से हरकोई आहत है। इस घटना में शामिल आरोपियों को फांसी दिए जाने व उत्तरप्रदेश के उन्नाव जिले में हुए सामूहिक दुष्कर्म के आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर एआइएमआइएम संगठन ने मंगलवार को बैनर, तख्ती, झंडे, लेकर दुष्कर्मियों को फांसी दो के नारे लगाते कलेक्ट्रेट पहुंच ज्ञापन सौंपा है।
एआइएमआइएम के एमपी यूनिट इंचार्ज डॉ. नईम अंसारी एवं जिला यूनिट इंचार्ज नौशाद इलाही के हस्ताक्षरित राष्ट्रपति के नाम एसडीएम सिवनी को सौंपे गए ज्ञापन में कहा गया है कि जम्मू संभाग के कठुआ जिले के हिरा नगर के रसाना गांव की ८ वर्षीय बालिका के साथ सामूहिक दुष्कर्म व जघन्य हत्या के आरोपियों को बचाने का प्रयास किया जा रहा है। आरोप लगाया कि कुछ लोग आरोपियों का समर्थन कर रहे हैं। ऐसे आरोपियों के समर्थन करने वालों के विरुद्ध देशद्रोह का मुकदमा दर्ज होना चाहिए। ताकि आम जनता में कानून के प्रति विश्वास मजबूत हो सके और अपराधियों में भय बना रहे।
मानदेय न बढ़ाया तो बंद कर देंगे मध्यान्ह भोजन
स्कूलों में मध्यान्ह भोजन बनाने वाली स्व-सहायता समूह की महिलाओं ने भारत सरकार को चेतावनी दी है कि रसोइयों का मानदेय नहीं बढ़ाया तो वह मध्यान्ह भोजन बनाना बंद कर देंगे। मध्यान्ह भोजन कर्मी एकता यूनियन मध्यप्रदेश, सेंट्रल ऑफ इंडियन ट्रेड यूनियन सीटू एवं अखिल भारतीय मिड डे मील वर्कर्स फेडरेशन से संबंधित संस्था के बैनर तले तीरथ गजभिए के नेतृत्व में भारतीय रसोईया महिला स्व सहायता संघ की महिलाएं बस स्टैंड बरघाट स्थित डॉ अंबेडकर व बौद्ध प्रतिमा के समीप एकत्र हुई और रैली निकाली। बरघाट थाना प्रभारी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम का ज्ञापन सौंपा। रसोइयों की मांग है कि 1 हजार से मानदेय बढ़ाकर 4500 रुपए प्रतिमाह किया जाए, महंगाई को देखते हुए प्रति विद्यार्थी का खर्च बढ़ाया जाए।
मध्यान्ह भोजन में कार्यरत महिलाओं को नि:शुल्क फायर बीमा, हर माह वेतन एवं वर्ष में 2 जोड़ी ड्रेस दी जाए। 3 वर्ष से पूर्व मध्यान्ह भोजन में कार्यरत समूह की महिलाओं को स्थाई किया जाए। इसमें भोजन बनाने की राशि, रसोईया का मानदेय, कलेक्टर रेट या रोजगार गारंटी के मान से प्रतिमाह 5 हजार रुपए दिया जाए। रसोईया का दुर्घटनात्मक बीमा शासन द्वारा व्यवस्था अतिशीघ्र प्रदान कराई जाए। भोजन की राशि व खाद्यान में जो भारी कटोत्री किया गया जो अभी 30 से 35 प्रतिशत है उसे 100 प्रतिशत किया जाए। भोजन बनाकर देने की राशि की दर जो कि कम है उसको बढ़ाया जाए। प्रायमरी प्रति छात्र 8 रुपए, मिडिल 10 रुपए प्रति छात्र करने, छात्र प्रायमरी जो कि 100 ग्राम है उसे 150 ग्राम और मिडिल 150 ग्राम से 200 ग्राम किया जाए सहित अन्य मांग शामिल है। महिलाओं का कहना है कि इतने कम मानदेय में जीवन यापन करना मुश्किल हो गया है। महिलाओं ने कहा कि उनकी मांग नहीं मानी तो वे मध्यान्ह भोजन का काम बंद कर देंगे।
राष्ट्रीय सेवा योजना जागरूकता शिविर

सिवनी. डीपीसी महाविद्यालय के छात्र-छात्राओं का राष्ट्रीय सेवा योजना जागरूकता शिविर का आयोजन 19 से 26 अपै्रल तक ग्राम डोरलीछतरपुर में किया जा रहा है। इसमें स्वच्छता मिशन, जल संरक्षण, बेटी बचाओ, भू्रण हत्या न करने, पर्यावरण प्रदूषण, ग्लोबल वार्मिग, साक्षरता आदि विषयों पर जनजागरूकता का प्रसार किया जाएगा।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned