किसानों को सरकार ने दिया भरोसा, देंगे साथ

Sunil Vandewar

Updated: 28 Jan 2019, 06:13:16 PM (IST)

Seoni, Seoni, Madhya Pradesh, India

सिवनी. कांग्रेस को मप्र की कमान ऐसे समय मिली है जब पूर्ववर्ती सरकार द्वारा अरबों, खरबों के कर्जें के बोझ से प्रदेश लदा हुआ है। इन 15 सालों में हमारा किसान कर्जदार होते रहा है। खेती घाटे का सौदा हो गई। लागत खेती में ज्यादा लगने लगी और उपजा को सही दाम नहीं मिल पाया है। इसलिए प्रदेश के मुखिया कमलनाथ ने किसानों का दर्द सबसे पहला समझा और अपने वादे के मुताबिक किसानों को कर्ज के बोझ से मुक्त कर दिया। यह बात लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री एवं जिले के प्रभारी मंत्री सुखदेव पांसे ने कृषि विज्ञान केंद्र में आयोजित कृषि विज्ञान मेला एवं फसल ऋण माफी योजना में पहुंचे किसानों से कही।
उक्त कार्यक्रम में जिला खाद बीज व्यापारी संघ ने किसानों को ईनाम देने के लिए कूपन का वितरण किया। भाग्यशाली किसानों के कूपन एक बॉक्स से प्रभारी मंत्री ने निकाले तथा किसानों को प्रथम, द्वितीय, तृतीय समेत अन्य ईनामों का वितरण भी वहां किया गया। इस मौके पर जिला खाद बीज व्यापारी संघ के अध्यक्ष दिनेश रघुवंशी, संरक्षक राधेश्याम खंडेलवाल, आशीष अग्रवाल, बसंत अग्रवाल, प्रीतम चंद्रवंशी, गोपाल सनोडिया, विभाष बघेल, अशोक तिवारी आदि मौजूद थे।
वहीं किसानों को सम्बोधित करते हुए प्रभारी मंत्री ने कहा कि पूर्व की सरकारों ने 2008 के चुनाव में घोषणा की थी कि 50 हजार कर्जा माफ किया जाएगा। लेकिन वह कर्जा माफ नहीं हुआ। लेकिन कांग्रेस की दिल्ली की सरकार में रहे देश के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने 72 हजार करोड़ का कर्जा माफ किया था। अब प्रदेश के मुखिया कमलनाथ ने सरदार वल्लभ भाई की दूसरी परछाई लौह पुरूष के रूप में चेलेंज को स्वीकार करते हुए खजाना खाली रहने के बाद भी अन्नदाता को राहत पहुंचाते हुए दो लाख का कर्जा माफ किया। उन्होंने कलेक्टर से कहा कि वे किसानों का कर्जा माफी का कार्य प्रमुखता से करें। किसी भी प्रकार की खामी न निकाले। इस कार्य में जिसकी भी लापरवाही सामने आएगी तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। कम समय में ज्यादा-ज्यादा से योजनाओं का लाभ मिले यही पहली प्राथमिकता है इस सरकार की।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned