स्टूडेंट ट्रैकर सीट पर रखा जाएगा रिकार्ड, पता चलेगा कितना हुआ सुधार

स्टूडेंट ट्रैकर सीट पर रखा जाएगा रिकार्ड, पता चलेगा कितना हुआ सुधार

Sunil Vandewar | Updated: 06 Aug 2018, 12:25:03 PM (IST) Seoni, Madhya Pradesh, India

दक्षता उन्नयन प्रशिक्षण का तृतीय चरण आयोजित

सिवनी. स्कूल शिक्षा में बच्चों की शैक्षणिक गुणवत्ता में सुधार लाने के लिए शिक्षा विभाग और राज्य शिक्षा केन्द्र द्वारा लगातार प्रयास किए जा रहे है एवं शिक्षकों को भी समय समय पर प्रशिक्षित किया जा रहा है ताकि शिक्षक और अच्छे तरीके से अपनी शालाओ में शैक्षणिक कार्य कर सकें। इसी कोशिश में एक कदम और बढ़ाने हुए बेस लाइन टेस्ट के बाद टीचरों को स्टूडेंट ट्रेकर सीट पर रिकार्ड रखने को कहा गया है, जिससे तय होगा, कि किस बच्चे की शिक्षा में कितना सुधार हुआ है।
बीआरसी सिवनी अरुण राय ने बताया कि राज्य शिक्षा केन्द्र के आदेशानुसार मप्र के सभी स्कूलों में जून माह में कक्षा 3 से 8 के बच्चों का हिंदी और गणित विषय का बेस लाइन टेस्ट लिया गया है और उनका स्तर निर्धारण कर उसके अनुसार दक्षता उन्नयन के लिए कक्षायें संचालित किया जाना है।
इसके लिए विकासखंड स्तर पर सभी शिक्षकों को दक्षता उन्नयन प्रशिक्षण प्रदान किया जा रहा है। जानकारी देते हुये डीआरजी जनशिक्षक गजेंद्र बघेल ने बताया कि सिवनी विकास खंड में 6 दिवसीय दक्षता उन्नयन प्रशिक्षण के तीन चरण आयोजित हो चुके हैं। प्रत्येक चरण में 100-100 शिक्षकों को प्रशिक्षण के लिए महारानी लक्ष्मी बाई कन्या विद्यालय में बुलाया गया। इन्हें भोपाल से गणित एवं हिन्दी की ट्रेनिंग लेकर आए डीआरजी संतोष सूर्यवंशी, प्रमोद तिवारी, गजेंद्र बघेल, पंकज तिवारी, रामकृष्ण दुबे, मनीष तिवारी, रवि शंकर सनोडिया, गुमान बघेल के द्वारा प्रशिक्षित किया जा रहा है।
प्रशिक्षण में विषय के साथ साथ दक्षता उन्नयन की कक्षा संचालन और स्तर अनुसार बच्चों को गतिविधि और वर्क सीट पर कार्य करने पर भी सूक्ष्मता से बताया गया है। कक्षा 1-2 के लिए दक्षता उन्नयन के लिए हिंदी, गणित और अंग्रेजी विषय तथा कक्षा 3-8 के लिए हिंदी और गणित विषय की वर्कबुक बच्चों को उपलब्ध कराई जा रही है। जिसमें बच्चे स्तर के अनुसार वर्कसीट पर कार्य करेंगे। बच्चों की दक्षता उन्नयन के लिए स्टूडेंट ट्रैकर सीट पर शिक्षक के द्वारा रिकार्ड रखा जाएगा।
दक्षता उन्नयन प्रशिक्षण को और अधिक प्रभावी बनाने के लिए जिला शिक्षा केन्द्र सिवनी से डीपीसी गोपाल बघेल के द्वारा भी लगातर निरीक्षण किया जाकर शिक्षकों को मोटिवेट किया जा रहा है, जिससे की शिक्षक एक नई ऊर्जा के साथ स्कूलों में शैक्षणिक कार्य कर सकें। शिक्षक को शिक्षा की महत्वपूर्ण कड़ी बताते हुए उन्होंने कहा कि शिक्षक ही बच्चों में दक्षताओं का उन्नयन कर सकते हैं। डाइट प्राचार्य केके पटेल और प्रशिक्षण प्रभारी डीपी विश्वकर्मा तथा विनोद मिश्रा के द्वारा भी प्रशिक्षण में उपस्थित होकर शिक्षकों से चर्चा कर उनका मार्गदर्शन किया गया।
राज्य शिक्षा केन्द्र भोपाल की ओर से ओआईसी सावित्री शर्मा के द्वारा 2 अगस्त को प्रशिक्षण स्थल का निरीक्षण किया गया और शिक्षको से चर्चा कर उनको अच्छे कार्य के लिए प्रेरित किया। सिवनी बीआरसी अरुण राय, एमएलबी की प्राचार्य ए. बांगरे, प्रशिक्षण प्रभारी मुकेश नेमा, तकनीकी सहयोग के लिए श्रवण साहू के द्वारा प्रोजेक्टर के माध्यम से प्रदर्शन किया गया।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned