प्रश्नों के सही उत्तर बताओ, हिन्दुस्तान का दिल घूमकर आओ

प्रश्नों के सही उत्तर बताओ, हिन्दुस्तान का दिल घूमकर आओ

Sunil Vandewar | Updated: 30 Jun 2019, 11:46:24 AM (IST) Seoni, Seoni, Madhya Pradesh, India

7 अगस्त से जिला और 5 सितम्बर को राज्य स्तरीय मप्र पर्यटन क्विज

सिवनी. मध्यप्रदेश टूरिज्म बोर्ड द्वारा 9वीं से 12वीं कक्षा तक अध्ययनरत बच्चों के लिए मध्यप्रदेश पर्यटन क्विज 2019 का आयोजन किया जा रहा है। क्विज का उद्देश्य प्रदेश के समृद्ध इतिहास, परम्पराओं, ऐतिहासिक धरोहर, सांस्कृतिक रंगों, कला, प्राकृतिक समृद्धि, महापुरूषों, पर्यटन महत्व की संभावनाओं से परिचित कराने तथा सीखने की प्रक्रिया विकसित करना है। क्विज जिले के शासकीय, अशासकीय स्कूलों में एक साथ जिला स्तर पर 7 अगस्त और राज्य स्तर पर 5 सितम्बर को होगी।
कलेक्टर, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत, पर्यटन के प्रमोशन, संवर्धन के लिए गठित डिस्ट्रिक्ट टूरिज्म प्रमोशन काउंसिल, जिला शिक्षा अधिकारी एवं शिक्षा विभाग से एक क्विज मास्टर के सहयोग और समन्वय से जिला स्तरीय क्विज होगी। पंजीयन के लिए जिला शिक्षा अधिकारी, प्राचार्य जिला स्तरीय उत्कृष्ट विद्यालय, जिला टूरिज्म प्रमोशन काउंसिल, कलेक्टर कार्यालय में 20 जुलाई तक प्रपत्र जमा करना होगा।
प्रत्येक जिले की प्रथम 3 विजेता टीम को 2 रात 3 दिन तथा 3 उप विजेता टीम को एक रात्रि दो दिन मध्यप्रदेश राज्य पर्यटन विकास निगम के होटलों में ठहरने के कूपन दिए जाएंगे। संबंधित पर्यटन स्थल तक लाना-लेजाना, भोजन, रूकना, स्थानीय भ्रमण आदि का व्यय मध्यप्रदेश पर्यटन बोर्ड वहन करेगा।
क्विज के दोनों चरण में मध्यप्रदेश के पर्यटन एवं पर्यटन से संबंधित परिक्षेत्र, कला, संवर्धन, अध्यात्म, प्राकृतिक एवं सांस्कृतिक परिवेश से संबंधित प्रश्न होंगे। प्रथम चरण में चयनित 6 टीम के बीच द्वितीय चरण में आडियो विजुअल, मल्टीमीडिया आधारित क्विज होगा। इसमें प्रथम स्थान प्राप्त प्रतिभागी विद्यालय राज्य स्तर पर सहभागिता करेंगे।
कोचिंग संस्थान सुरक्षा मानकों का कड़ाई से पालन करें
बच्चों की सुरक्षा से समझौता बर्दाश्त नहीं

सिवनी. जिले के कोचिंग संस्थानों के संचालकों को सुरक्षा के सभी जरूरी इंतजाम सुनिश्चित करने के निर्देश कलेक्टर द्वारा दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि कोचिंग संस्थानों को बच्चों की सुरक्षा को हर हालत में प्राथमिकता देनी होगी। बच्चों की सुरक्षा से समझौता किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। कलेक्टर प्रवीण सिंह ने कहा कि सुरक्षा मापदण्डों का पालन नही करने वाले कोचिंग संस्थानों पर जुर्माना लगाया जाएगा और उन्हें बंद कराने की कार्यवाही भी प्रशासन द्वारा की जाएगी।
होने चाहिए ऐसे इंतजाम -
कोचिंग संचालकों को फायर सेफ्टी के साथ-साथ बारिश के मद्देनजर भी सुरक्षा के इंतजामों पर ध्यान देना होगा। बच्चों के लिए कक्षाओं में प्रवेश एवं निर्गम के अलग-अलग द्वार की व्यवस्था करने, क्षमता से अधिक बच्चों को प्रवेश न देने, साफ सफाई के समुचित इंतजाम करने तथा विद्युत फिटिंग एवं वायरिंग की समय समय पर जांच कराने के निर्देश भी दिए गए हैं। कोचिंग संचालकों को कोचिंग क्लासेस के लिए ऐसे स्थानों या भवनों का चयन करना होगा जहां फायर ब्रिगेड आसानी से पहुंच सके। कोचिंग संस्थानों में लगे अग्निशमन यंत्रों को निरन्तर अपडेट रखने, तय समय पर रिफिल कराने और अग्निशमन यंत्रों के संचालन के लिए स्टॉफ के सभी सदस्यों को प्रशिक्षित करने के निर्देश भी दिए गए हैं। जर्जर भवनों में कोचिंग क्लासेस न लगें यह सुनिश्चित करने के निर्देश भी दिए गए हैं दिए है। समय-सीमा में तय सुरक्षा मापदण्डों के मुताबिक आवश्यक सुधार नहीं करने वाले कोचिंग संस्थानों के विरुद्ध कार्रवाई भी प्रस्तावित हो सकती है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned