बस में सफर कर रही नवविवाहिता की अचानक मौत, यात्री हतप्रभ

Santosh Dubey

Publish: Sep, 10 2018 04:33:59 PM (IST)

Seoni, Madhya Pradesh, India

सिवनी. सिवनी से कान्हीवाड़ा मार्ग पर भोमा के समीप यात्री बस में अकेली सफर कर रही एक 25 वर्षीय महिला की मौत हो गई। बस की सीट से अचानक नीचे गिर जाने वहां बैठे यात्री हतप्रभ रह गए। तत्काल बस को बीच रास्ते में रुकवाकर बस चालक व परिचालक को सूचना दी। वहीं सूचना पर तत्काल मौके पर पहुंची पुलिस ने मर्ग कायम कर विवेचना में लिया है।
मिली जानकारी के अनुसार जिला मुख्यालय सिवनी से अरी रोडवेज की बस क्रमांक सीजी 04 इ 0988 सिवनी से भोमा, कान्हीवाड़ा होते हुए मलारा के लिए रवाना हो रही थीं। रास्ते में लगभग 15 किलोमीटर दूर ग्राम भोमा के सरकारी अस्पताल के सामने जैसे ही बस पहुंची तो यात्री बस में बैठी एक महिला बस की सीट में ही गिर गई जिससे बस में सफर कर रहे यात्रियों ने तत्काल बस को रुकवाया।
कान्हीवाड़ा पुलिस घटना स्थल पहुंच गई जहां बस के परिचालक राजेंद्र राहंगडाले ने पुलिस को जानकारी दी। बताया जाता है कि उक्त महिला की शिनाख्त राजकुमारी बाई पति योदेश कुमार चक्रवर्ती (25) निवासी ग्राम बिजोरा थाना देवरी जिला सागर के रूप में की गई है। पुलिस ने आगे जानकारी देते हुए बताया की मृतक महिला रक्षाबंधन का त्यौहार मनाने अपने मायके ग्राम पिंडरई (मलारा) थाना बरघाट आई हुई थीं। त्यौहार मना कर वह अपनी बहन जो कि ग्राम आमकोला (सुकतरा) सिवनी में रहती है वहां मेहमानी के लिए गई थी। यहां से वह जब अपने मायके वापिस जा रही थी तभी बस में सफर के दौरान बीच रास्ते में उसके प्राण पखेरू उड़ गए।
पुलिस ने जांच करते हुए मृतक के मायके में सूचना दी। सूचना मिलते ही मृतक महिला का भाई शिवकुमार पिता मनाराम चक्रवती पिंडरई (मलारा) कान्हीवाड़ा पुलिस थाना पहुंचा। पुलिस ने उसके भाई से पूछताछ की तो उसने बताया कि राजकुमारी को सांस की बीमारी थी। हालांकि महिला के बैग से दवाएं भी मिली है। पुलिस ने मर्ग कायम कर शव का पंचनामा बनाकर शव पोस्टमार्टम के लिए जिला चिकित्सालय सिवनी भिजवा दिया है।
... तो बच सकती थी जान
सिवनी बस स्टैण्ड से बैठी महिला यात्री की टिकट काट रहे कंडेक्टर ने पुलिस को बताया कि जब वह टिकट काटने उक्त महिला के पास पहुंची तो महिला ने कहा कि भैया मेरी सांस भर रही है, पानी ला दो, तो मैंने अपनी बस में रखा पानी की बॉटल लेकर महिला के पास गया तो महिला पीछे वाली सीट पर लेट गई। कुछ बोली भी नहीं। जब तक बस भोमा आ गई। महिला की तबीयत खराब देख चालक ने तत्काल सवारी समेत बस को सड़क किनारे स्थित भोमा के सरकारी अस्पताल लेकर पहुंचा। लेकिन यहां पदस्थ डॉक्टर के अवकाश में रहने के कारण महिला की जांच नहीं हो सकी। वहीं अस्पताल की नर्स से लोगों ने जांच करने को कहा तो नर्स ने बस की सीट में लेटी महिला की जांच कर बताया कि महिला की मृत्यु हो गई। वहीं बस में सवार यात्रियों व ग्रामवासियों ने सम्भावना व्यक्त की कि अस्पताल में अगर डॉक्टर मौजूद होते तो शायद महिला की जान बच सकती थी।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned