बोर्ड परीक्षा का रिजल्ट सुधारने हो रही ऐसी-ऐसी कोशिश...

कमजोर विद्यार्थियों के लिए लग रही स्पेशल क्लास

By: sunil vanderwar

Published: 10 Feb 2020, 04:01 AM IST

सिवनी. हायर सेकेंडरी परीक्षा जीवन में एक ऐसी परीक्षा है जो आपके आगे के जीवन के लिए दिशा तय करने का काम करती है और जो विद्यार्थी इस परीक्षा में लापरवाही बरतते हंै उन्हें असफलता मिलती है और आगे पढ़ाई में व्यवधान उत्पन्न होता है। कक्षा 10वीं की परीक्षा में जिले का परिणाम शत-प्रतिशत आए इसके लिए कलेक्टर प्रवीण सिंह, डीईओ जीएस बघेल, डीपीसी जेके इड़पाचे सतत निरीक्षण व निर्देशन, मार्गदर्शन कर रहे हैं।
डीइओ बघेल ने बताया कि जिले की 13 शालाएंं जहां पर 6 माही परीक्षा में परिणाम कम आने पर संयुक्त संचालक जबलपुर के मार्गदर्शन में एक कार्ययोजना तैयार की गई है। जिसके तहत 20 से 32 अंक प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों के परिणाम सुधारने के लिए एक अनुपम पहल की गई है। असफल विद्यार्थियों के लिए विशेष शिक्षण शिविर लगाए गए हैं। जिसमें प्रात: 8 बजे से शाम 5 बजे तक बच्चों को अध्यापन कार्य कराया जा रहा है।
अद्र्धवार्षिक परीक्षा के असफल विद्यार्थियों के शिविर में प्रात: 8:30 बजे स्वल्पाहार, 9 से 11 बजे तक गणित विषय का अध्यापन, 11 बजे से 11:15 बजे तक लघु अवकाश, 11:15 से 12:45 बजे तक अंग्रेजी विषय का अध्यापन, 45 मिनट अभ्यास तथा 20 मिनट क्विज प्रतियोगिता, 12:45 से 1:30 तक स्वल्पाहार, दोहपर 1:30 से 03 बजे तक विज्ञान विषय का अध्यापन एवं क्विज, 3 से 4:30 बजे तक सामाजिक विज्ञान का अध्यापन कार्य तथा 4:30 से 5:30 बजे तक स्वल्पाहार एवं चारों विषय पर क्विज प्रतियोगिता आयोजित की जा रही है।
एडीपीसी महेश गौतम के मार्गदर्शन में विशेष शिक्षण शिविर के लिए प्राचार्य विमल ठाकुर को प्रभारी नियुक्त किया गया है। प्रभारी ने भोमा स्थित शासकीय विद्यालय में निरीक्षण किया। जहां 28 बच्चे इस क्लास में शामिल हुए। शिक्षा प्रदान कर रहे अध्यापकों ने बताया कि इस प्रयोग से बच्चों में उत्साह देखा जा रहा है। जिन बच्चों को कम अंक मिले हैं उन बच्चों नेे दृढ़ निश्चय किया है कि हम इस बार 75 से 80 प्रतिशत अंक प्राप्त करेंगे। डीइओ बघेल ने कहा कि अद्र्धवार्षिक परीक्षा परिणाम के आधार पर गणित एवं विषय के परिणाम के आधार पर मार्गदर्शन दिया जा रहा है। इसका उद्देश्य बच्चों के गिरते परिणाम में वृद्धि करना है। उम्मीद है कि जिले का परिणाम बेहतर होगा।
केवलारी विकासखंड के मोहबर्रा में राजेश बिसेन के मार्गदर्शन में अध्यापन कार्य कराया जा रहा है। यहां कम अंक प्राप्त 49 बच्चों को मार्गदर्शन दिया जा रहा है। विद्यार्थियों ने बताया कि उन्हें गणित एवं विज्ञान में कठिनाई होती है। लेकिन इस विशेष शिक्षा शिविर से हमें काफी मदद मिल रही है। इसी तरह सरेखा हाइस्कूल में टाइम टेबिल के अनुसार सभी बच्चे नियमित आ रहे हंै। प्राचार्य संजू बिसेन ने बताया कि बच्चों को इस बार अच्छे अंक प्राप्त करने पर शाला परिवार द्वारा सम्मानित करने का निर्णय भी लिया गया है। बरघाट के ग्राम खामी में भी विशेष शिक्षण दिया जा रहा है।

Show More
sunil vanderwar Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned