महामारी से लड़ रहे इंसानों पर आसमान से बरसी आफत

आंधी, बारिश के बीच हुई ओलावृष्टि, आसमानी बिजली से दो की मौत, भीगा हजारों क्विंटल गेहूं

By: sunil vanderwar

Published: 09 May 2021, 10:54 PM IST

सिवनी. महामारी से लड़ रहे इंसानों पर अब आसमान से आफत बरस रही है। भरी गर्मी में भी आंधी, बारिश के साथ ओलावृष्टि हो रही है। आसमानी गाज गिरने से इंसान और मवेशियों की जान जा रही हैं। शनिवार को कहर बरपाने के बाद कुदरत ने रविवार को और भी विकराल रूप लेकर जिले भर में आंधी, बारिश और कहीं-कहीं ओलावृष्टि हुई। मौसम की बेरूखी के बीच आंधी-बारिश का दौर देर रात तक जारी रहा। कई जगहों पर विद्युत तार टूटने के कारण विद्युत प्रवाह घंटों वाधित रहा।
सिवनी शहरी क्षेत्र में रविवार को शाम ०७ बजे तेज हवा, गरज-चमक के साथ बारिश के दौरान ही ओलावृष्टि हुई। इधर जिले भर में कई जगह आंधी-बारिश के कारण पेड़ गिर गए, मकानों के छप्पर उड़ गए। दो दिन की बारिश और आंधी, ओलावृष्टि के कारण सबसे अधिक नुकसान किसानों को उठाना पड़ रहा है। जिले के साइलो प्लांट सरगापुर व पांजरा के अलावा बोथिया, छींदा, कुड़ारी, ङ्क्षतदुआ, खापाबाजार, सुनवारा, बोरिया, उगली व कई अन्य खरीदी केन्द्र में गेहूं भीगता रहा। खरीदी केन्द्रों में इंतजाम नाकाफी थे। तेज बारिश में गेहूं के ढके त्रिपाल तक उड़ गए, वहीं किसानों के कई ढेर ऐसे भी थे, जिनको ढकने तक के इंतजाम केन्द्र में नहीं थे। ऐसे में तेज बारिश के साथ किसानों का गेहूं मिट्टी में मिलकर बह गया। साइलो केन्द्र पांजरा के किसानों ने बताया कि मैसेज मिलने के बाद ट्राली में गेहूं लेकर केन्द्र में कई दिन पहले आए हैं, लेकिन बारदाना खत्म हो जाने के कारण खरीदी नहीं की गई। अब बारिश में गेहूं भीग गया, मिट्टी के साथ बह गया, इससे नुकसानी हुई है। वहीं खरीदी केन्द्र में ही गेहूं सुखाने के लिए फैलाने के इंतजाम करने पड़ रहे हैं। किसानों में हताशा व इंतजाम पर्याप्त न होने से प्रशासन व व्यवस्था के प्रति खासी नाराजगी है।
ज्यादातर खरीदी केंद्र में किसानो से गेहूं खरीदकर रखने और उसे सुखाने की कोई व्यवस्था नहीं की गई। खरीदी केंद्र प्रांगण में सैकड़ों क्विंटल गेहूं रखी हुई है। शनिवार-रविवार को अचानक मौसम में बदलाव आया और तेज बारिश शुरू हो गई और देखते ही देखते प्रांगण में रखी सैकड़ों क्विंटल गेहूं भीग गई वहीं कुछ गेहूं बहने भी लगी जिसकी तरफ केन्द्र के कर्मियों ने कोई ध्यान नहीं दिया।
आसमानी बिजली से दो मृत, 4 घायल -
बीते 2 दिनों से मौसम में हुए बदलाव व गरज-चमक के साथ हो रही बारिश से जनजीवन प्रभावित है। रविवार को विकासखण्ड छपारा के बिहिरिया गांव में आकाशीय बिजली गिरने से एक व्यक्ति की मौत हो गई, जबकि दो अन्य घायल है। सूचना पर पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच में ले लिया है। जानकारी के मुताबिक दोपहर करीब 2 बजे शेख अख्तर (44) अपने बेटे यासीन (18) के साथ घर की बाड़ी में सफाई का काम कर रहे थे। इसी दौरान वहां अचानक तेज गर्जना के साथ आकाशीय बिजली गिरने से अख्तर की मौके पर ही मौत हो गई। उनका बेटा यासीन व हसीना (38) घायल हो गई। मौके पर छपारा 108 के इएमटी प्रतुल श्रीवास्तव और पायलट राजा डेहरिया ने पहुंचकर प्राथमिक उपचार करते हुए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र छपारा में भर्ती कराया। इससे पूर्व विकासखंड केवलारी मुख्यालय से सिवनी रोड पर ग्राम हरवंशपुरी निवासी श्याम कुमार के पुत्र हिमांशु (18) दोपहर के लगभग तीन बजे चरने गई अपनी गाय को बांधकर अंदर जा ही रहा था कि जोरदार गर्जना के साथ गिरी आसमानी बिजली की चपेट में आकर हिमांशु बुरी तरह झुलस गया और उसकी मौत हो गई। उसके परिवारजन व पड़ोसी तत्काल केवलारी सिविल हॉस्पिटल ले गए जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। इसके अलावा घंसौर थाना अंतर्गत पटरी गांव में एक मकान के किनारे स्कूल परिसर के पेड़ मे बिजली गिरने स दो व्यक्ति घायल हो गए। जिन्हें 108 की मदद से घंसौर अस्पताल पहुंचाया गया है।

Show More
sunil vanderwar Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned