केन्द्र और राज्य के बीच लटक रहा अटल टिंकिरंग लैब

केन्द्र और राज्य के बीच लटक रहा अटल टिंकिरंग लैब

Sunil Vandewar | Publish: Jun, 05 2019 11:18:08 AM (IST) Seoni, Seoni, Madhya Pradesh, India

राशि मिली फिर भी अधर में अटल टिंकरिंग लैब

सिवनी. भारत सरकार ने जिले के चिन्हित स्कूलों में अटल टिंकरिंग लैब खोलने का ऐलान किया था। लैब के लिए करीब १२ लाख की राशि भी जारी हुई, लेकिन महीनों बात भी न तो प्राचार्य और न प्रभारी यह बता पा रहे हैं, कि अटल टिंकरिंग लैब कब शुरु हो सकेगी। इस लैब के जरिए स्कूली बच्चों को नए जमाने की तकनीक से आधुनिक उपकरण बनाने की ट्रेनिंग दी जानी है।
जानकारी के मुताबिक अटल टिंकरिंग लैब के जरिए स्कूली बच्चों में वैज्ञानिक सोच विकसित करने में मदद मिलेगी। 21वीं शताब्दी में तकनीक का बड़ा महत्व है। जिले में सर्वप्रथम दो शासकीय स्कूलों में लैब शुरु करने का ऐलान हुआ था, जिनमें नेताजी सुभाषचंद्र बोस शासकीय उच्चातर माध्यमिक विद्यालय सिवनी एवं शासकीय हायर सेकेण्डरी स्कूल अरी के नाम रहे हैं। हालांकि इन स्कूलों में भी करीब डेढ़ वर्ष में लैब की शुरुआत नहीं हो सकी है।
तकनीकी शिक्षा के जानकार कहते हैं कि दुनिया को अगर प्रगति के रास्ते पर लाना है तो स्कूल और कॉलेज में विज्ञान और तकनीक पढ़ाई जानी चाहिए। देश में बच्चों में नई सोच पैदा करने की जरूरत है, इसी मकसद से केन्द्रीय शासन ने अटल टिंकरिंग लैब योजना की शुरुआत की है। यह लैब योजना बच्चों में क्रिएटिविटी पैदा करेगी। इस लैब को लेकर उम्मीद की गई है कि साइंस न पढऩे वाले बच्चे भी इसमें रुचि दिखाएंगे। स्कूल में बच्चों को लैब में एक घंटा दिया जाएगा, विज्ञान और तकनीक में दिलचस्पी रखने वाले बच्चे को इस लैब में अपनी क्रिएटिविटी को आजमाने की खुली छूट होगी।
डिब्बाबंद रखी है सामग्री -
नेताजी सुभाषचंद्र बोस विद्यालय के पिछले हिस्से में प्रथम तल के पूर्व निर्मित कक्ष में अटल टिंकरिंग लैब खोले जाने की बात कही जा रही है। इसके लिए कई महीने पहले राशि आ चुकी है, जिससे हाल ही में कुछ सामग्री खरीदी भी गई है, लेकिन सामग्री प्राचार्य कक्ष में डिब्बों में ही बंद रखी है। प्राचार्य पीएन वारेश्वा कहते हैं कि लैब का कितना काम हुआ है, क्या खरीदी हुई है, यह जानकारी लैब प्रभारी विजय शुक्ला ही बता पाएंगे। इधर प्रभारी कहते हैं सामग्री खरीद ली गई है, जल्दी लैब शुरु करेंगे।
देंखेंगे क्यों हो रही है देरी -
अटल टिंकरिंग लैब केन्द्र शासन की योजना है। इससे विज्ञान के प्रति बच्चों को रूचि जागृत होगी। जिले के कुछ स्कूलों को कुछ समय पहले राशि जारी हुई है, लेकिन उनके द्वारा जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय को कोई जानकारी नहीं दी जाती है। लैब शुरु करने में देरी क्यों हो रही है, खुद जाकर वहां जानकारी ली जाएगी।
महेश गौतम एडीपीसी, आरएमएस सिवनी

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned