खाद-बीज का नियमित निरीक्षण कर कालाबाजारी करने वालों पर करें कार्रवाई

समय सीमा की बैठक

By: akhilesh thakur

Published: 15 Jun 2021, 10:08 AM IST

सिवनी. कलेक्ट्रेट परिसर स्थित सभाकक्ष में कलेक्टर डॉ. राहुल हरिदास फटिंग की अध्यक्षता में सोमवार को समय-सीमा की बैठक हुई। इसमें कलेक्टर डॉ. फटिंग ने खरीफ बुआई के मद्देनजर जिले में उपलब्ध खाद-बीज की समीक्षा करते हुए वर्तमान आवश्यकता व आपूर्ति के संबंध में संबंधित अधिकारियों से चर्चा की तथा आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने कृषि विभाग के अधिकारियों के साथ ही सभी अनुविभागीय अधिकारियों को सतत रूप से खाद-बीज दुकानों के निरीक्षण करते हुए अमानक स्तर के बीज विक्रय करने वाले तथा कालाबाजारी करने वाले व्यक्तियों पर सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए।
उन्होंने समर्थन मूल्य में ग्रीष्मकालीन मूंग एवं उड़द के उपार्जन के लिए उत्पादक कृषकों के पंजीयन की भी समीक्षा करते हुए अधिक से अधिक प्रचार-प्रसार तथा फसल सत्यापन की गति में तीव्रता लाने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए। उन्होंने कोरोना काल में गरीब वर्गों को राहत प्रदान करने हेतु विभिन्न योजनाओं के माध्यम से किए जा रहे नि:शुल्क राशन वितरण की समीक्षा की। साथ ही पात्र परिवारों को अस्थाई पात्रता पर्ची जारी कर पात्रतानुसार राशन वितरण करने के निर्देश दिए।
कलेक्टर ने मानसून के मद्देनजर सभी सड़क निर्माण विभागों को अपनी सड़कों का निरीक्षण कर अधिक बारिश में डूब संभावित पुल-पुलियाओं में जरूरी संकेतक लगाने के साथ ही बेरीकेटिंग की व्यवस्था तथा कर्मचारियों की नियुक्ति करते हुए संबंधित अनुविभागीय अधिकारी कार्यालय राजस्व में जानकारी प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। उन्होंने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को जिले के सभी प्राथमिक एवं उप स्वास्थ्य केन्द्रों का निरीक्षण करते हुए सभी जरूरी व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने मानसून के मद्देनजर मौसमी बीमारियों की रोकथाम के लिए सभी जरूरी दवाइयां की उपलब्धता के साथ ही एंटी स्नैक वेलम दवाइयों की उपलब्धता सुनश्चित करने के निर्देश दिए।
कोरोनाकाल में प्रभावित हुए शासकीय कर्मी एवं बच्चों के लिए प्रारंभ की गई। मुख्यमंत्री कोरोना योद्धा योजना, मुख्यमंत्री विशेष अनुग्रह योजना तथा बाल कल्याण योजना की भी समीक्षा करते हुए कलेक्टर ने संबंधित नोडल अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए, वहीं सभी विभाग प्रमुखों को प्रभावित हुए कर्मचारियों के प्रकरण आर्थिक सहायता हेतु प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। उन्होंने सभी सेक्टर अधिकारियों को भी निर्देशित किया कि ऐसे बालक-बालिका जिनके माता-पिता दोनों की मृत्यु कोरोना के कारण हुई है। उसकी जानकारी महिला एवं बाल विकास विभाग को उपलब्ध कराएं ताकि संबंधित बच्चों को तत्काल सहायता उपलब्ध कराई जा सकें। अपर कलेक्टर सुश्री सुनीता खण्डायतए सभी अनुविभागीय अधिकारी एवं अन्य विभाग प्रमुखों की उपस्थिति रही।
०००००


सीएम हेल्पलाइन की शिकायत का निराकरण नहीं करना पड़ा महंगा, 68 अधिकारियों पर 89 हजार 800 रुपए का अर्थदण्ड
सिवनी. कलेक्टर डॉ. राहुल हरिदास फटिंग ने सीएम हेल्पलाइन शिकायतों को समय सीमा में निराकरण सुनिश्चित करने हेतु बिना निराकरण दर्ज किए दूसरे लेवल में जाने वाली शिकायतों पर संबंधित लेवल अधिकारी पर 100 रुपए प्रति शिकायत अर्थदण्ड आरोपित करने के आदेश जारी किए गए। इस कड़ी में कलेक्टर ने कुल 898 शिकायतों के अन्य लेबल पर जाने पर संबंधित 68 अधिकारियों पर कुल 89 हजार 800 रुपए का अर्थदण्ड आरोपित करने के आदेश जारी किए हैं।

akhilesh thakur Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned