बिना बस्ता आ रहे विद्यार्थी, खेल-खेल में पा रहे शिक्षा

Sunil Vandewar

Publish: Apr, 05 2019 11:37:20 AM (IST) | Updated: Apr, 05 2019 11:37:21 AM (IST)

Seoni, Seoni, Madhya Pradesh, India

सिवनी. पूरे अपै्रल महीने में स्कूली बच्चों को शिक्षक किताबों से नहीं गतिविधियों के साथ खेल-खेल में शिक्षा के प्रति प्रोत्साहित करेंगे। इसकी शुरुआत ०१ अपै्रल से हो गई है। जिले के सभी प्राथमिक, माध्यमिक शालाओं में जॉयफुल लर्निंग के प्रोजेक्ट पर काम हो रहा है। डीपीसी और बीआरसीसी कहते हैं जॉयफुल लर्निंग के चलते बच्चे भी स्कूलों में आने के लिए उत्साहित नजर आ रहे हैं। हालांकि कहीं-कहीं अब भी लापरवाही बरते जाने की शिकायतें सामने आ रही हैं।
जिला शिक्षा केन्द्र के परियोजना समन्वयक जगदीश कुमार इड़पाचे ने बताया कि स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा नवीन शिक्षण सत्र का प्रारंभ जॉयफुल लर्निंग के साथ हुआ। राज्य शिक्षा केन्द्र एवं स्कूल शिक्षा विभाग के निर्देशों के अनुसार दूसरे शैक्षणिक सत्र का आरंभ 15 जून से होगा। नया शैक्षणिक सत्र जॉयफुल लर्निंग की थीम पर विभिन्न गतिविधियों द्वारा अध्ययन अध्यापन कार्यक्रम आनंदमयी एवं भयमुक्त वातावरण में बच्चों एवं पालकों को आमंत्रित कर हुआ।
राज्य शिक्षा केन्द्र भोपाल द्वारा गणित एवं भाषा विषय पर 30-30 वीडियो क्लिप, प्रतिदिन 01-01 वीडियो दिखाकर गतिविधि करायी जा रही है। ये गतिविधि 30 अप्रैल तक निर्धारित तिथियों अनुसार की जाएगी। जिला परियोजना समन्वयक जगदीश कुमार इड़पाचे ने बताया कि बच्चे प्रतिदिन स्कूल आएं एवं पढऩे में उनकी रूचि बनी रहे इस लिए प्रतिदिन खेलकूद की गतिविधि अनिवार्यत: की जाएगी। प्रतिदिन पालकों को उनके बच्चों द्वारा की गई गतिविधि से अवगत कराया जाएगा।
स्कूल शिक्षा विभाग एवं राज्य शिक्षा केन्द्र द्वारा संयुक्त प्रयास से स्कूलों में जॉयफुल लर्निंग के लिए समय-समय पर प्रसारित दिशा-निर्देशों का पालन किये जाने के लिए समस्त विकासखंडों में कार्यरत स्टॉफ को प्रशिक्षित किया गया है। विद्यालय स्तर पर बच्चों को स्कूल के प्रति आकर्षित करने के लिए उनकी अभिरूचि अनुसार गतिविधियां कराने के लिए विभिन्न प्रकार के कार्यक्रम जैसे मॉडल, कार्टून, मिकी माऊस, कठपुतली, प्रादेशिक नृत्य इत्यादि का आयोजन होगा। बस्ते के बोझ से मुक्त पूरे माह शिक्षण व्यवस्था की जाएगी। पहले दिन बच्चों के आकर्षण के लिए विशेष बालसभा का आयोजन किया गया। बच्चों को नवीन सत्र में विभिन्न खेल जैसे चेयर रेस, फुटबॉल, लूडो, कैरम इत्यादि खिलवाए जा रहे हैं, ताकि बच्चों की स्कूल के प्रति रूचि बढ़े एवं भय दूर हो।
जॉयफुल लर्निंग की हो रही मॉनिटरिंग -
जॉयफुल लर्निंग के लिए प्रति विद्यालय ०१ हजार की राशि जारी की गई है। सभी जनशिक्षा केन्द्र स्तर पर प्रशिक्षण दिया गया है, गतिविधियां हो रही हैं। निरीक्षण किया जा रहा है, निर्देशों के प्रति जो लापरवाही बरतेंगे, उन पर कार्रवाई की जाएगी।
जगदीश कुमार इड़पाचे, डीपीसी सिवनी

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned