आंधी, बारिश, ओलावृष्टि ने आधा दर्जन गांव में बरपाया कहर

मकान, विद्युत ट्रांसफार्मर, पेड़ गिरे, सरकारी भवनों में मिला आसरा

By: sunil vanderwar

Published: 11 May 2021, 09:20 PM IST

सिवनी. गर्मी के इन दिनों में जैसे मानसून आ गया हो, ऐसे हालात बन गए हैं। बीते तीन दिनों से लगातार शाम होते-होते आंधी, बारिश का सामना कर रहे जिले के कई हिस्सों में सोमवार का दिन भी प्रकृति का कहर देखने को मिला। जिले के सिवनी, कुरई विकासखण्ड क्षेत्र के आधा दर्जन से ज्यादा गांव में भारी नुकसानी हुई है।
जिला मुख्यालय से नागपुर रोड पर बटवानी, नंदौरा, जमुनिया, गोपालगंज, आमगांव, खापा, बघराज, आमाकोला व कई और गांव में दोपहर बाद चली तेज आंधी से जगह-जगह पेड़ धराशाही हो गए। दो दर्जन से ज्यादा विद्युत खम्भे गिर गए। इसके अलावा तीन से ज्यादा ट्रांसफार्मर भी खम्भों के साथ धरती पर आ गिरे हैं। क्षेत्र में कई घंटे बिजली गुल रही। आंधी-बारिश और करीब १० मिनट तक हुई ओलावृष्टि ने कच्चे कबेलू व सीमेंट-टीन सीट वाले मकानों को भारी नुकसान पहुंचाया है। कई जगह मकान के छप्पर उखड़ गए।
सड़कों पर बिजली के गिरे तार -
एनएच सेवन पर नंदौरा से गोपालगंज के बीच करीब आधा सैकड़ा पेड़ गिर गए। वहीं कई मार्गों पर पेड़ों की चपेट में आने से विद्युत लाइन के तार टूटकर सड़कों पर आ गिरे। जिससे आवागमन भी वाधित हो गया। कई पेड़ों पर ओलावृष्टि की मार इस कदर हुई है कि पत्तों झड़ गए हैं, सिर्फ शाखाएं नजर आ रही हैं। कई मवेशी ओलावृष्टि की मार से घायल हुए हैं, तो वहीं पक्षी भी मारे गए हैं।
सरकारी भवनों में मिला आसरा -
नंदौरा, बघराज, खापा में कई मकानों की छत उखडऩे के बाद लोगों की गृहस्थी के सामान को नुकसान हुआ है। लोगों ने रात गुजारने के लिए गांव के आंगनबाड़ी भवन को आसरा बनाया है। यही स्थिति बघराज, खापा में बनी रही। आंधी, बारिश, ओलावृष्टि से नुकसान उठाने वाले ग्रामीणों ने प्रशासन से मदद की मांग की है।

sunil vanderwar Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned