इधर कांग्रेस ने गवां दिया गढ़, उधर भाजपा का ढह गया किला

इधर कांग्रेस ने गवां दिया गढ़, उधर भाजपा का ढह गया किला

Sunil Vandewar | Publish: Dec, 12 2018 01:34:02 PM (IST) Seoni, Seoni, Madhya Pradesh, India

सिवनी जिले की चार विधानसभा सीट पर आए ऐसे परिणाम

सिवनी. जिले की चारों विधानसभा के लिए करीब १४ घंटे तक चली मतगणना के बाद अंतिम परिणाम घोषित हुए। इनमें दो सीट सिवनी व केवलारी पर भाजपा का जीत हासिल की, जबकि बरघाट और लखनादौन में कांग्रेस की जीत का सहरा कांग्रेस प्रत्याशियों ने पहना।
सुबह ०८ बजे से शुरु हुई वोटों की गिनती रात १० बजे तक जारी रही। बरघाट और लखनादौन सीट पर पहले राउंड की मतगणना के रुझान से ही कांग्रेस की जीत की संभावना जाहिर की जा रही थी, जो कि अंतिम राउंड तक जारी रही। बरघाट विधानसभा से कांग्रेस प्रत्याशी अर्जुन सिंह काकोडिया ने ९००५३ वोट हासिल कर भाजपा के नरेश बरकड़े को हराया। लखनादौन से कांग्रेस प्रत्याशी योगेन्द्र सिंह बाबा ने ८२०१५ वोट पाकर भाजपा के विजय उइके को हराकर दूसरी बार भी विधायक बनने में सफलता पाई।
सिवनी और केवलारी विधानसभा सीट पर भाजपा जीत हासिल करने में सफल रही। हालांकि इन दोनों सीटों पर राउंडबार हुई मतगणना में प्रत्याशियों के मतों का चढ़ाव-उतार देखने को मिला। सिवनी सीट पर शुरुआती राउंड की मतगणना के परिणाम से कांग्रेस प्रत्याशी मोहन सिंह चंदेल जीतते नजर आ रहे थे, लेकिन भाजपा के प्रत्याशी दिनेश राय मुनमुन ने १० राउंड के बाद असर दिखाया और लगातार अपने मतों पर बढ़त बनाए रखी। इस तरह भाजपा के दिनेश राय मुनमुन ने ९९५७६ वोट पाकर कांग्रेस प्रत्याशी मोहन चंदेल को पराजित किया।
केवलारी में छिना कांग्रेस का गढ़ -
जिले की चार सीटों में कांग्रेस की अजेय माने वाले केवलारी विधानसभा के किले को भेदने में भाजपा कामयाब हो गई। यहां से भाजपा ने पार्टी के जिला अध्यक्ष राकेश पाल को प्रत्याशी बनाया था, जिन्होंने ८५८३९ वोट लेकर कांग्रेस के विधायक रहे ठाकुर रजनीश सिंह को परास्त किया है। इसी सीट के बूते पूर्व में रजनीश सिंह के पिता ठाकुर हरवंश सिंह विधायक रहते हुए प्रदेश के त्रिविभागीय मंत्री तक पहुंचे थे। इनके निधन के बाद रजनीश ने २०१३ में जीत हासिल की थी और २०१८ के चुनाव में फिर विधायक बनने की उम्मीद से विधानसभा क्षेत्र में पसीना बहाया था, लेकिन भाजपा ने जबरदस्त उलटफेर करते हुए कांग्रेस के गढ़ पर जीत हासिल की है।
बरघाट में बीजेपी का ढह गया किला -
इस चुनाव में भाजपा बरघाट विधानसभा के किले को बचाने में नाकामयाब रही। यहां कांग्रेस प्रत्याशी अर्जुन सिंह काकोडिय़ा ने जीत का निशाना साधा और भाजपा प्रत्याशी नरेश बरकड़े को परास्त करते हुए किला फतह कर लिया। माना जा रहा है कि यहां भाजपा को हार का अंदेशा पहले ही हो चुका था, पार्टी ने अपने मौजूदा विधायक कमल मर्सकोले का टिकट काटकर नामांकन के अंतिम दिन नरेश बरकड़े को बी-फार्म दिया था, जिसको लेकर क्षेत्र में खासी नाराजगी भी थी। यहां से जीत दर्ज करने वाले कांग्रेस प्रत्याशी को दूसरा मौका मिला था, जिसमें वे जीत दर्ज करने में सफल रहे, पिछले चुनाव में नजदीकी अंतर से वे भाजपा के कमल मर्सकोले से परास्त हुए थे।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned